भिखारी पर निबंध essay on beggar in hindi

essay on beggar in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं भिखारी पर निबंध । चलिए अब हम जानेंगे कि हमारे भारत देश में भिखारी किस तरह से अपना जीवनी यापन करते हैं।

जब कोई अपनी भूख मिटाने के लिए कटोरा लेकर सड़कों पर ,मंदिर के बाहर बैठकर कपड़े ,भोजन एवं पैसे मांगता है उसे हम भिखारी कहते हैं । भिखारी सदैव फटे हुए कपड़े पहनता है एवं उसका शरीर अस्वस्थ रहता है । भिखारी जब किसी से भीख मांगता है तो वह कहता है अल्लाह के नाम से देदे, भगवान के नाम से देदे और कई लोग उस पर दया करके उसे पैसे दे देते हैं।

essay on beggar in hindi
essay on beggar in hindi

जो व्यक्ति धन कमाने में समर्थ नहीं होता है उसके हाथ पैर समर्थ नहीं होते हैं ज्यादातर वह व्यक्ति भीख मांगता है। जब कोई व्यक्ति अंधा , लंगड़ा, बेरा हो तब उसके पास भीख मांगने के अलावा और कोई साधन नहीं बचता है वह अपना पेट भरने के लिए एक कटोरा लेकर फटे पुराने कपड़े पहन कर सड़कों पर भीख मांगता है और अपना जीवन जीता है । हमारे देश में पुराने समय से लेकर आज तक मंदिरों के बाहर कई भिकारी बैठे रहते हैं और कई अन्य दाता मंदिर में दर्शन करने के लिए जाते हैं और जब मंदिर से बाहर आते हैं तो वह भिखारियों को कपड़े भोजन एवं पैसे देते है और उनकी दुआएं लेते है ।

भिकारी कभी भी भीख मांगने से डरता नहीं है उसे शर्म भी नहीं आती है । कई लोग भिखारी को भगा देते हैं तो कई लोग उसको भीख दे देते है । मैंने कई बार ट्रेनों के भिखारियों को देखा है की एक अंधा व्यक्ति गाना गाकर लोगों का मनोरंजन कर रहा है और कई लोग उसके कटोरी में पैसे भी डाल रहे हैं उस अंधे व्यक्ति की मजबूरी है भीख मांगना क्योंकि उस व्यक्ति के ना तो कोई बच्चे थे और ना कोई आगे था ना कोई पीछे था फिर वह कैसे अपना पेट भर पाता वह ट्रेनों, मंदिरों में जाकर भीख मांगता और भोजन करता था।

कुछ भिकारी ऐसे होते हैं जिनके हाथ पैर सही सलामत होते हैं फिर भी वह काम करके पैसा नहीं कमाना चाहते हैं उनकी आदत सिर्फ एक ही पड़ जाती है कि हमें भीख मांगना है । मैंने ऐसे भिखारियों को भी देखा है जो दिन भर भीख मांगते हैं और रात में मुर्गा मटन और शराब पीते हैं वह अपने शौक को पूरा करने के लिए दिनभर भीख मांगते रहते हैं । हमें यह कोशिश करना चाहिए कि भीख देते समय उस व्यक्ति को पूरी तरह से देख लेना चाहिए कि वह कमाने के लायक है या नहीं यदि वह कमाने के लायक है तो उसको भीख नहीं देना चाहिए क्योंकि भीख देने से उसकी आदतें खराब होती जाएगी और वह हमेशा भीख मांगता रहेगा।

हमें उस व्यक्ति को भीख देना चाहिए जिसके हाथ पैर काम ना करें शरीर से अस्वस्थ हो जब हम किसी व्यक्ति को भीख दें तो हमें उसे खाना और कपड़े देना चाहिए । यदि वह कम उम्र का है तो उसे काम करने के लिए कहना चाहिए हमें कोशिश करना चाहिए कि वह काम करने के लिए तैयार हो जाए । हमारे देश में सबसे ज्यादा भिखारी पाए जाते हैं । कुछ लोग ऐसे होते हैं जो काम करके पैसा कमा सकते हैं लेकिन वह काम करना नहीं चाहते हैं । हमें उन लोगों को सही रास्ते पर लाना चाहिए। हमें उन लोगों को भीख नहीं देना चाहिए । कुछ लोग मजबूरी में भीख मांगने लगते हैं । हमारे धार्मिक तीर्थ स्थलों के बाहर भीख मांगते लोग खड़े रहते हैं । भिखारियों की भीड़ कभी कम नहीं होती है बड़े-बड़े शहरों में सबसे ज्यादा भिखारी होते हैं । बड़े-बड़े शहरों में भीख मांगना फैशन सा बन गया है । हमारे देश में सबसे अधिक अधिकारी होने के कारण हमारा देश का नाम बदनाम होता है । पहले हमारे देश में गरीबी थी तब लोग भीख मांगते थे लेकिन आज सरकार हर गरीब घर में अनाज राशन पानी दे रही है फिर भी यह भिखारी भीख मांग रहे हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल भिखारी पर निबंध essay on beggar in hindi आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब जरूर करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *