भेदभाव पर निबंध Bhedbhav essay in hindi

bhedbhav essay in hindi

दोस्तों आज हम आपको भेदभाव के बारे में बताने जा रहे हैं कि भेदभाव करने से किसी भी व्यक्ति का भला नहीं होता है । भेदभाव सबसे बड़ा दुष्कर्म है । भेदभाव के कारण लोग विकास की ओर नहीं बढ़ पा रहे हैं । यह भेदभाव समाज के लोगों के द्वारा एवं प्रतिष्ठित कुछ व्यक्तियों के द्वारा किया जाता है । हमारे देश में कई भेदभाव किए जाते हैं जैसे कि गोरे काले का भेद अमीर ,गरीबी का भेद आदि । चलिए अब हम और भी जानेंगे कि भेदभाव होता क्या है ।

bhedbhav essay in hindi
bhedbhav essay in hindi

भेदभाव हमारे देश की सबसे बड़ी समस्या रही है । हम पुराने समय से लेकर आज 21वीं सदी में पहुंच चुके हैं । हमने यह पढ़ा है और देखा भी है कि जो मध्यम वर्ग की समाज होती है उन समाज से उच्च वर्ग के लोग घृणा करते हैं । यदि हमें अच्छे समाज का निर्माण करना है तो ऊंचे वर्ग और निम्न वर्ग के लोगों के बीच में जो भेदभाव है उसको खत्म करना होगा । सभी को एक समान मानकर एक समान अधिकार देने होंगे । हमें किसी भी परिस्थिति में भेदभाव नहीं करना चाहिए । यदि कोई व्यक्ति गरीब है तो उसे आगे बढ़ाना चाहिए ना कि भेदभाव करना चाहिए । हम सभी को इंसान बनकर रहना चाहिए । जब भगवान हम इंसानों में किसी तरह का भेदभाव नहीं करते है तो हम सभी एक दूसरे से भेदभाव क्यों करते हैं ।

आज मैं यह सोचकर बड़ा दुखी होता हूं कि यह भेदभाव मनुष्य के द्वारा क्यों किया जा रहा है । हर व्यक्ति अपनी इंसानियत क्यों फूलता जा रहा है । हमारे देश के संविधान में भी यह लिखा गया है कि देश में किसी भी व्यक्ति के साथ कोई भेदभाव ना किया जाए । सभी को शिक्षा प्राप्त करने का अधिकार होता है और वह हमारे देश में कहीं पर भी काम कर सकता है । कोई भी व्यक्ति उससे भेदभाव नहीं कर सकता है। नीची जाति के लोगों के साथ हो रहे अत्याचार को हमें रोकना चाहिए । मध्यम वर्ग का व्यक्ति हो या उच्च वर्ग का व्यक्ति हो उसे समान जीवन जीने का अधिकार होता है । उच्च वर्ग के व्यक्ति को निम्न वर्ग के व्यक्ति पर अत्याचार करने का कोई अधिकार नहीं होता है। हम सभी इंसान हैं हमारे देश में कभी भी किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाए इसके लिए कानून भी बनाया गया है । सरकार के द्वारा यह व्यवस्था की गई है कि कोई भी व्यक्ति किसी व्यक्ति के साथ भेदभाव ना करें । जिस प्रकार हमारे भारत की रेल गाड़ी में सभी धर्म और छोटे बड़े लोग यात्रा कर सकते हैं चाहे वह गरीब हो या अमीर हो उसी प्रकार हमारे समाज को एक दूसरे के साथ भेदभाव नहीं रखना चाहिए। यदि मध्यम वर्ग के व्यक्ति को भी आगे बढ़ाया जाए तो हमारा समाज एक मजबूत शक्ति प्राप्त करेगा और हमारा देश भी आगे बढ़ेगा।

जब हम एक अच्छे इंसान बनेंगे तब हम इस दुनिया में अपना नाम कमा पाएंगे । यदि कोई गरीब भूखा है तो उसे हम खाना खिला कर अपनी इंसानियत दिखा सकते हैं । जो गरीब व्यक्ति होता है वह भी एक इंसान होता है उसको भी खाना खाने , कपड़ा पहनने का अधिकार होता है । हम सभी को यह कोशिश करना चाहिए कि किसी गरीब के साथ किसी तरह का कोई भेदभाव ना किया जाए । यदि कोई नीची जाति का व्यक्ति हम से मदद मांगने के लिए आता है तो उसकी मदद अवश्य करना चाहिए । उस व्यक्ति से किसी तरह का कोई भेदभाव नहीं करना चाहिए। हमें यह सोच बनानी चाहिए कि यदि हम उसके परिवार में जन्म लेते तो हम भी उसी की तरह गरीब होते तब दूसरा व्यक्ति हमारे साथ यह अन्याय करता तो हमें कैसा लगता। तभी हम भेदभाव करना भूलेंगे। भेदभाव करने से कोई भी व्यक्ति अमीर नहीं बनता है । वह संसार में नाम नहीं कमा सकता है । यदि दुनिया में अपना नाम कमाना है तो हमारा कर्तव्य होता है कि हम दूसरे मनुष्य की मदद करें । उन छोटे वर्ग के लोगों को भी सहारा दें जिससे कि वह ऊंचाई पर पहुंच सके तब जाकर हम एक अच्छे इंसान बनेंगे ।

दोस्तों यह आर्टिकल भेदभाव पर निबंध bhedbhav essay in hindi आपको पसंद आए तो सब्सक्राइब जरूर करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *