अहिंसा परमो धर्म पर निबंध Essay on ahimsa paramo dharma in hindi

Essay on ahimsa paramo dharma in hindi

Essay on ahimsa paramo dharma in hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Essay on ahimsa paramo dharma in hindi आपको अहिंसा अपनाने की जानकारी देता है वाकई हम हिंसा को अपनाकर अपने जीवन में बहुत कुछ कर सकते हैं जो हमने सोचा भी ना होगा.हमारे देश में अहिंसा अपनाकर बहुत सारे बड़े-बड़े काम किए गए थे

Essay on ahimsa paramo dharma in hindi
Essay on ahimsa paramo dharma in hindi

हमारे देश में अहिंसा के दम पर अंग्रेजों को अपने देश से बाहर निकाला गया था हमारे जीवन में अगर हम अहिंसा अपनाते है तो हम कुछ भी कर सकते हैं.प्राचीन काल में बहुत सारे महापुरुषों गौतम बुद्ध, महात्मा गांधी जैसे लोगों ने अहिंसा परमोधर्म अपने जीवन में अपनाकर बहुत सारे बड़े-बड़े काम किए थे.

इसी तरह गौतम बुद्ध ने निडर होकर अहिंसा अपना धर्म बताकर इसके दम पर बहुत से काम किए थे. आखिर हिंसा की परिभाषा क्या है चलिए जानते हैं किसी भी जीव को परेशान करना,उनको प्रताड़ित करना की हिंसा है उन्हें मारना पीटना एक तरह से उनकी हिंसा है लेकिन अगर हम किसी से बुरा बोलते हैं,गलत शब्द कहते हैं तो भीयह हिंसा की श्रेणी में आता है हमको किसी भी तरह की हिंसा नहीं करना चाहिए क्योंकि हिंसा से हमारा ही नुकसान होता है क्योंकि इस दुनिया में हम दूसरों के साथ जैसा बर्ताव करते हैं हमें भी दूसरों से उसी तरह का बर्ताव मिलेगा तो सोचिए आपको कैसा लगेगा.

जब आप किसी जीव जंतु या मनुष्य के साथ हिंसा जैसी प्रवृत्ति अपनाते हैं तो कहीं ना कहीं उसे बहुत बुरा लगता है लेकिन अगर आपने किसी जीव के साथ ऐसा किया है तो उसका बदला आपको जरुर मिलेगा यही दुनिया का नियम है.

अहिंसा अपना कर हम बहुत सारे काम कर सकते हैं जोकि हिंसा से नहीं कर सकते.महात्मा गांधी जी ने अहिंसा को अपनाकर अहिंसा के रास्ते पर चलकर हमारे देश को अंग्रेजो की गुलामी से आजाद करवाया जो कि हमें हमेशा याद रहता है उन्होंने अपने देश को आजाद कराने के लिए बहुत सारे आंदोलन किए जिनमें उन्होंने किसी भी तरह की हिंसा का सहारा नहीं लिया और आज वह दुनिया में जाने जाते हैं.

महावीर और गौतम बुद्ध जी हमें इसी तरह की शिक्षा देकर गए हैं की अहिंसा को अपने जीवन का धर्म बना लो,जो व्यक्ति अहिंसा अपनाता है वह जिंदगी में बहुत आगे बढ़ता है.अगर आप किसी से अच्छा बर्ताव करते हो,हिंसा को दूर करके अपने जीवन में अहिंसा अपनाते हो तो जीवन में आपको किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

दोस्तों भगवान गौतम बुद्ध हमें अहिंसा की शिक्षा दी  थी,शुरुआत में जब गौतम बुद्ध अपने घर से निकले थे तो उन्होंने देखा की लोग अंधविश्वास के चलते जानवरों की हिंसा कर रहे हैं,उस समय के ब्राह्मण भी भगवान की पूजा करने के लिए जानवरों की बलि चढ़ा देते थे.भगवान गौतम बुद्ध ने इसके खिलाफ लोगों को सत्य,अहिंसा,प्रेम की शिक्षा दी और इस तरह के अंधविश्वास को दूर करने का प्रयत्न किया.उन्होंने अपनी कहानियों,अपने वृतांतों के जरिए हमें बताया कि हम कैसे अहिंसा के मार्ग पर चलकर जीवन में सुखी रह सकते हैं.

आज हमारे देश में कुछ लोग ऐसे हैं जो हिंसा का रास्ता अपनाते हैं और और उन्हें अहिंसा की ओर अग्रसर होना चाहिए.आजकल तो परिवार में भी हिंसा होने लगी है इसको खत्म करने की जरूरत है और हमें अपने जीवन में अहिंसा अपनाने की जरूरत है तभी हम अपने समाज को आगे बढ़ा सकते हैं.

दरअसल जब हम अहिंसा का रास्ता अपनाते हैं तो हमारे समाज में प्रेम उत्पन्न होता है.लोग एक दूसरे की इज्जत करते हैं,अहिंसा का रास्ता अपनाने से हम बहुत बड़े नुकसान से बच सकते हैं.कभी-कभी ऐसा होता है कि हम हिंसा का रास्ता अपनाकर कुछ ऐसा कर देते हैं जिससे हमें उससे बहुत बड़ा नुकसान होता है अगर हम अहिंसा के रास्ते पर चलें तो हमें इस तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा और हम शांति के साथ जिंदगी में कुछ अच्छा कर सकते हैं और बड़ी से बड़ी मुसीबत का सामना हम अहिंसा के द्वारा कर सकते हैं.

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो अपने जीवन की मुशिवतो से निकलना चाहते है,अहिंसा के द्वारा हम बड़ी से बड़ी मुसीबत से निकल सकते हैं.ये बात हमारे देश के महापुरुष गांधीजी और भगवान गौतम बुद्ध ने साबित की है.महात्मा गांधी जी ने अहिंसा के द्वारा अपने पूरे देश को आजाद करवाया वही दूसरी ओर भगवान गौतम बुद्ध ने अपनी अहिंसा के कदम पर चढ़कर अंगुलिमार नाम के भयानक डाकू को अपने कदमों पर सिर झुकाने के लिए मजबूर कर दिया था जो लोगो की उंगलिया काटकर उनका हार पहना करता था.इसलिए दोस्तों अगर जिंदगी में आप एक सुखी जीवन जीना चाहते है और आगे बढ़ना चाहें तो आप भी अहिंसा का रास्ता अपनाकर इस और अपने कदम बढ़ा सकते हैं.

दरह्सल आप अहिंसा के द्वारा अगर कुछ करते है तोह आप बड़े से बड़े काम को भी कर सकते है,अपने किसी भी दुश्मन को जीत सकते है,दुश्मन को अपने कदमो में झुका सकते है क्योकि अहिंसा इस दुनिया का एक ऐसा जादू है जिसने भी इस जादू को अपना लिया वोह जग जीत सकता है.आप देख सकते है महात्मा गाँधी हर हिन्दुस्तानी के दिल में रहते है,हर कोई उनको इज्जत देता है क्योकि उन्होंने अहिंसा के मार्ग पर चलकर अपने देश का भला किया था.

इसलिए आप भी अहिंसा का मार्ग अपनाकर अपने जीवन में कुछ बड़ा करिए और सभी को दिखा दीजिये की अहिंसा से हर किसी को जीता जा सकता है.

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Essay on ahimsa paramo dharma in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Essay on ahimsa paramo dharma in hindi कैसा लगा,अगर आप चाहे हमारी अगली पोस्ट को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

6 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *