जब ए प्रौद्योगिकी सरल थी तब मानव जीवन बेहतर था या बदतर पर निबंध Essay on better or worse human life when technology was simple in hindi

Essay on better or worse human life when technology was simple in hindi

Technology – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से जब ए प्रौद्योगिकी सरल थी तब मानव जीवन बेहतर था या बदतर पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर जब ए प्रौद्योगिकी सरल थी तब मानव जीवन बेहतर था या बदतर पर लिखे निबंध के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Essay on better or worse human life when technology was simple in hindi
Essay on better or worse human life when technology was simple in hindi

मनुष्य के लिए प्रौद्योगिकी सरल या बेहतर के बारे में – दोस्तों जिस तरह से दुनिया एक सफलता की ओर बढ़ रही है उसी तरह से प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निरंतर बदलाव आते जा रहे हैं । प्रौद्योगिकी क्षेत्र धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है और सभी मनुष्य प्रौद्योगिकी से जुड़ रहे हैं । दोस्तों जब प्रौद्योगिकी का अविष्कार हुआ तब मनुष्य को सुविधाएं प्राप्त हो रही थी और वह अपने जीवन को बेहतर से बेहतर बनाने के लिए मेहनत कर रहा है । प्रौद्योगिकी के विकास से मनुष्य जीवन को कुछ फायदे हुए हैं तो कुछ नुकसान भी हुए है । यदि हम प्रौद्योगिकी के विकास से मनुष्य के जीवन में हुए बदलाव के बारे में बात करें या फिर  प्रौद्योगिकी के विकास से मनुष्य को जो फायदे हुए हैं उन सभी फायदों के बारे में बात करें तो मनुष्य का जीवन वाकई में सफलता की ओर  बढ़ा है ।

मनुष्य के जीवन को सफलता की ओर बढ़ाने के पीछे प्रौद्योगिकी क्षेत्र का बहुत बड़ा योगदान है जिस योगदान से मनुष्य को टेक्निकल सुविधाएं प्राप्त हुई है । जब प्राचीन समय में प्रौद्योगिकी का विकास नहीं हुआ था तब टेक्निकल सुविधाएं मनुष्य को प्राप्त नहीं हुई थी । उस समय इंसान को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था । प्रौद्योगिकी के विकास से ही आज हम घर पर बैठे हुए बिजली का बिल जमा कर सकते हैं । हजारों किलोमीटर दूर बैठे व्यक्ति से मोबाइल के माध्यम से बात कर सकते हैं । यह सब प्रौद्योगिकी के विकास के कारण ही संभव हो पाया है ।

जब प्रौद्योगिकी का विकास नहीं हुआ था तब सरकारी योजनाओं के बारे में लोगों को पता तक नहीं चल पाता था और सही व्यक्ति को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता था । परंतु जब से प्रौद्योगिकी का विकास हुआ है तब सभी योजनाएं ऑनलाइन के माध्यम से लोगों तक पहुंचाई जा रही है । उन सभी योजनाओं का लाभ लेकर सभी लोग आगे बढ़ रहे हैं । यह सब प्रौद्योगिकी के कारण ही संभव हो पाया है । प्रौद्योगिकी मनुष्य के प्रारंभिक जीवन में एक वरदान था । जो वरदान मनुष्य के जीवन की सभी प्रतिक्रियाओं को सफलता की ओर ले गई थी ।प्रौद्योगिकी क्षेत्र में धीरे-धीरे विकास होता गया और मनुष्य का जीवन खुशियों से भरता गया हैं ।

मनुष्य को कई सुविधाएं  प्रौद्योगिकी विकास के कारण  प्राप्त हुई है । इस बात से हम पीछे नहीं हट सकते परंतु कुछ फायदे हुए हैं तो प्रौद्योगिकी के विकास से कुछ नुकसान भी मनुष्य को झेलना पड़ा है । जब प्रौद्योगिकी का विकास निरंतर बढ़ता गया और टेक्निकल सुविधाएं धीरे-धीरे बढ़ती गई तब काफी नुकसान मनुष्य को उठाना पड़ा है । पहले जब टेक्निकल सुविधाएं , प्रौद्योगिकी सुविधाएं नहीं थी तब व्यक्ति सुबह उठकर घूमने फिरने जाता था जिससे उसका शरीर स्वस्थ तंदुरुस्त रहता था । परंतु टेक्निकल के जमाने  में व्यक्ति या मनुष्य को इतना समय नहीं मिल पाता है कि वह अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम  कर सके ।

बच्चों से लेकर बड़ों को समय नहीं मिल पाता है कि वह आपस में बैठकर बातचीत कर सकें क्योंकि यदि प्रौद्योगिकी दुनिया में सफल होना है तो प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निरंतर गतिशील होकर आगे बढ़ना होगा । जो व्यक्ति प्रौद्योगिकी क्षेत्र में पीछे रह जाता है वह अपने जीवन में कभी भी सफल नहीं हो पाता है ।प्रौद्योगिकी क्षेत्र के विकास से कुछ हानिकारक दुष्प्रभाव भी मनुष्य के शरीर पर पड़े  हैं । आज हम देख रहे की नई-नई बीमारियां जन्म ले रही हैं जिन बीमारियों में मनुष्य अपना सारा जीवन बर्बाद कर देता है क्योंकि चारों तरफ प्रौद्योगिकी क्षेत्र का माया जाल बिछा हुआ है जिसका दुष्प्रभाव हमारे शरीर पर पड़ता है ।

जब प्रौद्योगिकी का विकास नहीं हुआ था जब टीवी , मोबाइल , लैपटॉप , कंप्यूटर , इंटरनेट जैसी सुविधाएं हमारे पास नहीं थी । उस समय हम टीवी देखने की वजह अपने परिवार के साथ में बैठकर टाइम पार्टिसिपेट करते थे । परंतु आज बच्चा जब बड़ा हो जाता है तब वह अपने हाथों में मोबाइल लेता है और मोबाइल पर ही गेम खेल कर समय व्यतीत करता है ।  इससे बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता , सोचने समझने की क्षमता कमजोर हो जाती है और उसकी आंखों पर भी गहरा  इफेक्ट पड़ता है ।

जब प्रौद्योगिकी का विकास हुआ तब प्रौद्योगिकी बहुत सरल थी परंतु जैसे-जैसे प्रौद्योगिकी का विकास स्तर बढ़ता गया प्रौद्योगिकी क्षेत्र से मानव जीवन में काफी बदलाव हुए और नुकसान भी मनुष्य को उठाना पड़ा है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त लेख जब ए प्रौद्योगिकी सरल थी तब मानव जीवन बेहतर था या बदतर पर निबंध Essay on better or worse human life when technology was simple in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तो एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *