फैशन का भूत पर निबंध Essay on fashion ka bhoot in hindi

Essay on fashion ka bhoot in hindi

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,आज का हमारा आर्टिकल Essay on fashion ka bhoot in hindi आप सभी के लिए बड़ा ही शिक्षाप्रद है.हमारा आज का निबंध आज के आधुनिक युग की स्थिति के बारे में जानकारी देगा.फैशन का भूत आज की नई युवा पीढ़ी में सबसे ज्यादा फैला हुआ है चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस निबंध को

Essay on fashion ka bhoot in hindi
Essay on fashion ka bhoot in hindi

फैशन यानी किसी भी व्यक्ति द्वारा आधुनिक ढंग से अपने आप में नए तरह के कपड़े,नए तरह की संस्कृति अपनाना ही होता है आज के युग में फैशन बहुत ही तेजी से बदल रहा है हर एक युवा युवती इस फैशन के साथ अपने आप को बदल रहे हैं.फैशन का भूत आज के हर वर्ग के लोगों में देखने को मिलता है पहले के जमाने में बच्चे,नौजवान,बूढ़ों,महिलाओं,लड़कियों आदि का फैशन अलग था लेकिन आज के आधुनिक युग में इन सभी का फैशन दिनादिन बदल रहा है एक तरह से हर एक वर्ग के लोगों में फैशन का भूत सवार हो गया है.

आज के इस फैशन के जमाने में नौजवान यह नहीं देखते कि वह किस तरह के कपड़े पहनते हैं.बॉलीवुड की एक्टर एक्ट्रेस फैशन के रूप में जैसे नए कपड़े पहनते हैं वैसे ही आजकल की युवा पीढ़ी पहनने लगती है.फैशन के नाम पर कटे फटे कपड़े पहनना और कम कपड़े पहनना आजकल का फैशन बन चुका है जिसे लोग बेहद पसंद करने लगे हैं और अपनी संस्कृति को भूल कर लोग सिर्फ दिखावे के लिए इस फैशन के भूत को अपनाते जा रहे हैं जब बड़े बुजुर्ग अपने बच्चों को इस नए फैशन में देखते हैं तो उन्हें भी अजीब सा महसूस होता है लेकिन नौजवानो का फैशन हमेशा बदलता रहता है.

बुजुर्ग लोग जो पहले कुर्ता और धोती पहनते थे लेकिन आजकल के बुजुर्ग पैंट शर्ट पहनने लगे हैं वह भी फैशन के भूत के साथ पीछे नहीं रहते.चाहे कपड़ों की बात करें चाहे हेयर स्टाइल की अगर बॉलीवुड के एक्टर एक्ट्रेस कुछ अजीब तरह के हेयर स्टाइल रखते हैं तो आज के नए जमाने के लड़के लड़कियां उस स्टाइल को बनाने में बिल्कुल भी झिझक महसूस नहीं करते क्योंकि यह फैशन का भूत भारत के लोगो के सर चल रहा है हर कोई इस फैशन के नाम पर बहुत सारा पैसा भी बर्बाद करता है और अपने समय को भी लगातार बर्बाद करता है.

युवक-युवतियां अपने दोस्तों से फैशन के नाम पर हमेशा आगे निकलना चाहते हैं एक तरह से उनमें एक प्रतियोगिता हो चुकी है.नए फैशन के साथ चलना गलत तो नहीं है लेकिन हमें अपनी सोच से भी,अपने विवेक से भी काम लेना चाहिए कि हद से ज्यादा फैशन अपनाना सही नहीं है क्योंकि यह फैशन का भूत आपका लगातार समय और पैसा बर्बाद कर रहा है फैशन के नाम पर आप अपने आप को खोते जा रहे हो अपनी सोच को दूसरों के मुताबिक चलाते जा रहे हो.फिल्म स्टार लोग जैसा फैशन बनाते हैं आप उनके हिसाब से अपने आपको बदलते हो यह सही नहीं है.

Related- फैशन पर हास्य कविता Hindi hasya kavita on fashion

लोगों पर फैशन का भूत निरंतर बढ़ता जा रहा है अगर कोई नए जमाने के फैशन से दूर रहता है तो कुछ लोग उसका मजाक उड़ाते हैं इसी की वजह से वह भी नए-नए फैशन अपनाने लगता है लोगों की सोच निरंतर बदलती जाती है.आजकल के इस आधुनिक युग में फेशन की अंधाधुंध सोच तेजी से बढ़ती जा रही है इस जमाने में लड़के लड़कियों को भी पहचानना काफी मुश्किल हो गया है लड़के लड़कियों की तरह हेयर स्टाइल रखने लगे हैं इस वजह से लड़कों को पहचानना मुश्किल होता है वहीं दूसरी ओर लड़कियां लड़कों की तरह फैशन रखने लगी है जींस,टी शर्ट और अपने हेयर स्टाइल को लड़कों की तरह रखती हैं जिससे उन्हें पहचानना मुश्किल होता है.

इस फैशन के साथ हमारे प्राचीन संस्कृति में भी लगातार बदलाव देखने को मिलता हैं जिस वजह से हम लगातार विदेशी संस्कृति को अपनाकर अपने देश की संस्कृति से पिछड़ते जा रहे हैं क्योंकि लोग अपने फैशन के साथ अपनी सोच को भी बदल रहे हैं कुछ लोग तो ऐसे भी हैं जो इस फेशन के भूत के साथ अपने परिवार वालों को भी भूल जाते हैं वह उनकी इज्जत नहीं करते और अपने रिश्ते खराब करते हैं इस फैशन के भूत में गुरु-शिष्य,माता पिता, भाई बहन आदि के रिश्ते नई सोच के साथ,विदेशी संस्कृति के साथ धीरे-धीरे बदलते जा रहे हैं आने वाले समय में लोगों को इससे बहुत सारी परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है.

फैशन का भूत सिर्फ शहरों तक ही सीमित नहीं है यह फैशन का भूत गांव तक भी तेजी से फैलता जा रहा है गांव के लोग भी अपने आपको बदल रहे हैं,अपना पैसा और अमूल्य समय निरंतर बर्बाद करते जा रहे हैं हम सभी को इस फैशन रूपी भूत से बचने की कोशिश करनी चाहिए तभी हम जीवन में कुछ बड़ा कर सकेंगे क्योंकि फेशन के भूत से सिर्फ हमारा समय बर्बाद होता है और कुछ नहीं होता.

आजकल के लोगों की सोच बदल रही है वह सोचते हैं कि अगर वह फैशन के साथ अपने आप में बदलाव नहीं लाएंगे तो वह समाज में कम आंके जाएंगे.आजकल का फैशन निरंतर बदल रहा है लोग भी अपने आपको बदल रहे हैं लेकिन ये फैशन समय पर सही रहता है अगर आप कॉलेज जाते हैं तो आप उस हिसाब से जींस टी शर्ट पहनते हैं वही किसी शादी समारोह में जाते हैं तो आपका फैशन कुछ अलग भी हो सकता है.

मैं तो बस यही कहना चाहूंगा इस फेशन के भूत के साथ आप भले ही थोड़ा बहुत अपने आपको बदलिए लेकिन इतना भी मत बदलिए की अपनी प्राचीन संस्कृति को आप भूल जाएं क्योंकि हमें हमारे देश को आगे बढ़ाना है हमें विदेशों की तरह बदलना नहीं है बल्कि हमे प्रयास करना चाहिए की हमारे देश की अच्छी सोच से विदेशों के लोगों की सोच को बदल सके तभी हम एक बड़ा बदलाव ला सकते हैं और तभी हम हमारे देश को सबसे आगे पंहुचा सकते हैं.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Essay on fashion ka bhoot in hindi पसंद आए तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Essay on fashion ka bhoot in hindi कैसा लगा इसी तरह के अगले आर्टिकल को पाने के लिए हमे सब्सक्राइब जरूर करें.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *