बिल्ली पर कविता Billi mausi hindi poem

Billi mausi hindi poem

दोस्तों कैसे हैं आप सभी,आज की हमारी बिल्ली मौसी पर लिखी कविता आपको जरूर ही पसंद आएगी बिल्ली जिसको चूहे बहुत पसंद होते हैं जो अक्सर हमारे गांव शहर के घरों में आती रहती है और घर के चूहों को खाती है.बिल्ली एक मांसाहारी जीव है लेकिन यह दूध,दही, रोटी आदि भी खा लेती है कुछ लोग बिल्ली को पालना भी पसंद करते हैं.वह बिल्ली को अपने घर में पालकर उसकी सेवा करते हैं बिल्ली शेर की मौसी भी कहलाती है इसकी और शेर की शक्ल भी मिलती जुलती है वैसे ये इंसानो से थोड़ा डरती है लेकिन बिल्ली को अगर कोई परेशान करे तो वह आक्रमक रूप भी ले लेती है

बिल्ली पर लिखी हमारी कविता वास्तव में बच्चों को जरुर पसंद आएगी चलिए पढ़ते है हमारी इस कविता को

Billi mausi hindi poem
Billi mausi hindi poem

जबसे बिल्ली मौसी आई है
घर में चूहों की हो रही धुनाई है
बिल्ली मौसी और सुनाओ कहां कहां से आई हो
जंगल के राजा शेर से में मिलकर आई हूं

बिल्ली मौसी भागती चूहो के पीछे भागती
ना वो किसी से डरती आंखों से डराके भागती
जबसे बिल्ली मौसी आई है
घर में चूहों की हो रही धुनाई है

बिल्ली मौसी और सुनाओ और क्या तुम खाओगी
दूध दही और चूहो को में मजे से खाऊंगी
जबसे बिल्ली मौसी आई है
घर में चूहों की हो रही धुनाई है

Related-चूहा और बिल्ली की कहानी Cat and rat story in hindi

दोस्तो हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Billi mausi hindi poem पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारी ये कविता Billi mausi hindi poem केसी लगी जिससे इसी तरह के नये नये आर्टिकल लिखने के प्रति हमे प्रोत्साहन मिल सके.इसी तरह के और भी नए-नए आर्टिकल सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारी किसी भी पोस्ट को आप छोड़ ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *