चेतन हांडा बायोग्राफी (जीवन परिचय) इन हिंदी Chetan handa biography in hindi

Chetan handa biography in hindi

Chetan handa – दोस्तों आज हम आपको इस बेहतरीन लेख के माध्यम से नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के सफल इंसान चेतन हांडा के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर चेतन हांडा के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Chetan handa biography in hindi
Chetan handa biography in hindi

Image source –https://radaris.com/p/Chetan/Handa/

चेतन हांडा के परिवार एवं जन्म स्थान के बारे में – चेतन हांडा नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में सफल इंसान हैं । चेतन हांडा एक गरीब फैमिली से बिलोंग करते थे । चेतन हांडा का जन्म उत्तर प्रदेश राज्य के सहारनपुर जिले के मोहल्ला जाफर नवाज में हुआ था । उनके पिता मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार की रोजी-रोटी चलाते थे । चेतन हांडा का परिवार गरीब था । चेतन हांडा के पिता कड़ी मेहनत करके अपने परिवार की जरूरतों को पूरा करते थे । चेतन हांडा के दो भाई एवं दो बहने हैं जिनसे चेतन हांडा को बहुत प्रेम है ।

जब से चेतन हांडा ने अपने कैरियर को बनाने का निर्णय लिया था तब से वह निरंतर सफल इंसान बनने के लिए मेहनत करते रहते हैं । चेतन हांडा अपने परिवार की गरीबी से बहुत परेशान थे इसलिए चेतन हांडा ने अपने प्रारंभिक जीवन काल में सफल इंसान बनकर पैसा कमाने का निर्णय लिया था । चेतन हांडा अपने पिताजी के काम में हाथ बटाते थे । चेतन हांडा के पिता ने दिल्ली में काम करने का विचार बनाया और वह उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले से अपने परिवार को लेकर दिल्ली चले गए थे और वहां पर अपना जीवन यापन करने लगे थे ।

चेतन हांडा के पिता ने दिल्ली के खियाला के विष्णु गार्डन में एक मकान किराए से लिया था और उस मकान का किराया ₹700 था । एक कमरे में पूरा परिवार यानी सात व्यक्ति रहते थे । छोटे से कमरे में अपने परिवार के साथ चेतन हांडा जीवन व्यतीत करने लगे थे । वह मौके की तलाश में इधर-उधर भटकते रहते थे । पढ़ाई करके अपने जीवन को सफल बनाने का मकसद चेतन हांडा जी ने बना लिया था । इसलिए वह पढ़ाई करने लगे थे । चेतन हांडा को अपनी बहन की शादी की बहुत फिक्र थी ।

अपनी बहन की शादी वह बहुत धूमधाम से करना चाहते थे । इसलिए वह निरंतर पैसा कमाने के लिए  घूमते रहते थे । अपने सभी दोस्तों से चेतन हांडा एक अच्छी जॉब ढूंढने के लिए कहते थे । चेतन हांडा शुरू से ही गरीबी में घिरे हुए रहे हैं । चेतन हांडा निरंतर गरीबी से बाहर निकलने के प्रयास करते रहते थे । चेतन हांडा जब किसी काम को करते थे पूरा दिल लगाकर उस काम को सफलता की ओर ले जाते थे । चेतन हांडा आज एक सफल इंसान हैं ।

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में चेतन हांडा जी ने अपने नाम का डंका बजा दिया हैंं । जीरो लेवल से चेतन हांडा ने अपने कैरियर की धमाकेदार शुरुआत की थी । आज चेतन हांडा एक सफल इंसान हैं । चेतन हांडा की काबिलियत  सभी लोग पहचान चुके हैं । चेतन हांडा ने अपनी मेहनत , लगन से नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में सफलता प्राप्त की है । बहुत से व्यक्ति चेतन हांडा के बताए रास्ते पर चलकर सफल होने की कोशिश करते हैं क्योंकि  चेतन हांडा को जीरो लेवल से सफलता की ऊंचाई पर पहुंचने के राज मालूम है ।

जब चेतन हांडा का कोई प्रोग्राम होता है तब दूर-दूर से लोग उनके सेमिनार में जाते हैं और चेतन हांडा की स्पीक सुनकर अपने आप को पॉजिटिव करते हैं । चेतन हांडा की स्पीक पॉजिटिव एनर्जी हम सभी को प्राप्त होती है ।

चेतन हांडा की प्रारंभिक शिक्षा के बारे में – चेतन हांडा गरीब परिवार से ताल्लुक रखते थे इसलिए वह सरकारी स्कूल में शिक्षा प्राप्त करने के लिए जाते थे । चेतन हांडा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश के सहारन जिले के एक सरकारी स्कूल से प्राप्त की है । जहां से चेतन हांडा ने दसवीं क्लास तक पढ़ाई की है । दसवीं पास करने के बाद चेतन हांडा अपने पिता के साथ दिल्ली में आकर रहने लगे थे । दिल्ली के ही एक सरकारी स्कूल से चेतन हांडा ने 11वीं और 12वीं की पढ़ाई की थी ।

12वीं क्लास पास करने के बाद चेतन हांडा अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाना चाहते थे । परंतु उनके पिता की कमाई इतनी नहीं हो पाती थी जिस कमाई से चेतन हांडा अपनी आगे की पढ़ाई कर सकें । चेतन हांडा ने अपने आगे की पढ़ाई करने के लिए छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने लगे थे । ट्यूशन के माध्यम से जो पैसा आता था उस पैसे से चेतन हांडा अपनी आगे की   पढ़ाई करते थे । चेतन हंडा 12वीं क्लास पास करने के बाद दिल्ली के ही एक सरकारी कॉलेज में पढ़ाई करने लगे थे । जहां से  चेतन हांडा बीएससी की पढ़ाई करने लगे थे ।

बीएससी से चेतन हांडा ऑनर्स फिजिक्स सब्जेक्ट से पढ़ाई करने लगे थे और इसी कॉलेज से चेतन हांडा ने अपना ग्रेजुएशन पूरा किया था । चेतन हांडा अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद  एक सफल इंजीनियर बनना चाहते थे । उनका सपना था कि वह पढ़ लिखकर एक इंजीनियर बने । परंतु उनके पास पैसों की कमी के कारण चेतन हंडा को इंजीनियर बनने का सपना बीच में ही छोड़ना पड़ा था । इसके बाद वह एमएससी की पढ़ाई करने लगे थे ।

एमएससी की पढ़ाई वह ट्यूशन पढ़ा कर ट्यूशन की फीस से एमएससी की पढ़ाई करते थे । परंतु उनको ज्यादा समय नहीं मिल पाता था । इसलिए चेतन हांडा ने फाइनल ईयर से अपनी पढ़ाई छोड़ दी थी । इसके बाद वह निरंतर छोटे बच्चों को ट्यूशन पढ़ाते और अपने परिवार की जरूरतों को पूरा करने लगे थे , अपने पिता का साथ देने लगे थे । इस तरह से चेतन हांडा जी ने पैसों के कारण अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी । जिसके बाद चेतन हांडा यह समझ चुके थे कि अब उन्हें एक सफल इंसान बनने के लिए निरंतर मेहनत करना पड़ेगी और वह मेहनत करते रहते थे ।

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में अपने कैरियर की शुरुआत – चेतन हांडा अपने परिवार की गरीबी को दूर करना चाहते थे । इसलिए चेतन हांडा निरंतर सफल इंसान बनने के रास्ते ढूंढते रहते थे । एक बार उनके पिता ने जब चेतन हांडा को जॉब करने की सलाह दी थी तब चेतन हांडा ने अपने मित्र से जॉब दिलाने के लिए कहा था । चेतन हांडा के कहने पर उनके एक मित्र उनके घर पर मिलने के लिए आए और चेतन हांडा के मित्र ने चेतन हंडा से कहा कि तुम उस दिन पूछ रहे थे कि कोई जॉब में वैकेंसी हो तो बताना ।

एक बढ़िया काम है जिस काम को करके हम एक सफल इंसान बन सकते हैं । चेतन हांडा ने उस व्यक्ति के साथ जाना तय कर लिया था । जब उनका मित्र चेतन हांडा को एक मीटिंग में ले गया था तब वहां पर एक सफल इंसान बनने के बारे में बताया जा रहा था । चेतन हांडा ने उसी समय यह तय कर लिया था कि मैं इस काम को अवश्य करूंगा और उस समय चेतन हांडा ने यह सोचा की भगवान ने ही शायद यह रास्ता मुझे बताया है ।

जिस तरह से नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में अपनी डाउनलाइन को प्लान किया जाता है और प्लान करने के बाद व्यक्ति से एक बार फिर मिला मिला है । उसी तरह से उनका मित्र उनको नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में काम करने के तरीके बता रहा था । परंतु चेतन हंडा अपने मित्र की बातों पर ध्यान नहीं दे रहे थे क्योंकि उनका मित्र अनपढ़ था और चेतन हांडा जी पढ़े लिखे थे । उनका मित्र चेतन हांडा जी से कह रहा था कि तुम लिस्ट बनाओ और काम करो , बिजनेस की ट्रेनिंग लो , प्रोडक्ट की ट्रेनिंग लो और इस कंपनी में काम करके बहुत सारा पैसा कमाओ ।

परंतु चेतन हांडा ने ऐसा नहीं किया । चेतन हांडा काम करते गए  तकरीबन चेतन हांडा ने 40 से 50 लोगों को प्लान बता दिया था । परंतु एक भी जॉइनिंग नहीं डली थी । चेतन हांडा परेशान हो गए थे । कई समय तक चेतन हांडा ने काम किया जब कोई रिजल्ट नहीं निकला तब चेतन हांडा घर पर बैठ गए थे । उनके मित्र ने सोचा कि एक बार और चेतन हंडा को इस कंपनी के बारे में बताया जाए और उनका मित्र उनसे मिलने के लिए चेतन हांडा के घर पर चला गया था ।

चेतन हंडा से उनकेे मित्र ने कहा कि यार तुम इस बेहतरीन कंपनी में काम क्यों नहीं कर पा रहे हो । चेतन हांडा ने कहा कि हे मित्र काम बढ़िया है इस काम से एक सफल इंसान बना जा सकता है । परंतु यह काम मेरे लायक नहीं है । मैं इस काम को नहीं कर सकता हूं इसलिए मैंने इस कंपनी को छोड़ दिया है । उनके मित्र ने उनसे कहा कि इस कंपनी को छोड़ने की बात है तो तुम कभी भी छोड़ सकते हो । परंतु मेरे कहने पर एक बार और तुम इस कंपनी में काम करो । मैं तुम्हें बताता हूं वैसा ही करना । यदि कुछ रिजल्ट ना निकले तो तुम इस कंपनी को छोड़ देना ।

अपने मित्र की बात मानकर चेतन हांडा फिर से कंपनी में काम करने के लिए तैयार हो गए थे ।उनके मित्र चेतन हंडा को एक मीटिंग में लेकर गए थे । जहां पर सफल व्यक्तियों की स्पीक चल रही थी । जब चेतन हांडा ने यह सुना थी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में एक सफल इंसान बनने के लिए क्या-क्या करना चाहिए तब चेतन को अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंने अपने मित्र से कहा कि शायद मैं भी इस कंपनी के नियमों पर नहीं चल रहा था इसीलिए मैं लोगों को इस कंपनी से नहीं जोड़ पाया था । परंतु अब मैं पूरी तरह से एक सफल इंसान बनने के लिए तैयार हू ।

इस तरह चेतन हंडा नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में सन 1998 मैं अपने कैरियर की धमाकेदार शुरुआत की थी । उन्होंने धीरे-धीरे काम करना प्रारंभ किया और थोड़े ही समय में उन्होंने बहुत ज्यादा सफलता प्राप्त की । उनका अमाउंट लाखों में आने लगा था । परंतु कुछ समय बाद उनके नेटवर्क में गिरावट आने लगी थी । उनकी डाउन लाइन में नेगेटिविटी फैलने लगी थी । चेतन हांडा इस बात से बहुत परेशान थे । चेतन हांडा ने यह निश्चय किया कि अपने अपलाइन की सहायता से अपनी टीम को टूटने से रोकना होगा ।

चेतन हांडा अपने बड़े सीनियर के पास गएं और अपने बड़े सीनियर से चेतन हांडा ने कहा कि मेरी टीम में मेरे डाउनलाइन के लोग कह रहे हैं कि इस कंपनी के प्रोडक्ट महंगे हैं , इस कंपनी में कम कमीशन मिलता है । चेतन हांडा के सीनियर ने कहा कि तुम्हारी टीम में ऐसा क्यों हो रहा है ।  पूरे भारत में अपना बिजनेस चल रहा है लेकिन किसी भी टीम से इस तरह की शिकायत नहीं आ रही है । इस तरह से चेतन हांडा ने अपनी डाउनलोड को समझाया लेकिन डाउनलाइन समझने के लिए तैयार नहीं थी । चेतन हांडा की पूरी टीम तहस-नहस हो गई थी ।

इसके बाद वह पुनः घर पर बैठ गए थे । उनके मित्र ने चेतन हांडा को  फिर से मिलने  के  लिए बुलाया था । उसके बाद एक सेमिनार में चेतन हांडा अपनेे मित्र के साथ सेमिनार देखने के लिए  गए थे और उस सेमिनार से उनको पॉजिटिव एनर्जी प्राप्त हुई थी । पॉजिटिव एनर्जी प्राप्त होने के बाद उन्होंने नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में दोबारा से धमाकेदार शुरुआत की थी । इसके बाद चेतन हांडा एक सफल इंसान बनने की ओर बढ़ चुके थे और उन्होंने अपनी मेहनत से अपनी एक नई टीम बनाने का प्रयास किया ।

जब नेटवर्क टूट गया था तब मात्र उनके पास तीन व्यक्ति ही बचे हुए थे ।चेतन हांडा ने अपने 3 व्यक्तियों के साथ मिलकर मेहनत करना प्रारंभ किया और नई टीम बनाने का निर्णय लिया ।इसके बाद टीम बनाते चले गए और कभी भी उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा । आज चेतन हांडा नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में एक सफल व्यक्ति के रूप में पहचाने जाते हैं ।चेतन हांडा ने अपनी मेहनत और लगन से काम करते हुए नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में सफलता प्राप्त की है ।

जब चेतन हांडा सेमिनार में स्पीक देते हैं तब काफी लोग चेतन हांडा की स्पीक को सुनने के लिए आते हैं और पॉजिटिव एनर्जी प्राप्त करते हैं । चेतन हांडा के अंदर पॉजिटिव एनर्जी कूट-कूट कर भरी हुई है । चेतन हांडा जब भी अपनी डाउनलाइन से मिलते हैं तब वह अपनी डाउन लाइन को नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में सफल होने के रास्ते बताते रहते हैं । जो भी व्यक्ति चेतन हांडा की स्पीक को सुनता है वह सफलता अवश्य प्राप्त कर लेता है । चेतन हांडा ने अपनी गरीबी को दूर करने के लिए एम एल एम कंपनी में काम करने का निर्णय लिया था ।

चेतन हांडा जी अपनी स्पीक में कहते रहते हैं की यदि किसी व्यक्ति को एक सफल इंसान बनना है तो सबसे पहले उस व्यक्ति को अपनी सोच बदलने की आवश्यकता होती है । यदि हम अपनी सोच नहीं बदलेंगे तो हम अपने जीवन में सफल इंसान नहीं बन सकते हैं । जो भी व्यक्ति सफल है यदि हम उस व्यक्ति से सफलता के राज पूछेंगे तो वह व्यक्ति यही कहेगा कि एक सफल इंसान बनने के लिए अपनी सोच को पॉजिटिव रखना पड़ेगी । यदि हम अपने सपने बनाएं और अपने सपने को पूरा करने के लिए काम करें तो हम अपने जीवन में एक सफल इंसान अवश्य बन सकते हैं ।

इस तरह से कई सेमिनार में चेतन हांडा जी लोगों को सफल होने के राज बताते रहते हैं । कई व्यक्ति चेतन हांडा स्पीक सुनने के बाद   एक सफल इंसान बनने में सफल हुए हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख चेतन हांडा की जीवनी Chetan handa biography in hindi यदि आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें धन्यवाद ।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *