पशु प्रेम पर निबंध Essay on pashu prem in hindi

Essay on pashu prem in hindi

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया ये छोटा सा निबंध पशुओं के प्रति प्रेम की भावना दर्शाता है चलिए पढ़ते हैं आज के निबंध को
हमारे जीवन में पशु-पक्षी बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं हम देखें तो हम चारों ओर से अनेक पशुओं से घिरे होते हैं। हम जिस समाज में रहते हैं वहां हमें कुत्ता, गाय जैसे कई पशु दिखते हैं।

Essay on pashu prem in hindi
Essay on pashu prem in hindi

बहुत सारे लोग उनके प्रति अच्छा व्यवहार नहीं करते हमें पशुओं से प्रेम रखना चाहिए और उनके साथ अच्छा वर्ताव करना चाहिए। गाय जो हमारी माता होती हैं वह हमें दूध देती है हमें चाहिए कि हम उससे प्रेम रखे अगर गाय किसी कारणवश दूध नहीं देती तो हम उसे ऐसे ही ना छोड़ें उसकी देखभाल करें उसे भी अपने परिवार की तरह का एक सदस्य समझें इसके अलावा कुत्ता जो कि एक वफादार जानवर समझा जाता है उसके प्रति भी हमारे अंदर सहानुभूति होनी चाहिए।

कभी-कभी देखा जाता है कि कुत्ता अपने मालिक के प्रति वफादारी अपनाने के लिए अपनी जान तक खतरे में डाल देता है उसे हम जैसा सिखाते हैं वह वैसा करता है वास्तव में इन पशुओं का हमारे जीवन में काफी महत्वपूर्ण योगदान है हमें इनके बारे में सोचना चाहिए हमें ध्यान देना चाहिए कि आने वाले समय में ऐसा ना हो कि हम हमारे बच्चों को सिर्फ पशुओं की तस्वीर दिखाएं और पशु देखने तक को ना मिले क्योंकि बदलते जमाने के साथ इन पशु की प्रजाति दिनादिन लुप्त होती जा रही है यदि आप गांव में रहते है तो आपके घर में भी गाय,भैंस, कुत्ते आदि होते होंगे लेकिन शहर में आने के बाद लोग गाय पालना भूल जाते हैं वह गाय की सेवा नहीं कर पाते हैं.

Related-पशु पक्षी पर निबंध Pashu pakshi essay in hindi

बदलते जमाने में हो सकता है इनकी प्रजातियां धीरे-धीरे लुप्त होती चली जाएं इसलिए हमें इस ओर विशेष ध्यान देना चाहिए और समझना चाहिए यह पशु हमारे जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। कुछ लोग पशुओं को बंद करके रखते हैं और सर्कस में ले जाकर इनको बंद कर देते हैं और उनसे कई तरह के कार्य करवाते हैं आखिर इन्हें भी आजाद रहने का हक है। जब भी हम कहीं बाहर चले जाते हैं तो कुत्ता एक पहरेदार की तरह अपने मकान की देखभाल करता है।

इंसान चालाक होता है उसमें सोचने समझने की क्षमता अधिक होती है लेकिन जानवर चालाक नहीं होता वह किसी से छल कपट करना नहीं जानता वह तो अपना कर्तव्य ईमानदारी से निभाता है जैसा हम उसे सिखाते हैं वैसा वह करते हैं इसलिए हमें पशुओं से प्रेम रखना चाहिए और उन्हें भी प्रकृति का एक रुप समझकर उनपर दया दिखानी चाहिए

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Essay on pashu prem in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *