भ्रष्टाचार का उन्मूलन एक नए भारत का निर्माण निबंध Eradicate corruption build a new India in Hindi Essay

Eradicate corruption build a new India in Hindi Essay

Eradicate corruption build – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भ्रष्टाचार का उन्मूलन एक नए भारत का निर्माण पर लिखे निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर भ्रष्टाचार का उन्मूलन एक नए भारत का निर्माण पर लिखे निबंध के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Eradicate corruption build a new India in Hindi Essay
Eradicate corruption build a new India in Hindi Essay

भ्रष्टाचार किसी भी देश के लिए सही नहीं होता है । भ्रष्टाचार के कारण ही देश का विकास रुका हुआ होता है । भ्रष्टाचार के कारण ही देश में रहने वाले मध्यम वर्ग के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है ।भ्रष्टाचार से इंसान को इंसाफ नहीं मिलता है । आज हम देख रहे हैं कि चारों तरफ भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार फैला हुआ है । जो लोग गलत तरीके से अपने कार्य को करने के लिए भ्रष्टाचार करते हैं वह लोग गरीब परिवार पर अत्याचार करते है । भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाले लोग अपने फायदे के लिए सरकारी कर्मचारियों को बढ़ावा देते हैं और पैसों के माध्यम से गलत कार्य कराकर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं ।

राजनीति से लेकर हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार का फैलाव बढ़ता जा रहा है । भ्रष्टाचार एक दयनीय स्थिति का रूप ले चुकी है । यदि भ्रष्टाचार को रोकने का आज प्रयास नहीं किया गया तो आने वाले समय में भ्रष्टाचार के कारण लोगों का जीवन बर्बाद होता जाएगा । देश के साथ-साथ लोगों को भी काफी परेशानियों का सामना भ्रष्टाचार के कारण करना पड़ेगा । भ्रष्टाचार का उन्मूलन ही एक नए भारत का निर्माण है । इसलिए भ्रष्टाचार के उन्मूलन में सभी को अपने कदम आगे बढ़ाना चाहिए ।

जो व्यक्ति अपने थोड़े से फायदे के लिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा देता है वह उन गरीब लोगों पर अत्याचार करने का कार्य करता है जो गरीब अपनी मेहनत से ईमानदारी से अपना जीवन व्यतीत करते हैं । कुछ लोग अपने फायदे के लिए गरीब लोगों का हक छीन लेते हैं । पैसों के दम पर भ्रष्टाचार करके गरीबों का हक छीनना सही नहीं है पर चारों तरफ भ्रष्टाचार फैला हुआ है । सभी लोग सिर्फ और सिर्फ अपने बारे में ही सोचते हैं । आज हमें भ्रष्टाचार उन्मूलन के बारे में सोचने की आवश्यकता है और भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने की आवश्यकता है ।

जब हम सभी लोग भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए अपने कदम आगे बढ़ाएंगे तब भ्रष्टाचार का उन्मूलन होगा और नए भारत का निर्माण होगा , सरकारी कामकाज में बढ़ोतरी होगी । देश के अंदर भ्रष्टाचार तब खत्म होगा जब सभी कर्मचारी नियमों में बंध कर कार्य करेंगे और आम नागरिक के सभी कार्य सही तरीके से ईमानदारी से किए जाएंगे और हमारा देश एक विकासशील देश बनने की ओर अग्रसर होगा । यह सब हम एक साथ मिलकर कदम से कदम मिलाकर भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाकर कर सकते हैं । यह करना कोई आसान कार्य नहीं है पर जब हम सभी भ्रष्टाचार के खिलाफ जागरूक होंगे तब यह करना मुश्किल भी नहीं होगा ।

रेलवे मे भ्रष्टाचार – आज हम देख रहे हैं कि भ्रष्टाचार किस तरह से बढ़ रहा है । हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार ही भ्रष्टाचार फैला हुआ है । इस भ्रष्टाचार को रोकने के प्रयास किए जाने लगे हैं । आज सभी लोग यह जान चुके हैं कि भ्रष्टाचार देश के विकास में , लोगों के विकास में बांधा है । रेलवे की बात करें तो अक्सर देखा गया है कि जब रेलवे का बजट आता है तब उस बजट में लोगों के फायदे के लिए कई योजनाएं प्रारंभ की जाती हैं पर जब वह योजनाएं लोगों को दी जाती हैं तब उन योजना में गड़बड़ी करके भ्रष्टाचार कर दिया जाता है ।

रेलवे के भ्रष्टाचार की बात करें तो आयोग के द्वारा रेलवे भ्रष्टाचार के बारे में यह बताया गया है की भ्रष्टाचार की सबसे ज्यादा शिकायतें आई हैं । वह शिकायतें रेलवे कर्मचारियों की है जो सबसे अधिक है । जब आयोग के द्वारा रेलवे भ्रष्टाचार की शिकायतें प्राप्त की गई तब आयोग ने बताया था कि 2017 में आयोग को रेलवे कर्मचारियों के खिलाफ मिली शिकायतें बहुत अधिक थी जो 2016 की तुलना में सबसे ज्यादा थी । रेलवे कर्मचारियों के द्वारा जो भ्रष्टाचार किया जाता है उस भ्रष्टाचार से आम नागरिकों के लिए नुकसान पहुंचता है ।

रेलवे के जो कर्मचारी होते हैं वह अपने थोड़े से फायदे के लिए ऐसे लोगों का हक छीन कर उन लोगों को वह हक दे देते हैं जो उस हक का हकदार नहीं होता है । केंद्र सरकार रेलवे केे भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कमर कस चुकी है और भारत सरकार के द्वारा रेलवे में हो रहे भ्रष्टाचार को रोकने के लिए ,  लोगों को जागरूक करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं । भारत सरकार के द्वारा भ्रष्टाचार विरोधी सतर्कता हेल्पलाइन सुविधा भी भारतीय नागरिकों को दी गई है । यदि कोई रेलवे कर्मचारी अपने थोड़े से फायदे के लिए रिश्वत मांगता है या रिश्वत लेने के इरादे व्यक्त करता है तो भारतीय नागरिक भ्रष्टाचार विरोधी सतर्कता हेल्पलाइन 155210 पर कॉल लगाकर उस कर्मचारी के खिलाफ मामला दर्ज करा सकता है । यदि वह कर्मचारी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही रेलवे विभाग के द्वारा की जाती है ।

प्रशासन में भ्रष्टाचार के कारन एवं उपाय – आज हम देख रहे हैं कि प्रशासन में भी काफी भ्रष्टाचार फैला हुआ है ।प्रशासन के कर्मचारी अपने फायदे के लिए भ्रष्टाचार फैला रहे हैं । भ्रष्टाचार से देश को काफी नुकसान हो रहा है । भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा कारण है लोगों की सोच । जब लोग अपने थोड़े से फायदे के लिए रिश्वत देते हैं तब प्रशासन के अधिकारी रिश्वत लेकर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देते हैं । जब कोई व्यक्ति  प्रशासन के कर्मचारियों के माध्यम से अपने कार्य को जल्द से जल्द और गलत तरीके से कराने के लिए रिश्वत देता है तब वह रिश्वत भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती है जिसके कारण आम नागरिकों के कार्य सही समय पर नहीं हो पाते ।

जो व्यक्ति रिश्वत देता है उसके कार्य सबसे पहले हो जाते हैं । यदि प्रशासन मे हो रहे भ्रष्टाचार को  रोका नहीं गया तो आम नागरिक भ्रष्टाचार के खिलाफ  खड़े होगें ।  भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए आम नागरिकों को जागरूक होना होगा । जो व्यक्ति भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहा है उस व्यक्ति के खिलाफ आम नागरिको को आवाज उठानी होगी ।

सरकारी कार्यालय में भ्रष्टाचार के कारण परिवर्तन – सरकारी कार्यालय में भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा कारण है आम नागरिक का जागरूक ना होना । सरकारी कर्मचारी उन लोगों के कार्य को करने में विश्वास रखते हैं जो रिश्वत देता है । जो व्यक्ति रिश्वत देता है उसके कार्य जल्द से जल्द कर दिए जाते हैं और जो व्यक्ति रिश्वत नहीं देता है उसके कार्य को देर से किया जाता है । भ्रष्टाचार के कारण काफी परिवर्तन देखा गया है । भ्रष्टाचार के कारण गरीबी निरंतर बढ़ती जा रही है क्योंकि सरकार के द्वारा जो योजनाएं गरीब लोगों को प्रारंभ की जाती है उन योजनाओं का लाभ भ्रष्टाचार के कारण गरीबों को नहीं मिल पाता है ।

गरीब लोगों को मिलने वाला लाभ वह लोग प्राप्त कर लेते हैं जो पहले से ही अमीर होते हैं । सरकारी कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारी अधिक पैसा कमाने के लिए भ्रष्टाचार करते हैं । आज जब कोई व्यक्ति सरकारी कर्मचारी से किसी कार्य को कराने के लिए जाता है तब वह अपने मन में यही सोचता है कि हमारा काम तब तक नहीं होगा जब तक कि हम रिश्वत नहीं दे देंगे । रिश्वत के फैलते हुए कदम के कारण सरकारी कर्मचारियों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं ।भारत सरकार सरकारी दफ्तरों में हो रहे भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कई कदम उठा रही है पर सरकार के साथ-साथ आम नागरिकों को भी भ्रष्टाचार रोकने के लिए जागरूक होना चाहिए ।

जो सरकारी कर्मचारी रिश्वत लेने की बात करें तब आम नागरिक को उस  कर्मचारी के खिलाफ आवाज उठाना चाहिए ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त लेख भ्रष्टाचार का उन्मूलन एक नए भारत का निर्माण निबंध Eradicate corruption build a new India in Hindi Essay यदि आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब अवश्य करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *