एक धनी और कंजूस आदमी निबंध लेखन Essay on a rich and stingy man in hindi

Essay on a rich and stingy man in hindi

Rich and stingy man- दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से एक धनी और कंजूस आदमी पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल के माध्यम से एक धनी और कंजूस आदमी पर लिखे निबंध के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Essay on a rich and stingy man in hindi
Essay on a rich and stingy man in hindi

एक धनी और कंजूस आदमी के बारे में – एक धनी व्यक्ति जो बहुत ही कंजूस व्यक्ति था वह पैसों पर बहुत अधिक घमंड किया करता था । उस व्यक्ति का एक भाई भी था जो बहुत गरीब था । बचपन से ही दोनों भाई साथ में रहते थे । पर दोनों भाइयों में जो पढ़ा भाई था वह अपने पिता के बहुत करीब था । बड़ा भाई बहुत होशियार था । उसने अपने पिता से पूरी धन-संपत्ति अपने नाम करा ली थी । जब उसके पिता का देहांत हुआ था तब उसने अपने छोटे भाई को जायदाद देने से मना कर दिया था । इसके बाद उसका छोटा भाई परेशानियों में घिर  गया था और गरीब हो गया था । पर बड़े भाई को धन दौलत  मिल जाने के बाद अपने आप पर घमंड हो गया था ।

वह बहुत ही कंजूसी के साथ अपना जीवन व्यतीत करने लगा था । एक बार उसके छोटे भाई के पास पैसे नहीं थे उसके घर में उसके बीवी बच्चे भूख के मारे परेशान थे । यह परेशानी देख कर वह अपने बड़े भाई के पास गया और अपने बड़े भाई से मदद मांगने लगा था । परंतु बड़े भाई ने उसकी मदद करने से मना कर दिया था क्योंकि वह पैसों का घमंड करने लगा था । उसे अपने छोटे भाई पर तरस तक नहीं आया था । वह इतना कंजूस हो गया था कि अपने खाने पीने में भी वह कंजूसी दिखाने लगा था । वह अपनी कंजूसी के कारण पैसों को बचाने के लिए अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कूल तक नहीं भेजता था और उसका गरीब भाई अपने बच्चे को मेहनत मजदूरी करके पढ़ाने के लिए स्कूल भेजता था ।

धीरे-धीरे समय बीतता गया और उस धनी कंजूस व्यक्ति का बेटा जब बड़ा हुआ तब वह अनपढ़ रह गया और गलत संगति के साथ रहकर वह गलत कार्य करने लगा था । जब वह धीरे-धीरे अपने पिता की संपत्ति को खर्च करने लगा तब उसका पिता बहुत दुखी रहने लगा था ।  उसका छोटा भाई जो गरीब था उसका बेटा पढ़ लिखकर एक अच्छा इंसान बन गया था । कहने का तात्पर्य यह है कि एक धनी व्यक्ति को कंजूसी के साथ अपना जीवन व्यतीत नहीं करना चाहिए । कुछ ऐसे व्यक्ति होते हैं जो धन के घमंड में अपने आप को सर्वश्रेष्ठ मान लेते हैं । धन कमाना अच्छी बात है पर धन को सही समय पर उपयोग करना चाहिए । कंजूसी के साथ अपना जीवन व्यतीत नहीं करना चाहिए ।

हम जो कर्म करते हैं वह कर्म हमारे जीवन को सफलता की ओर ले जाता है । हमें कभी भी अपने शरीर को लेकर लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए । कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनके पास पैसा तो बहुत अधिक होता है पर वह अपने खाने-पीने का ध्यान  नहीं रख पाते हैं । कंजूसी से अपना जीवन व्यतीत करते हैं जिसके कारण उनको बड़ी बीमारी लग जाती है और वह परेशानी में घिर जाते है इसलिए हमें हमारे शरीर का विशेष तौर पर ध्यान रखना चाहिए । खाने पीने में शुद्ध खाना खाना चाहिए । कंजूसी से अपना जीवन व्यतीत करने से कुछ भी हासिल नहीं होता है । हमें अपने धन को सही दिशा में खर्च करना चाहिए ।

धन को खर्च करने से पहले हमें यह देखना चाहिए कि हम किस क्षेत्र में धन खर्च कर रहे हैं । कहीं हम गलत दिशा में तो नहीं जा रहे हैं । कुछ लोग ऐसे होते हैं जो धन को एकत्रित करके रखते हैं । उनको अपना धन खर्च  करने में बिल्कुल भी दिलचस्पी नहीं होती है । जो व्यक्ति धन को तिजोरी में बंद करके रखता है वह एक सफल इंसान कभी नहीं बन पाता है । मनुष्य का जीवन क्षणभंगुर होता है । हर मनुष्य को मरने के बाद दुनिया छोड़कर जानी पड़ती है इसीलिए हमें अपना जीवन सुख शांति के साथ व्यतीत करना चाहिए । धन दौलत के पीछे दौड़ कर अपना समय नष्ट नहीं करना चाहिए ।

कंजूसी के साथ जीवन जीने से कुछ भी प्राप्त होने वाला नहीं है । मैंने कई लोगों को देखा है जिसके पास पैसा तो बहुत अधिक होता है पर वह खाने-पीने में  बहुत कंजूसी करता है ना तो वह अपने शरीर के स्वास्थ्य की चिंता करता है और ना ही अपने परिवार को अच्छा भोजन खिलाता है , वह पैसों को जोड़ने में ही लगा रहता है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख एक धनी और कंजूस आदमी निबंध लेखन Essay on a rich and stingy man in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्त एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले । दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल में कुछ कमी नजर आती है तो आप हमें उस कमी के बारे में अवश्य बताएं जिससे कि हम उस कमी को दूर करके यह आर्टिकल आपके समक्ष पुनः प्रस्तुत कर सके धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *