कोरोना काल में आत्मनिर्भर कैसे बने पर निबंध Essay on corona kal mein aatm nirbhar kaise bane in hindi

Essay on corona kal mein aatm nirbhar kaise bane in hindi

Corona kal mein aatm nirbhar kaise bane – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कोरोना काल मे आत्मनिर्भर कैसे बने पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर कोरोना काल मे आत्मनिर्भर कैसे बने के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Essay on corona kal mein aatm nirbhar kaise bane in hindi
Essay on corona kal mein aatm nirbhar kaise bane in hindi

कोरोना काल मे आत्मनिर्भर कैसे बने के बारे में – आज पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का संक्रमण फैला हुआ है ।जिसके कारण लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है । कोरोना काल में सभी को आत्मनिर्भर होने की आवश्यकता है क्योंकि जब तक हम एक दूसरे से संपर्क में आने से रुकेंगे नहीं तब तक कोरोना काल खत्म नहीं होगा । इसीलिए कोरोना काल समय मे  हमें आत्मनिर्भर होने की आवश्यकता है । कहने का तात्पर्य यह है कि यदि हम दूसरों पर निर्भर रहेंगे तो हमें लोगों से मिलने की आवश्यकता होगी और जब हम अधिक से अधिक लोगों से मिलेंगे तो कोरोनावायरस के फैलने की संभावना बहुत अधिक होगी ।

कोरोना काल के समय मेे हमें अपनी छोटी-छोटी आवश्यकताओं को अपने ही द्वारा पूरा करना चाहिए जैसे कि कुछ लोगों को कपड़े दूसरों से धुलबाने की आदत होती है । जब तक कोरोना काल चल रहा है तब तक लोगों को बीमारी से बचने के लिए अपना कार्य खुद ही करना चाहिए । घर के कई ऐसे कार्य होते हैं जिन कार्यों को करने के लिए हम नौकर रखते हैं , बाई रखते हैं । जब तक कोरोना काल चल रहा है तब तक हमें अपने घर के छोटे-छोटे कार्य खुद करने की आवश्यकता है । आज हमें आत्मनिर्भर होने की आवश्यकता है ।

हमें कोरोना काल के समय को ध्यान रखना चाहिए कि हम बाजार से बने हुए व्यंजन का उपयोग ना करते हुए घर पर ही बने हुए व्यंजन का उपयोग करना चाहिए जिससे कि हम सुरक्षित रहें , कोरोना संक्रमण हमारे शरीर के अंदर प्रवेश ना कर सके । यह सब तब होगा जब हम आत्मनिर्भर होंगे । इसीलिए कोरोनावायरस से बचने के लिए हम सभी को आत्मनिर्भर होने की आवश्यकता है ।दूसरों से कार्य ना करवाते हुए जो कार्य हम खुद कर सकते हैं उस कार्य को हमें खुद ही कर लेना चाहिए ।

जब हम आत्मनिर्भर होंगे तब हम सोशल डिस्टेंस का पालन सही तरह से कर पाएंगे और सभी सोशल डिस्टेंस का पालन सही तरीके से करेंगे और हमारे देश से कोरोनावायरस का संक्रमण अति शीघ्र ही खत्म हो जाएगा  और हम आने वाले समय में एक अच्छा जीवन अपने परिवार के साथ बिता सकेंगे । कुछ लोगों को बाजार के होटल की चाय , नाश्ता पसंद है । आज के समय में हमें होटलों पर चाय नाश्ता का सेवन करने से पहले यह सोचना चाहिए कि होटल पर सभी तरह के लोग आते हैं ।

हमें यह पता नहीं है कि कौन कोरोनावायरस से संक्रमित है और कौन कोरोनावायरस से संक्रमित नही है । इसीलिए हमें आज के समय घर पर ही चाय और नाश्ता बनाकर उसका सेवन करना चाहिए । इसमें हमारी और हमारे परिवार की भलाई है । भारत देश के प्रधानमंत्री का कहना भी यही है यदि भारत देश को आत्मनिर्भर बना दिया जाए तो कोरोना काल के कारण जो संकट देश पर आया हुआ है उस संकट से छुटकारा पाया जा सकता है । कोरोना काल के कारण देश की आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हुई है ।

इसलिए देश के प्रधानमंत्री ने आत्मनिर्भर अभियान चलाया है कि सभी लोग आत्मनिर्भर हो , देश में बनी हुई चीजों का ही उपयोग कर हम सभी लोग आत्मनिर्भर बन सकते हैं । जब हम सभी लोग विदेशों से आए हुए प्रोडक्ट्स का उपयोग कम से कम करेंगे और हमारे देश में बने हुए प्रोडक्ट्स का उपयोग सबसे अधिक करेंगे तब हमारे देश का पैसा हमारे देश में ही रहेगा और हम सभी आत्मनिर्भर होंगे । हम सभी को अपने द्वारा बनाए गए सामानों का ही उपयोग करने की आवश्यकता है । यही आज के समय की मांग है ।

इस तरह से हम सभी आत्मनिर्भर बन जाएं और अपना काम स्वयं ही करना प्रारंभ कर दें तो हम कोरोना संक्रमण जैसी घातक बीमारी से बच सकते हैं और देश में बने हुए प्रोडक्ट्स का उपयोग करके पूरे भारत देश में आत्मनिर्भर अभियान को सफल बना सकते हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन आर्टिकल कोरोना काल  मे आत्मनिर्भर कैसे बने पर निबंध Essay on corona kal mein aatm nirbhar kaise bane in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल को पढ़ते समय कुछ गलती या कमी नजर आए तो आप हमें कृपया कर उस गलती या कमी के बारे में हमारी ईमेल आईडी पर अवश्य बताएं जिससे कि हम उस गलती या कमी को सुधार पर यह आर्टिकल आपके समक्ष पुनः प्रस्तुत कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *