बिहार दिवस पर निबंध bihar diwas essay in hindi

bihar diwas essay in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं बिहार दिवस पर निबंध । चलिए अब हम पढ़ेंगे बिहार दिवस पर निबंध।

बिहार की उत्पत्ति 1912 में हुई थी । जब मगध का विभाजन किया गया तब बिहार की उत्पत्ति हुई थी। समय बीतने के साथ साथ बिहार से उड़ीसा राज्य को सन 1935 में अलग कर दिया था । बिहार की राजधानी पटना है ,यहां का सबसे बड़ा शहर पटना है। बिहार पहले मगध के नाम से जाना जाता था जब बिहार का विभाजन किया गया तब बिहार नाम इस राज्य का रखा गया था । बिहार राज्य में 38 जिले हैं जब हमारा देश आजाद हुआ तब बिहार में से झारखंड को अलग कर दिया गया था ।

bihar diwas essay in hindi
bihar diwas essay in hindi

बिहार राज्य भारत के अन्य राज्यों में से एक है । यह राज्य सबसे अच्छा राज्य माना जाता है भारत के कई महान पुरुष बिहार में जन्मे हैं । प्राचीन समय के कई राजा जिन्होंने अपनी शक्ति के दम पर भारत पर राज किया था । हमारे भारत के वरिष्ठ राजा अशोक सम्राट, चंद्रगुप्त मौर्य ,समुद्रगुप्त ,राजा विक्रमादित्य यह ऐसे चार राजा थे जिनका जन्म बिहार में हुआ था । बिहार भारत का पहला गणराज्य था । बिहार विभाजन होने के बाद जब हमारा देश अंग्रेजों से आजाद हुआ तब बिहार से झारखंड को भी अलग किया गया था ।

बिहार में हर साल 22 मार्च को बिहार दिवस मनाया जाता है । उस दिन सभी सरकारी संस्थानों की छुट्टी होती है , बैंकों की छुट्टी होती है । उस दिन सभी खुशियां मनाते हैं स्कूलों में प्रोग्राम ,डांस होते हैं । बिहार के नेता सभी को संबोधित करते हैं ,बधाइयां देते हैं । कई तरह के सांस्कृतिक कार्यक्रम बिहार दिवस के दिन किए जाते हैं । वहां के युवाओं को संबोधित किया जाता है उनको आगे बढ़ने के रास्ते दिखाए जाते हैं । 22 मार्च को बिहार दिवस के दिन वहां के मुख्यमंत्री के द्वारा लोगों को बधाइयां दी जाती हैं ।

बिहार में 22 मार्च को सभी बिहार दिवस धूमधाम से मनाते हैं । बिहार दिवस मनाने की तैयारियां 1 महीने पहले से ही की जाती हैं । सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों को सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कहा जाता है । वह एक महीना पहले से ही तैयारियां करते हैं ,डांस ,गाने का रिहर्सल करते हैं । जब 22 मार्च को बिहार दिवस मनाया जाता है तब सभी स्टेज पर आकर सांस्कृतिक कला दिखाते हैं । बिहार दिवस के दिन सभी को बधाइयां दी जाती हैं । बिहार दिवस के दिन जो बच्चे प्रतियोगिता में भाग लेते हैं और प्रतियोगिता को जीतते हैं उनको सम्मान के साथ पुरस्कार दिया जाता है । बिहार में बिहार दिवस बड़े धूमधाम से मनाया जाता है ।

बिहार दिवस के दिन कई स्कूलों एवं कॉलेजों में निबंध प्रतियोगिता भी रखी जाती है और सभी उस निबंध प्रतियोगिता में भाग लेते हैं जो व्यक्ति इस प्रतियोगिता को जीतता है उसको इनाम दी जाती है । बिहार दिवस के दिन स्कूलों के कार्यक्रम में गणमान्य व्यक्तियों को बुलाया जाता है और उनको बच्चों के लिए भाषण देने के लिए कहा जाता है । वह बच्चों को सीख देते हैं कि वह अपने जीवन में किस तरह से सफलता प्राप्त कर सकते हैं । जब बच्चे स्टेज पर आकर सांस्कृतिक कला दिखाते हैं तब उनका अभिनंदन किया जाता है उनको पुरस्कार दिया जाता है ।

जब बच्चे पुरस्कार लेते हैं तो उन्हें बड़ी खुशी होती है । बिहार दिवस के दिन स्कूलों के कार्यक्रम में जो गणमान्य व्यक्ति आते हैं वह बिहार के इतिहास को दोहराते हैं । बच्चों को बताते हैं की बिहार में किन किन महापुरुषों ने जन्म लिया है । वह बच्चों को बिहार की उपलब्धि को भी बताते हैं । बिहार में कई महापुरुषों ने जन्म लिया था सीखो के महा गुरु गुरु गोविंद सिंह जी का जन्म भी बिहार के पटना जिले में हुआ था जो कि आज बिहार की राजधानी है । बिहार में सबसे बड़ा विश्वविद्यालय मौजूद है जहां पर पूरे देश के कई लोग शिक्षा लेने के लिए जाते हैं । नालंदा विश्वविद्यालय दुनिया का सबसे पुराना विश्वविद्यालय भी माना जाता है जो कि बिहार में स्थित है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल बिहार दिवस पर निबंध bihar diwas essay in hindi आपको अच्छा लगे तो शेयर जरूर करें धन्यवाद ।

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *