नारियल का पेड़ आत्मकथा Coconut tree autobiography in hindi

Coconut tree autobiography in hindi

Coconut tree – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से नारियल के पेड़ की आत्मकथा के बारे में बताने जा रहे हैं । तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर नारियल के पेड़ की आत्मकथा के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Coconut tree autobiography in hindi
Coconut tree autobiography in hindi

मैं एक नारियल का पेड़ बोल रहा हूं , मैं आप लोगों को एक स्वादिष्ट नारियल देता हूं । मेरा उपयोग लोग तेजी से कर रहे हैं । मैं एक बहु बर्षी और एक बीज पत्री पौधे के रूप में जन्म लेता हूं । मेरे जो तने होते हैं वह लंबे होते हैं । । मेरे जो लंबे लंबे तने होते हैं उन तने के ऊपरी सतह पर लंबी-लंबी पत्तियों का मुकुट होता है जो देखने में सुंदर और अद्भुत दिखाई देता है । मेरा जन्म समुद्री इलाके में सबसे अधिक होता है । समुद्री इलाके के साथ-साथ मेरा जन्म नमकीन स्थान पर भी होता है । मेरे जन्म के बाद लोगों को एक फल प्राप्त होता है और उस फल का उपयोग लोग करते हैं ।

मेरे द्वारा नारियल आप सभी लोगों को प्राप्त होता है और  नारियल का पानी पीने के बाद शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त हो जाता है । मेरे जन्म के बाद तकरीबन 15 वर्षों के बाद मुझ में फल लगना प्रारंभ होते हैं । जब मुझमें फल लगने लगते हैं तब मेरी सुंदरता और भी अद्भुत सुंदर दिखाई देने लगती है । मेरे जन्म के बाद कई लोग मेरे माध्यम से नारियल प्राप्त करके अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं । मेरे द्वारा व्यापार के क्षेत्र में काफी उन्नति हुई है । मेरे द्वारा जो फल दिया जाता है उस फल का उपयोग कई तरह से किया जाता है ।

मेरे फल का उपयोग मंदिरों में  चढ़ा कर किया जाता है । हिंदू धर्म में यह मान्यता है कि मंदिर में नारियल चढ़ाने से भगवान प्रसन्न होते हैं । मेरी ऊंचाई 60 फुट से तकरीबन 2 फुट तक रहती है । जो व्यक्ति मेरे जन्म के बाद मेरी देखरेख करता है वह कई सावधानियां रखता है क्योंकि जब मैं बड़ा होकर स्वादिष्ट फल देता हूं तब वह व्यक्ति उस फल का उपयोग करता है । जो व्यक्ति मेरी देखरेख करता है वह व्यक्ति मेरी निरंतर वृद्धि के लिए मेरे जड़ों में पोटाश नाइट्रोजन और गोबर खाद डालकर मेरा निरंतर विकास करने के लिए डालता है ।

यदि मेरे जन्म के बाद मेरी देखरेख अच्छी तरह से नहीं की जाती तो मैं अधिक समय तक जीवित नहीं रह पाता हूं । मैं हर स्थान पर नहीं जन्म ले सकता हूं । मैं सिर्फ समुद्री इलाके और खारे स्थान पर ही जन्म ले सकता हूं । मेरी निरंतर वृद्धि के लिए जब व्यक्ति पोटाश , गोबर खाद , नाइट्रोजन डालता है तब मेरा विकास निरंतर धीरे-धीरे बढ़ता चला जाता है । मेरे विकास के लिए , मेरी वृद्धि के लिए 3 पाउंड अमोनियम सल्फेट की आवश्यकता होती है । यदि 3 पाउंड अमोनियम सल्फेट मुझे प्रतिवर्ष नहीं दिया जाता है तो मेरा विकास रुक जाता है ।

मुझे अमोनियम सल्फेट के साथ-साथ एक से 2  पाउंड पोटेशियम सल्फेट की भी आवश्यकता होती है । जब मुझे प्रतिवर्ष 1 से 2 पाउंड पोटेशियम सल्फेट मिल जाता है तब मेरा विकास निरंतर तेज गति से बढ़ता रहता है । मैं आप लोगों को एक स्वादिष्ट फल दे सकूं और जल्द से जल्द नारियल आपको प्राप्त हो सके इसके लिए मुझे प्रतिवर्ष 10 से 20 पाउंड राख की आवश्यकता होती है । जब मुझे राख प्राप्त होती है तब मेरे अंदर वृद्धि की शक्ति बढ़ती जाती है और मैं तुरंत वृद्धि करता रहता हूं ।

मेरे विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है गोबर इसलिए मुझे प्रतिवर्ष 200 पाउंड गोबर की आवश्यकता होती है । गोबर खाद के माध्यम से मेरा विकास बहुत तेज गति से होता है । जब इन सभी रसायनों को मुझे दिया जाता है तब मेरा विकास निरंतर बढ़ता जाता है । जो व्यक्ति मेरे फल का सेवन करता है वह तंदुरुस्त रहता है ।जब मंदिरों में मुझे चढ़ाया जाता है तब मेरा उपयोग सभी प्रसाद के रूप में करते हैं । भारत देश में मेरा उपयोग बहुत तेज गति से किया जा रहा है ।

भारत देश में तकरीबन मुझे 1600000 एकड़ भूमि में जन्म दिया जा रहा है क्योंकि भारत देश में मेरे फल का उपयोग बहुत तेज गति से किया जाता है । भारत देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी मेरा उपयोग किया जाता है । भारत देश के केरल , मद्रास , मैसूर , पश्चिम बंगाल , आंध्रप्रदेश , महाराष्ट्र ,  उड़ीसा , लक्ष्यदीप , अरब सागर , बंगाल की खाड़ी , अंडमान एवं निकोबार जैसे राज्यों में मेरी उत्पत्ति बहुत तेज गति से हो रही है ।

जब आप लोग मेरे द्वारा दिए गए फल नारियल के पानी का सेवन करोगे तब आपको पता चलेगा कि मैं कितना अच्छा पेड़ हूं और मैं सुंदर दिखने के साथ-साथ एक स्वादिष्ट फल भी आप लोगों को देता हूं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन आर्टिकल नारियल के पेड़ की आत्मकथा Coconut tree autobiography in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों एवं रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूले धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *