दूध वाला पर निबंध Essay on milkman in hindi

Essay on milkman in hindi

Milkman – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से दूधवाले पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और दूध बाले पर लिखें निबंध के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Essay on milkman in hindi
Essay on milkman in hindi

Image source – https://commons.m.wikimedia.org/wiki/File:MilkMan.JPG

दूधवाले के बारे में – दूधवाला बहुत ही साहसी और मेहनती व्यक्ति होता है । जो सुबह उठकर गाय , भैसों का दूध निकालकर बाजार में साइकिल के माध्यम से या मोटरसाइकिल के माध्यम से दूध देने के लिए आता हैं । दूध का व्यापार करना कोई आसान बात नहीं है क्योंकि दूधवाला सुबह जल्दी उठता है और गाय , भैंसों का दूध निकालता हैं । दूध बाला गाय , भैंसों को खाने की व्यवस्था करना , पानी पिलाना इन को चराने के लिए ले जाना यह सभी काम करता है । दूध का व्यापार करने के साथ-साथ एक दूधवाला खेती करके पैसा कमाता है ।

जब हम सुबह उठते हैं  तब सबसे पहले हम मंजन करते हैं , मंजन करने के बाद हमें चाय की आवश्यकता होती है ।  चाय तब हमारे घर में बनती है जब दूधवाला दूध देकर जाता है । एक दूधवाला जब दूध निकालकर शहर में देने के लिए जाता है तब एक घर में दूध नहीं देता है बल्कि शहर के कई घरों में दूध देता है । दूध वाला दूध के माध्यम से अपने परिवार का भरण पोषण करता है । जब दूध वाला गाय , भैंसों की देखरेख करता है तब वह बहुत मेहनत करता है ।

दूधवाले जितनी मेहनत करता हैं उतनी मेहनत करना एक साधारण व्यक्ति के बस की बात नहीं है क्योंकि दूधवाला इतना शक्तिशाली होता है कि वह हर मौसम में दूध बेचने के लिए आता है । चाहे सर्दी का मौसम है या फिर गर्मी का मौसम हो वह बहुत जल्दी उठना है और दूध निकालकर हम सभी के पास  पहुंचाता है । बदलती हुई दुनिया में कई विकास हो  चुके हैं । आज  शहरो में जो दूध डेरिया खुली हुई है वहां पर से हम सभी दूध लेकर आते हैं । सभी दूध डेयरी पर दूध दूध वाला ही दे करके जाता है और हम वहां से दूध लाकर चाय बनाकर पीते हैं । यदि दूध वाला नहीं होता तो हम सभी को दूध नहीं मिल पाता क्योंकि दूध से हम कई तरह के व्यंजन भी बनाते  हैं ।

दूध से ही सुंदर-सुंदर मिठाईयां बनती है । जो मिठाईयां हम खा कर अपने जीवन में आनंद प्राप्त करते हैं । एक दूधवाला सुबह गाय , भैसों का दूध निकाल कर उस सभी दूध को कंटेनर मे डालकर साइकिल के कुंदो में कंटेनर फसाकर पूरी मेहनत के साथ साइकिल चलाकर शहर में दूध लेकर आता है और पूरे शहर में घर-घर जाकर घंटी बजाकर दूध देता है । घर में जब तक दूधवाले के द्वारा दूध नहीं दिया जाता है तब तक हम चाय का इंतजार करते रहते हैं क्योंकि भारत देश में सुबह उठकर चाय पीना और अखबार पढ़ना सभी को अच्छा लगता है ।

जब तक चाय पीने के लिए नहीं मिल जाती तब तक सुबह के समय अच्छा नहीं लगता है । एक दूध वाला दूध बेचकर पैसा कमा कर अपने बच्चों को पढ़ा लिखा कर आगे बढ़ाता है ।कहने का तात्पर्य यह है कि जब दूधवाला गाय , भैंसों की रक्षा सुरक्षा के लिए मेहनत करता है तब जाकर के वह दूध दूधवाले को प्राप्त होता है ।  दूधवाला पूरी मेहनत के साथ इस व्यापार को करता है । दूधवाला एक साधारण व्यक्ति के जैैसा ही दिखाई देता है परंतु वह मेहनत करने में सबसे आगे होता है । दूधवाला ना तो सर्दी का मौसम देखता है और ना ही बरसात का और ना ही गर्मी का ।

दूधवाले को प्रतिदिन घर-घर दूध पहुंचाना होता है । प्राचीन समय से ही दूध वालों का दूध लेकर घरों में चाय बनती आ रही हैं । समय बदलने के साथ साथ सभी दूध वालों ने शहर में दूध बांटने के लिए अपने साधन को बदल दिया है । पहले दूधवाले साइकिल के माध्यम से दूध का वितरण करते थे । परंतु आज विकास के साथ-साथ दूध वालों ने साइकिल को छोड़कर मोटरबाइक के माध्यम से दूध का वितरण करना प्रारंभ कर दिया है । एक दूधवाला सभी घरों में 1 महीने तक दूध देता है । जब एक महीना पूरा हो जाता है तब दूधवाले को 1 महीने का पैसा दिया जाता है । वह दूध वाला उस पैसे से अपने परिवार का भरण पोषण करता है ।

एक दूधवाला पूरे शहर में घर-घर जाकर 2 से 3 घंटों में दूध का वितरण कर देता है । एक दूधवाला घरों में दूध देने के साथ-साथ शहर की होटलों मे भी दूध देता हैं जिससे होटल पर दूध से चाय बनाकर वह होटल मालिक व्यापार करता है । चाय बेचकर वह अपने परिवार का भरण पोषण करता है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल दूधवाला पर निबंध Essay on milkman in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तो एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *