रेलवे स्टेशन का दृश्य पर निबंध Essay on railway station in hindi

Essay on railway station in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी,आज का हमारा निबंध रेलवे स्टेशन पर निबंध बहुत ही हेल्पफुल है दोस्तों आपने कभी न कभी जरूर ही रेलवे स्टेशन के दृश्य को देखा होगा और जरूर ही रेल में सफर किया होगा हमारा आज का निबंध स्कूल के विद्यार्थियों के लिए उनकी परीक्षा में निबंध लिखने के लिए जानकारी लेने के लिए लिखा गया है.

Essay on railway station in hindi
Essay on railway station in hindi

रेलवे स्टेशन वह स्थान होता है जहां पर रेल रूकती है वास्तव में रेल हमारे लिए एक सुविधाजनक वाहन है जिसके जरिए हम एक स्थान से दूसरे स्थान तक बहुत ही आसानी से सफर कर सकते हैं रेलवे स्टेशन पर यात्री रेल की प्रतीक्षा के लिए अपना कुछ समय व्यतीत करते हैं रेलवे स्टेशन के आसपास हमें बहुत सारी टैक्सियां दिखाई देती हैं जो ग्राहकों को छोड़ने या वापस ले जाने के लिए वहां पर उपस्थित होती हैं.

बहुत से टैक्सी वाले हमें अपनी टैक्सी में ले जाने के लिए हमसे आग्रह करते हैं रेलवे स्टेशन के बहार वाहनों को रखने के लिए उचित व्यवस्था होती है कुछ लोग जो बाहर जा रहे होते हैं तो वह अपने वाहनों को वहां पर कुछ समय के लिए रख सकते हैं. रेलवे स्टेशन के बाहर का दृश्य वाकई में देखने लायक होता है बहुत से लोग रेलवे स्टेशन के अंदर प्रवेश कर रहे होते हैं तो कुछ लोग बाहर निकल रहे होते हैं.

रेलवे स्टेशन के अंदर एक टिकेट खिड़की होती है जिसके द्वारा हम टिकट ले सकते हैं वहां पर लंबी-लंबी लाइनें लगी होती है बहुत सारे पुरुष और महिलाएं उन लाइनों में लगकर टिकट खरीदते हैं लेकिन आजकल भीड़भाड़ को देखते हुए रेलवे ने इन खिड़कियों के अलावा पास में ही अलग से व्यवस्था भी कर रखी है जहां से हम और भी आसानी से टिकट ले सकते हैं लेकिन कुछ लोगों को जानकारी नहीं होती और वह लंबी लंबी लाइनों में लगकर टिकट लेते हैं जिससे उनका समय बर्बाद होता है.

किसी किसी व्यक्ति को तो टिकट समय पर नहीं मिल पाता और उसकी ट्रेन छूट दी जाती है.टिकट लेकर बहुत से यात्री गण तेजी से भागते हुए प्लेटफार्म की ओर जाते हैं कुछ लोग रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का समय भी देखते हुए नजर आते हैं फिर लोग अंदर प्रवेश करते हैं जब हम रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर पहुंचते हैं तो हम देखते हैं कि चारों और बहुत सारी भीड़ लगी होती है बहुत सारे यात्रीगण अपने सामान को साथ में लेकर स्टेशन पर बैठे हुए या खड़े रहते हैं. लोग स्टेशनों पर चाय, नाश्ता करते हुए भी देखे जाते हैं रेलवे स्टेशनों पर पानी की भी उचित व्यवस्था होती है कई जगह पानी के नल लगे हुए होते हैं गर्मी के दिनों में तो यात्रियों के लिए यह बहुत ही लाभदायक होता है.

गर्मियों के दिनों में यात्रियों के लिए ठंडे पानी की व्यवस्था के लिए भी रेलवे वालों ने उचित व्यवस्था कर रखी होती है हम देखें तो रेलवे स्टेशनों पर बहुत सारी भीड़ आती रहती हैं चाहे दिन हो चाहे रात हो वहां पर लोगों की भीड़ लगी होती है और ट्रेन भी दिन और रात में आती जाती रहती हैं जब ट्रेन सही समय पर आती है तो यात्रियों को बहुत ही खुशी का अनुभव होता है कभी-कभी ऐसा भी हो जाता है कि ट्रेन दूसरे प्लेटफॉर्म पर आती है और हमें जल्दी-जल्दी दूसरे प्लेटफॉर्म पर जाना होता है.

ज्यादातर लोग रेल के द्वारा लंबी लंबी यात्राएं करते है.स्टेशनों पर कुछ ज्यादा ही चहल-पहल होती है बच्चे,बूढ़े,नौजवान,औरतें सभी रेलवे स्टेशनों पर हमें देखने को मिलते हैं कहीं रेले तो इतनी भरी हुई होती है कि उनमे पैर तक रखने की जगह नहीं होती और कुछ रेले खाली भी रहती हैं.

रिजर्व डिब्बे में यात्री आराम कर रहे होते हैं.रेलवे स्टेशनों पर चाय वाला,समोसे वाला,अखबार वाला सभी रेल के यात्रियों को चिल्ला-चिल्लाकर अपना सामान बेच रहे होते हैं.कुछ रेलवे स्टेशनों पर गंदगी भी देखी जाती है हमें कभी भी रेलवे स्टेशन पर गंदगी नहीं फैलाना चाहिए रेलवे स्टेशनों पर शौच इत्यादि की व्यवस्था उचित होती है वास्तव में रेलवे स्टेशनों का नजारा देखने लायक होता है जब रेल का आने का समय हो जाता है तो यात्रियों को सूचित किया जाता है और यात्री अपना सामान लेकर तैयार हो जाते हैं जब रेल दूर से दिखती हुई नजर आती है तो यात्रीगण अपना सामान कंधे पर उठाकर जल्दी-जल्दी रेल के सबसे आगे रेल में चढ़ना चाहते हैं.

यात्रीगण अपने बच्चों का खास ख्याल रखते हैं वह हाथ पकड़ पकड़ कर उन्हें रेल में चढ़ाते हैं क्योंकि एक छोटी सी गलती की दुर्घटना का कारण बन सकती है कभी-कभी रेलवे स्टेशन पर तेजी से दौड़ते हुए यात्री भी देखने को मिलते हैं जो चलती हुई ट्रेन पकड़ने की कोशिश करते हैं कई बार तो इस तरह की घटनाओं की वजह से कुछ लोगों की दुर्घटना भी हो जाती है लेकिन हमें रेलवे स्टेशनों पर इस तरह की गलती करने से बचना चाहिए और समय पर स्टेशनों पर पहुंचकर ट्रेन का इंतजार करना चाहिए.जल्दी में कभी भी ट्रेन को नहीं पकड़ना चाहिए.

रेलवे स्टेशनों पर हमें बहुत सारे तरह-तरह के लोग मिलते है जिनमे हिंदू, मुस्लिम, सिख,इसाई सभी लोग यहीं पर मिलते हैं कुछ लोग कुर्ता पजामा पहने रहते हैं तो कुछ लोग पेण्ट शर्ट. तरह-तरह की लोगों की वेशभूषा हमें यहां पर देखने को मिलती है ऐसा लगता है कि पूरे भारत के एक छोटे स्वरुप के दर्शन रेलवे स्टेशनों पर ही होते हैं.

दोस्तों हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Essay on railway station in hindi कैसा लगा इसी तरह के नए-नए आर्टिकल पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और अपने दोस्तों में हमारे इस आर्टिकल को शेयर जरुर करें जिससे नई पोस्ट का अपडेट आपको मिल सके।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *