आन्द्रे बेतेई के जीवन परिचय Andre beteille biography in hindi

Andre beteille biography in hindi

Andre beteille – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से आन्द्रे बेतेई के जीवन परिचय के बारे में बताने जा रहे हैं ।  तो चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर आन्द्रे बेतेई के जीवन परिचय के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं ।

Andre beteille biography in hindi
Andre beteille biography in hindi

Image source – http://archive.indianexpress.com/news/a-life-well-lived/1058122/

भारत देश के महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई के जन्म स्थान के बारे – भारत देश के महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई का जन्म 30 सितंबर 1934 को हुआ था । भारत के महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई का जन्म मिश्रित पैतृक  परिवार में हुआ था ।

भारत के महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई  की शिक्षा के बारे में – भारत के  महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई बचपन सेे ही शिक्षा प्राप्त करना चाहते थे । उनकी सोच समाज हित के लिए बचपन से ही अग्रसर थी । आन्द्रे बेतेई समाज की दर्शनीय स्थिति से दुखी रहते थे । वह समाज हित के लिए पढ़ लिखकर एक समाजशास्त्री बनना चाहते थे । उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा  भारत देश के बिहार राज्य से प्रारंभ की थी । भारत देश के बिहार राज्य से जब उन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी कर ली थी तब वह और भी  आगे की पढ़ाई करना चाहते थे । जिसके लिए वह पश्चिम बंगाल के कोलकाता शहर चले गए और वहां के विश्वविद्यालय से उन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई करना प्रारंभ कर दिया था ।

कोलकाता विश्वविद्यालय से उन्होंने अपना ग्रेजुएशन पूरा किया था । कोलकाता के विश्वविद्यालय से जब उन्होंने अपना ग्रेजुएशन पूरा कर लिया था तब वह और भी आगे की शिक्षा प्राप्त करना  चाहते थे । जिसके आन्द्रे बेतेई ने दिल्ली जाने का फैसला किया था । इसके बाद आन्द्रे बेतेई दिल्ली आ गए और दिल्ली के विश्वविद्यालय से वह अपनी आगे की शिक्षा प्राप्त करने लगे थे । दिल्ली से ही उन्होंने पी.एच.डी की डिग्री प्राप्त की थी । इस तरह से उन्होंने स्कूली शिक्षा से लेकर कॉलेज की शिक्षा प्राप्त करने में काफी मेहनत की थी ।

आन्द्रे बेतेई कभी भी शिक्षा के क्षेत्र में मेहनत करने से पीछे नहीं हटे क्योंकि आन्द्रे बेतेई यह जानते थे कि यदि समाज को विकसित और विकासशील बनाना है तो उन्हें अच्छी शिक्षा प्राप्त करके समाज के हित में कार्य करने होंगे ।

भारत के महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई के कैरियर के बारे में –  भारत के महान समाज शास्त्री आन्द्रे बेतेई के द्वारा जब अपनी स्कूली शिक्षा पूरी कर ली गई थी तब उनकी मेहनत और लगन और उनके ज्ञान को देखते हुए उनको दिल्ली विश्वविद्यालय में स्थित स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स में एक समाजशास्त्र के प्रोफेसर के रूप में नियुक्त कर दिया गया था । जब उनको दिल्ली विश्वविद्यालय में स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में समाजशास्त्र के प्रोफेसर के रूप में नियुक्त किया गया तब उन्होंने स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स में सभी विद्यार्थियों को ज्ञान दिया था ।दिल्ली विश्वविद्यालय में उनकी नियुक्ति 2003 में की गई थी ।

जिसके बाद उन्होंने कभी भी अपने कैरियर में पीछे मुड़कर नहीं देखा था । वह निरंतर समाज के हित में कार्य करते गए और एक समाजवादी के रूप में अपनी पहचान बनाते गए थे । उनकी मेहनत लगन और उनके अपार ज्ञान को देखते हुए भारत देश की सरकार के द्वारा उनके सामने राष्ट्रीय अनुसंधान मे प्रोफेसर के रूप में काम करने का प्रस्ताव रखा था । इस मौके को उन्होंने अपने हाथों से नहीं जाने दिया था । उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय अनुसंधान मे प्रोफेसर के रूप में 2007 में कार्यभार संभाला था । जब उनकी नियुक्ति राष्ट्रीय अनुसंधान मे प्रोफेसर के तौर पर हुई तब वह अपना योगदान भारत के विकास कार्यों के लिए देने लगे थे । जिस कार्य की प्रशंसा आज भी की जाती है ।

आन्द्रे बेतेई यहीं पर नहीं रुके वह और भी अपने ज्ञान को चारों तरफ से फैलाना चाहते थे । आन्द्रे बेतेई वर्तमान में नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी में अपनी सेवाएं दे रहे हैं जो मेघालय किस शिलांग में स्थित है । इस यूनिवर्सिटी में वह कुलाधिपति के रूप में नियुक्त किए गए हैं । इससे पहले भी वह अशोक विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं । जब वह अशोक विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे थे तब उनके द्वारा विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों को शिक्षा देकर उनके भविष्य को सफलता की ओर ले जाया गया था ।

वह एक राइटर भी हैं उनके द्वारा कई किताबें लिखी गई है जिस किताब को पढ़ने के बाद सच्चाई का रास्ता , समाज हित के कार्य करने के बारे में पता चलता है । समाजशास्त्र के रूप में उन्होंने अपनी सेवा देते हुए निबंध और विधि पर भी वर्णन किया है ।ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस 2002 के द्वारा इसके बारे में एक किताब प्रिंट की गई है । इस तरह से उन्होंने एक समाजशास्त्र और प्रोफेसर रहकर देश के विकास ने अपनी सेवाएं दी हैं ।

आन्द्रे बेतेई  को मिले अवार्ड के बारे में – आन्द्रे बेतेई को पद्म  भूषण पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया है ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख आन्द्रे बेतेई  का जीवन परिचय Andre beteille biography in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें  इसके बाद अपने दोस्तों रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *