आधुनिक जीवन शैली पर निबंध essay on adhunik jeevan shaili in hindi

essay on adhunik jeevan shaili in hindi

दोस्तों आज हम आपसे आधुनिक जीवन शैली पर निबंध के बारे में बात करने जा रहे हैं । आज हम और आप मिलकर यह तय करेंगे कि हमारे जीवन में आधुनिक जीवन किस तरह से दुष्प्रभाव डाल रही है। चलिए अब हम जानेंगे आधुनिक जीवन शैली के बारे में।

आज हम आधुनिक जीवन में इस तरह इसे खोते जा रहे हैं कि हमें हमारी संस्कृति की कोई परवाह ही नहीं रही है । आज हम अपने नए नए सपनों को पूरा करने के लिए पूरा जीवन बिता देते । जिस जीवन को हमें हंसते खेलते हुए जीना था उस जीवन को हम न जाने कहां खो रहे हैं । नई शैली मानव जीवन को आलसी एवं कमजोर बना रही है ।आज के नए युवा फिल्म देखने ,लाइफ स्टाइल बनाने और हर तरह का दिखावा करने में अपना जीवन बिता रहे हैं।

essay on adhunik jeevan shaili in hindi
essay on adhunik jeevan shaili in hindi

वह इस जीवन की कीमत नहीं समझ रहे हैं । उनका यह जीवन देश के विकास के लिए होना चाहिए था। लेकिन वह अपना जीवन दिखावे में बिता देते हैं । कई युवा पढ़ाई करने की वजह फिल्में देखना अपने दोस्तों के साथ घूम कर टाइम पास करना , डांस बार मैं जाकर डांस करना ,नशा करके अपना जीवन बिता रहे हैं । कुछ युवा अपने साथ साथ अपने परिवार का जीवन भी नष्ट कर रहे हैं । बदलती जीवनशैली से लोग आलसी होते जा रहे हैं पुराने समय में जब युवा आयु होती थी तो युवा सुबह उठकर घूमने के लिए जाते थे। लेकिन आज के कुछ युवा 9:00 बजे सो कर उठते हैं और रात में 12:00 बजे तक टीवी देखते हैं । वो अपने जीवन को नष्ट करने में लगे हुए हैं । आज के कई युवा किताबें पढ़ने में अपना समय व्यतीत ना करके मोबाइलों में गेम खेल कर , फिल्में देख कर, गाना सुन कर अपना टाइम पास करते हैं । जब हम पढ़ाई करने के लिए स्कूल में जाते हैं तो हमें ज्यादा से ज्यादा समय ज्ञान प्राप्त करने में लगाना चाहिए इसके बाद जो समय बचता है उस समय में खेल कूद करने में अपना समय व्यतीत करना चाहिए। जिससे हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा और हमारा दिमाग तंदुरुस्त रहेगा।

जब युवाओं के ऊपर सर्वे कराया गया तब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह बताया कि युवा वर्ग की आयु के कई लोग हर साल मर जाते हैं । यह हम सभी को बड़ी सोचने वाली बात है । कुछ लोग शराब पीने में गर्व महसूस करते हैं वह अपने आप को शराब में डुबो देते हैं । उनकी उम्र नहीं होती है शराब पीने के लायक फिर भी वह शराब पीते हैं । उन्हें लगता है कि लोग जब उन्हें शराब पी कर के देखेंगे तो उनका सम्मान होगा वह यह नहीं जानते हैं कि शराबी का कोई भी सम्मान नहीं करता है । कई युवा तो अपना दिन सोने में ही गुजार देते हैं जिसके कारण उनका शरीर का विकास नहीं हो पाता है और उनके शरीर में तरह-तरह की बीमारी हो जाती है । वह अपने जीवन को सही तरीके से नहीं जी पाता है । कुछ युवा टीवी देखने में अपना समय व्यतीत कर देते हैं इसके कारण की आंखें खराब हो जाती हैं और वह पढ़ाई में पीछे रह जाते हैं । इस जीवन शैली को बदलने की आवश्यकता है । हमें सही टाइम पर सोने की आवश्यकता है , सही टाइम पर खाना खाने की आवश्यकता है और सही टाइम पर खेलकूद करने की आवश्यकता है ।

आज हम देख रहे हैं कि युवा वर्ग खाने पीने का ध्यान नहीं दे रहा है वह बाजारों में समोसा कचोरी खा कर अपना दिन गुजार देते हैं जिसके कारण उसके पेट का फैट बढ़ जाता है और उसे बीमारी लग जाती है । इस उम्र में फल फ्रूट विटामिंस की चीजें खाना चाहिए उस समय हम तेल की निकली हुई समोसे खाते हैं जो कि नुकसानदायक होते हैं । आज जिस युवा को पढ़ाई करने में अपना समय व्यतीत करना चाहिए वह फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए टाइम पास करता रहता है । व्हाट्सएप और फेसबुक चलाने से उसको किसी तरह का कोई फायदा होने वाला नहीं है फिर भी वह टाइम पास करता रहता है । इंटरनेट पर टाइम पास करता रहता है । हमें इस शैली से बचना चाहिए और अपना पूरा दिमाग पढ़ाई में लगाना चाहिए । कुछ युवा सिगरेट तंबाकू खा कर अपने आप पर गर्व महसूस करते हैं । जब उसे कैंसर हो जाता है तब उसके साथ साथ उसके परिवार भी परेशान होता है। इसलिए युवा वर्ग में कभी भी शराब सिगरेट तंबाकू आदि का सेवन नहीं करना चाहिए जिससे हमारा शरीर खराब हो जाता है । हमें अपने इस शरीर की सुरक्षा करना चाहिए हमारा शरीर बहुत ही मूल्यवान है इसकी हमें कद्र करना चाहिए ।

दोस्तों यह आर्टिकल आधुनिक जीवन शैली पर निबंध essay on adhunik jeevan shaili in hindi आपको पसंद आए तो शेयर जरूर करें धन्यवाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *