धोबी समाज का इतिहास Dhobi caste history in hindi

Dhobi caste history in hindi

Dhobi caste – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से धोबी समाज के इतिहास के बारे में बताने जा रहे हैं तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर धोबी समाज के इतिहास के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Dhobi caste history in hindi
Dhobi caste history in hindi

धोबी समाज के बारे में – धोबी समाज आज जो पिछड़ा वर्ग में आता है । धोबी समाज का जन्म  मूलनिवासियों मे हुआ था । ऐसा कहा जाता है कि जब भारत पर आर्यों का आक्रमण हुआ इससे पहले धोबी समाज खेती , पशुपालन ही किया करते थे । भारतीय हिंदू ग्रंथ में भी धोबी समाज के बारे में बताया गया है । भारत देश में कई जाति के लोग निवास करते हैं उन्ही जातियों में एक धोबी समाज भी निवास करती है । भारत सरकार के द्वारा धोबी नाम के स्थान पर रजक समाज लिखा जाने लगा है । धोबी समाज के द्वारा कई ऐसे कार्य किए गए हैं जिस कार्य की प्रशंसा आज भी की जाती है ।

जब राम भगवान बनवास के लिए जा रहे थे तब उनकी मुलाकात एक धोबी से हुई थी । इसके साथ-साथ भारत में धोबी समाज का काफी योगदान रहा है । जब भारत देश ब्रिटिश शासन के अधीन था तब धोबी समाज के कई देशभक्त थे जिनके द्वारा देश की आजादी के लिए अपने प्राण तक गंवा दिए गए थे । जब ब्रिटिश शासन के दौरान जलियांवाला बाग हत्याकांड हुआ तब जलियांवाला बाग हत्याकांड में धोबी समाज के नत्थू धोबी का योगदान था जिस योगदान को कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है । भारत देश में धोबी समाज सभी राज्यों , सभी जिलों में निवास करती हैं ।

जब भारत देश पर आर्यों का आक्रमण हुआ तब भारत देश की सभी मूलनिवासी जातियां अन्य जातियों में बट गई थी जिसमें एक धोबी समाज भी थी । आर्यों के आक्रमण से पहले भारत की सभी मूलनिवासी जातियां एक साथ बिना भेदभाव के रहती थी । जब आर्यों का आक्रमण हुआ तब सभी मूलनिवासी जातियां कई जातियों में बट गई और  जाति प्रथा जैसी बुराइयां उत्पन्न हुई थी । आर्यों के आक्रमण से पहले धोबी समाज मे किसी भी तरह का कोई भी भेदभाव नहीं किया जाता था । जब आर्यों का आक्रमण हुआ तब धोबी समाज की उत्पत्ति हुई और कई तरह के भेदभाव किए गए थे ।

जब भारत देश आजाद हुआ तब भारत सरकार के द्वारा धोबी समाज में कई बदलाव किए गए थे और धोबी की जगह रजक शब्द का उपयोग किया जाने लगा था । ऐसा कहा जाता है कि जब आर्यों का आक्रमण हुआ तब आर्यों के द्वारा व्यक्ति के काम के हिसाब से उसे जाती दी गई थी । धोबी कपड़े धोने का काम करते थे इसलिए धोबी समाज को धोबी कहां गया था । धोबी समाज की कुलदेवी का नाम मरी माता है ।

दोस्तों तुम्हारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन आर्टिकल धोबी समाज का इतिहास Dhobi caste history in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करना ना भूले । दोस्तों यदि  इस लेख को पढ़ते समय इस लेख में आपको कुछ गलती नजर आए तो आप हमें कृपया कर उस गलती के बारे में हमारी ईमेल आईडी पर हमें अवश्य बताएं जिससे कि हम उस गलती को सुधार कर यह आर्टिकल आपके समक्ष पुनः प्रस्तुत कर सकें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *