साम्प्रदायिक सद्भाव पर निबंध Essay on communal harmony in hindi

Essay on communal harmony in hindi

Essay on sampradayik sadbhavana in hindi-दोस्तों हमारे देश में कई जाति, धर्म और भाषाओं के लोग रहते हैं अलग अलग धर्मों के लोगों ने अपने-अपने ईश्वरों के अलग-अलग नाम रख लिए हैं कोई अल्लाह कहता है तो कोई भगवान। अलग-अलग संप्रदाय के लोगों में अपनी अलग-अलग प्रथा है,अलग तरह की वेशभूषा, अलग सोच है जिसके आधार पर वह अपने आपको अलग समझते हैं लेकिन वास्तव में इंसान तो एक ही होता है।

Essay on communal harmony in hindi
Essay on communal harmony in hindi

साम्प्रदायिक सद्भावना से तात्पर्य ऐसी भावना से है जिसमें सभी संप्रदाय के लोग एक दूसरे के साथ मिलजुल कर रहते हैं, एक दूसरे के प्रति अच्छी भावना रखते है और वह अपने आपमें किसी भी तरह का भेदभाव ना समझें जिससे देश का तेजी से विकास होगा। हमारे देश में भले ही अनेक जाति, धर्म और भाषाओं के लोग रहते हैं हैं लेकिन हमारा देश एक हैं हमें हमारे देश में राष्ट्रीय एकता बनाकर रखना चाहिए। लोगों में किसी तरह से भेदभाव नहीं समझना चाहिए अगर सांप्रदायिक सद्भावना नहीं होगी तो देश में कई तरह के भेदभाव हो सकते हैं इसके ना होने की वजह से अनेक धर्म, जाति के लोगों में लड़ाई, दंगे भी हो सकते हैं हमें संप्रदायक सद्भावना रखनी चाहिए।

सांप्रदायिक सद्भावना का महत्व

हमारे जीवन में संप्रदायिक सद्भावना का बहुत महत्व है सांप्रदायिक सद्भावना से देश एक सूत्र में बंधता है और हमारे देश के सभी नागरिक भारतीय कहलाते हैं देश के नागरिक अलग-अलग जाति धर्म को विशेष महत्व ना देकर भारतीय को ज्यादा महत्व देते हैं क्योंकि हम सब भारत के नागरिक हैं और हम भारतीय कहलाते हैं जिस देश में सांप्रदायिक सद्भावना होगी वह देश वास्तव में तेजी से विकास करता है हमें अलग-अलग संप्रदाय के लोगों के प्रति ईश्र्या की भावना नहीं रखनी चाहिए और एक दूसरे के साथ मिलजुल कर जीवन जीना चाहिए इसी में हमारा भला है।

उपसंहार

सांप्रदायिक सद्भावना से हमारा देश विकास करता है इसकी वजह से हमारा देश राष्ट्रीय एकता को ज्यादा महत्व देता है और देश एक सूत्र में बंध कर रहता है देश के अलग-अलग संप्रदाय के लोग एक दूसरे की मदद करते हैं वह एक दूसरे के साथ प्रेमपूर्वक रहते हैं वास्तव में सांप्रदायिक सद्भावना जिस देश के नागरिकों में है वह देश तेजी से आगे बढ़ता है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Essay on communal harmony in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल essay on sampradayik sadbhavana in hindi कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *