नैतिक पतन देश का पतन पर निबंध essay on naitik patan desh ka patan in hindi

essay on naitik patan desh ka patan in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं नैतिक पतन देश का पतन पर निबंध । चलिए हम पढ़ेंगे नैतिक पतन देश का पतन पर निबंध को ।

वह व्यक्ति जो धन कमाने के लिए गलत कार्य करते है, दूसरों को नुकसान पहुंचाते है वह अपने नैतिक मूल्यों को भूल जाते हैं । कहने का तात्पर्य यह है कि उस व्यक्ति का चरित्र खराब हो जाता है ,उस व्यक्ति का नैतिक पतन हो जाता है । जब हम सिर्फ हमारे बारे में सोचते हैं तब हम हमारे फायदे के लिए कई सारे लोगों को नुकसान पहुंचा देते हैं जिससे हमारा व्यवहार बुरा होता जाता है और हमारे अंदर दया भावना नहीं रहती है और हम कई तरह के गलत कामों में उलझ जाते हैं । जब हम गलत काम करने लगते हैं तब हमारे देश को बड़ा नुकसान पहुंचता है क्योंकि यदि राष्ट्र और समाज को उन्नति के रास्ते पर ले जाना है तो हमें हमारे व्यवहार में परिवर्तन लाना होगा । हमें दूसरों से प्रेम करना होगा और लोगों को सही रास्ता दिखाना होगा । हमें सदा यह प्रयत्न करना चाहिए कि हम सभी नैतिकता के रास्ते पर चलें जिससे हमारे राष्ट्र की उन्नति हो ।

essay on naitik patan desh ka patan in hindi
essay on naitik patan desh ka patan in hindi

image source – https://www.indiareviews.com

आज हमारे देश में जब नारीयों को आगे बढ़ाया जा रहा है तब वहीं दूसरी ओर देश में महिलाओं के ऊपर अत्याचार भी किए जा रहे हैं । जो लोग महिलाओं पर अत्याचार करते हैं उनकी आत्मा मर जाती है ,वह अंदर से कमजोर होते हैं । देश को बनाने में देश के सभी नागरिकों को सही रास्ते पर चलने की आवश्यकता होती है । सभी के अंदर दया भावना होना चाहिए और हम सभी को परिश्रम करते रहना चाहिए । जब हम सभी सच्चाई के रास्ते पर चलेगे तब जाकर देश एवं समाज का उद्धार होगा और देश, समाज उन्नति के रास्ते पर आगे बढ़ेगा । यह सब नैतिक मूल्य होते हैं । जब मनुष्य अपने नैतिक जिम्मेदारियों से पीछे भागने लगता है और नैतिक पतन कर लेता है तब देश का भी पतन होने लगता है । देश को कई तरह का नुकसान झेलना पड़ता है । आज देश में भ्रष्टाचार फैला हुआ है । कुछ लोग अपने फायदे के लिए दूसरे से बेईमानी करने में लगे हुए हैं जिससे हमारे देश की छवि खराब हो रही है । हमारे देश के ही एक विश्व गुरु ने पूरे विश्व को मानवता एवं सदाचार की शिक्षा दी थी । उसी देश के लोग नैतिकता को भूलते जा रहे हैं । हमारे देश से नैतिकता कम होने से देश पर कई तरह के संकट आ सकते है ।

हम सभी को नैतिक मूल्यों को समझना चाहिए और देश के हित के बारे में सोचना चाहिए । हमें कभी भी कोई ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे देश के लोगों का नुकसान हो और हमारे देश की छवि खराब हो । जब हम सभी सच्चाई के रास्ते पर चलेंगे, किसी से बेईमानी नहीं करेंगे तब हम देश को भ्रष्टाचार से बचा पाएंगे । जब हम लोगों को नैतिकता के बारे में बताएंगे तब उन सभी लोगों का यह दायित्व बनता है कि वह नैतिकता को अपनाएं । जब हम और हमारे देश के लोग नैतिकता एवं सदाचार अपनाएंगे तब हमारे देश की उन्नति होगी जबकि नैतिक पतन देश का पतन होने का मुख्य कारण होता है । जब नैतिक उन्नति होती है तब देश की उन्नति होती हैं इसलिए हमें यह प्रयत्न करना चाहिए कि हम नैतिक पतन की ओर ना बढे. हम सभी को सदैव नैतिक उन्नति की ओर बड़ना चाहिए ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख नैतिक पतन देश का पतन पर निबंध essay on naitik patan desh ka patan in hindi आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब जरूर करें धन्यवाद ।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *