मुकेश अंबानी के दामाद आनंद पीरामल की बायोग्राफी Anand piramal biography in hindi

Anand piramal biography in hindi

Anand piramal – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मुकेश अंबानी के दामाद आनंद पीरामल के जीवन परिचय के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर मुकेश अंबानी के दामाद आनंद पीरामल के बारे में जानते हैं ।

Anand piramal biography in hindi
Anand piramal biography in hindi

Image source – https://www.ndtv.com/people/isha-amb

जन्म स्थान व् परिवार – आनंद पीरामल भारत देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के दामाद हैं । आनंद पीरामल ने मुकेश अंबानी की इकलौती पुत्री ईशा अंबानी से विवाह किया है । आनंद पीरामल का जन्म 25 अक्टूबर 1985 को राजस्थान के झुंझुनू शहर के वागड़ में हुआ था । आनंद पीरामल के पिता का नाम अजय पीरामल है ।आनंद पीरामल के पिता अजय पीरामल भी देश के सफल उद्योग पतियों में गिने जाते हैं । अजय  पीरामल भारत देश के अमीरों की सूची में  22वें स्थान पर आते हैं ।

आनंद पीरामल की माता का नाम स्वाति पीरामल है । आनंद पीरामल की माता स्वाति पीरामल भी एक बिजनेसमैन है । स्वाति पीरामल भी बिजनेस करने में सक्रिय रहती हैं ।आनंद पीरामल की छोटी बहन का नाम नंदिनी पीरामल है । आनंद पीरामल की छोटी बहन नंदिनी पीरामल भी बिजनेसमैन के रूप में जानी जाती हैं । आज आनंद पीरामल सफल बिजनेसमैनो में से एक हैं । आनंद पीरामल ने मुकेश अंबानी की इकलौती पुत्री ईशा अंबानी से विवाह किया है ।

आनंद पीरामल ने मुकेश अंबानी की इकलौती पुत्री ईशा अंबानी को जब प्रपोज किया था तब ईशा अंबानी ने आनंद पीरामल के विवाह प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था । आनंद पीरामल और ईशा अंबानी की पहले से ही  गहरी दोस्ती थी । आनंद पीरामल ने इस दोस्ती को रिश्तेदारी में बदलने के लिए विवाह का प्रपोजल ईशा अंबानी के सामने रखा था और ईशा अंबानी ने विवाह के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था और आज आनंद पीरामल भारत देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के दामाद बन चुके हैं ।

आनंद पिरामल जब भी किसी काम को करने की ठान लेते हैं तब आनंद पिरामल उस काम को मेहनत और लगन से पूरा करते हैं । आनंद पीरामल की पूरी फैमिली का स्वभाव बहुत अच्छा है । आनंद पीरामल एक सफल बिजनेसमैन के रूप में जाने जाते हैं । आनंद पीरामल के पिता ने पीरामल स्टेट को ऊंचाइयों तक पहुंचाया है । जब आनंद पीरामल के पिता अजय पीरामल ने पीरामल स्टेट की जिम्मेदारी आनंद पीरामल को दे दी थी तब आनंद पीरामल ने इस जिम्मेदारी को पूरी मेहनत के साथ निभाया था ।

आज आनंद पीरामल देश के महान उद्योगपति के रूप में जाने जाते हैं ।आनंद पीरामल ने अपनी कम उम्र में ही पीरामल स्टेट को संभाला था ।

आनंद पीरामल की प्रारंभिक शिक्षा – आनंद पीरामल ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा हावर्ड बिजनेस स्कूल से प्राप्त की थी । जब आनंद पीरामल अपनी प्रारंभिक शिक्षा हावर्ड बिजनेस स्कूल से प्राप्त कर रहे थे तब आनंद पीरामल की रुचि बिजनेस करने थी । आनंद पीरामल ने अपने घर से अपने पिता से बिजनेस करने के गुण सीखे हैं । जब आनंद पीरामल अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त कर रहे थे तब स्कूल के टीचर आनंद पीरामल के बारे में यह कहते थे की यह लड़का आने वाले समय मे बहुत बड़ा बिजनेस करेगा ।

आनंद पीरामल ने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद आनंद पीरामल अपनी आगे की पढ़ाई करने के लिए अमरीका के पेनिसिल्विया विश्वविद्यालय में अपनी आगे की पढ़ाई करने के लिए चले गए थे । इसके बाद उन्होंने पेनिसिल्विया विश्वविद्यालय से पढ़ाई करना प्रारंभ कर दिया था । जब आनंद पीरामल पेनिसिल्विया विश्वविद्यालय में अपना ग्रेजुएशन कर रहे थे तब उन्होंने बिजनेस करनेे में अपने जीवन को निछावर करने का निश्चय कर लिया था ।

आनंद पीरामल ने एक सफल बिजनेसमैन बनने का सपना सजाया था । अमेरिका के पेनिसिल्विया विश्वविद्यालय से आनंद पीरामल ने इकोनॉमिक्स सब्जेक्ट से ग्रेजुएशन किया है । ग्रेजुएशन करने के बाद आनंद पीरामल एक सफल बिजनेसमैन बनने के रास्ते पर चल पड़े थे । आज आनंद पीरामल एक सफल बिजनेसमैन के रूप में जानेेे जाते हैं । आनंद पीरामल ने  कम समय में  एक सफल बिजनेसमैन बनने के सफर  को पूरा किया है ।

आनंद पीरामल और ईशा अंबानी की सगाई – जब आनंद पीरामल ने भारत देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी की इकलौती पुत्री ईशा अंबानी के सामने विवाह का प्रस्ताव रखा तब ईशा अंबानी ने आनंद पीरामल के विवाह प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था । ईशा अंबानी और आनंद पीरामल ने अपने परिवार वालों को विवाह के बारे में बताया और दोनों के परिवार वाले इस रिश्ते को बंधन में बांधने के लिए तैयार हो गए थे । दोनों परिवार के कई सालों से पुराने संबंध रहे हैं ।

दोनों परिवार बाले एक दूसरे के साथ कई बार डिनर करते हुए देखे गए हैं । ईशा अंबानी और आनंद पीरामल पहले से ही गहरे दोस्त थे ।अब यह दोस्ती रिश्तेदारी में बदल गई है । मुकेश अंबानी और आनंद पीरामल के पिता अजय पीरामल ने जब दोनों के विवाह के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया था तब ईशा अंबानी और आनंद पीरामल की सगाई 21 सितंबर को इटली के लेक कोमो में दोनों परिवारों ने मिल कर ईशा अंबानी और आनंद पीरामल की सगाई कर दी थी ।

इनकी सगाई में बड़े-बड़े उद्योगपतियों को आमंत्रित किया गया था । सगाई करने के बाद ईशा अंबानी और आनंद पीरामल ने एक वेडिंग पार्टी भी दी थी । जिस पार्टी में ईशा अंबानी के फ्रेंड्स , मुकेश अंबानी के रिश्तेदार एवं आनंद पीरामल के दोस्त एवं अजय पीरामल के सभी रिश्तेदार इस वेडिंग पार्टी में आए थे । सभी ने आनंद पीरामल और ईशा अंबानी को आशीर्वाद दिया था ।

आनंद पीरामल एक अच्छे स्वभाव प्रिय व्यक्ति के बारे में – आनंद पीरामल एक अच्छे व्यक्ति हैं । उनका व्यवहार लोगों की प्रति  बहुत अच्छा रहता है । आनंद पीरामल  कभी भी अपने आप पर घमंड नहीं करते हैं । आनंद पीरामल अपने से नीचे वाले व्यक्तियों के साथ भी अच्छा व्यवहार करते हैं । इसलिए उनको सभी लोग पसंद करते हैं । आनंद पीरामल कभी भी गरीब लोगों का मजाक नहीं उड़ाते हैं । आनंद पीरामल को अपने ऊपर घमंड नहीं है ।जब  आनंद पीरामल अपनी प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त कर रहे थे तब आनंद पीरामल कई लोगों की सहायता किया करते थे ।

कई ऐसे असहाय लोग जो पढ़ने में असमर्थ थे उनकी सहायता आनंद पीरामल किया करते थे । जब आनंद पीरामल अपने से नीचे वाले व्यक्ति की सहायता करते हैं तब उनको बहुत अच्छा लगता है । क्योंकि आनंद पीरामल एक अच्छे व्यक्ति हैं , उनका व्यवहार सबसे अच्छा है । आनंद पीरामल गरीबों को आगे बढ़ते हुए देखना चाहते  हैं । इसलिए उन्होंने अपने बिजनेस करियर में ऐसे कई काम किए हैं जिससे कि गरीब लोगों को सहायता मिल सके ।

उनकी इस सोच के कारण आज वह एक सफल बिजनेसमैन बन चुके हैं और आने वाले भविष्य में वह बिजनेस के क्षेत्र में काफी ऊंचाइयों तक पहुंचेंगे ।

आनंद पीरामल ने बिजनेस में अपने करियर की शुरुआत – आनंद पीरामल ने जब अपना ग्रेजुएशन कर लिया था ।इसके बाद वह एक सफल बिजनेसमैन बनने के रास्ते पर चल पड़े थे । आनंद पीरामल ने 2012 में पीरामल ई स्वास्थ्य कंपनी लॉन्च की थी । जब आनंद पीरामल ने स्वास्थ्य के क्षेत्र में लोगों को बेहतर इलाज देने के लिए पीरामल ईस्वास्थ्य कंपनी लॉन्च की थी तब काफी लोगों ने इस कंपनी से जुड़कर अपना इलाज करवाया था । लाखों-करोड़ों लोग आज आनंद पीरामल ई स्वास्थ्य कंपनी से जुड़कर अपना इलाज करवाते हैं ।

पिरामल स्वास्थ्य कंपनी के माध्यम से छोटी से छोटी एवं बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज करवाया जाता है । जब आनंद पीरामल ने 2012 में इस पिरामल ई स्वास्थ्य कंपनी लॉन्च की थी तब काफी लोगों को इलाज करवाने में सुविधा प्राप्त हुई थी । आनंद पीरामल एक अच्छे स्वभाव के व्यक्ति हैं । आनंद पीरामल गरीब और असहाय लोगों की मदद करते रहते हैं । उन्होंने स्वास्थ्य के क्षेत्र में लोगों को सहायता देने का निर्णय किया था । इसीलिए आनंद पीरामल ने 2012 में स्वास्थ्य कंपनी खोलने का निश्चय किया ।

जब यह कंपनी की शुरुआत हुई तब आनंद पीरामल को बहुत खुशी हुई थी । क्योंकि यह उनका सबसे बड़ा सपना था कि वह हर व्यक्ति के स्वास्थ्य को बेहतर से बेहतर बनाकर रखने में अपना योगदान दें । आज उनका सपना पूरा हो चुका है क्योंकि भारत देश के लाखों लोग पीरामल ई स्वास्थ्य कंपनी के माध्यम से अपना इलाज करवाते हैं और बड़ी से बड़ी बीमारियों को दूर भगाते हैं । इस तरह से 2012 में आनंद पीरामल ने ई स्वास्थ्य कंपनी लॉन्च करके बिजनेस के क्षेत्र में अपने कदम रखें और पूरी मेहनत और लगन के साथ आनंद पीरामल ने यह स्वास्थ्य कंपनी को आगे बढ़ाया ।

उनकी मेहनत और लगन के कारण ही आज पीरामल ईस्वास्थ्य कंपनी ऊंचाइयों तक पहुंच चुकी है । काफी लोगों ने ई स्वास्थ्य पीरामल कंपनी से जुड़कर अपना स्वास्थ्य ठीक किया है । आनंद पिरामल स्वास्थ्य कंपनी के साथ-साथ पीरामल समूह के कार्यकारी निर्देशक भी हैं । आनंद पीरामल आज बिजनेस करियर में एक सफल इंसान बन चुके हैं । आनंद पीरामल ने अपनी कम उम्र में बिजनेस के क्षेत्र में सफलता प्राप्त की है । आनंद पीरामल ने अपने पिता अजय पीरामल का बिजनेस में हाथ बढ़ाया है ।

उनके पिता अजय पीरामल का भी यही कहना है कि जब से आनंद पीरामल ने बिजनेस में मेरा हाथ बटाना चालू किया है तब से मैं आराम महसूस कर रहा हूं । क्योंकि बिजनेस के सभी काम आनंद पीरामल बहुत आसानी से संभाल लेते हैं । मुझे अब किसी बात की कोई भी चिंता नहीं होती है क्योंकि आनंद पीरामल ने बिजनेस को बहुत बेहतर तरीके से संभाल के रखा है ।

आनंद पीरामल के द्वारा दिया नामक गैर सरकारी संस्था की स्थापना – आनंद पीरामल के बारे में उनके परिचित लोग यह कहते हैं कि आनंद पीरामल बचपन से ही साहसी , निडर और दयावान था ।  आनंद पीरामल लोगों की मदद करने में विश्वास रखता था और जैसे-जैसे आनंद पिरामल अपने जीवन में आगे बढ़ते गए वह कई ऐसे काम साथ में करते गए जिन कामों की प्रशंसा जितनी की जाए उतनी कम है । 2004 में जब आनंद पीरामल शिक्षा प्राप्त कर रहे थे तब आनंद पीरामल में एक दिया नामक गैर सरकारी संस्था का उद्घाटन किया था ।

जब आनंद पीरामल ने दिया नामक गैर सरकारी संस्था का उद्घाटन किया तब आनंद पीरामल की उम्र काफी कम थी । इस बात से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि आनंद पीरामल अपनी छोटी उम्र से ही एक दयावान व्यक्ति के रूप में जाने जाते थे और आज वह एक सफल बिजनेसमैन और एक सफल इंसान बन चुके हैं । आनंद पीरामल ने अपने जीवन में कई संघर्ष किए हैं और संघर्षों से लड़कर वह आज एक सफल इंसान और सफल बिजनेसमैन बनने में सफल हुए हैं ।

उनकी मेहनत और लगन से पीरामल स्टेट सफलता की ओर बढ़ रही है । पीरामल सेक्टर के सभी बिजनेस में आनंद पीरामल अपना योगदान देते हैं और सभी बिजनेस एक सफलतम ऊंचाई की ओर पहुंच रहे है । आनंद पीरामल कठिनाइयों से लड़ना और जूझना जानते हैं । आनंद पीरामल कभी भी कठिनाइयों से  घबराते नहीं बल्कि उनका सामना करते हैं । इसलिए आज आनंद पीरामल एक सफल बिजनेसमैन के रूप में जाने जाते हैं ।

आनंद पीरामल की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है । क्योंकि उन्होंने  अपनी छोटी उम्र में एक सफलतम बिजनेसमैन बनने का सफर पूरा किया है । आज मुझे आनंद पीरामल के बारे में बताने में बहुत ही अच्छा लग रहा है क्योंकि हम ऐसे व्यक्ति के बारे में बात कर रहे हैं जिसने अपनी कम उम्र में बिजनेस के क्षेत्र को संभाला है और बिजनेस के क्षेत्र में आने वाली समस्याओं का उन्होंने सामना किया है ।

आनंद पीरामल को सफल बिजनेसमैन बनने के लिए मिले अवार्ड – आनंद पीरामल ने बिजनेस के क्षेत्र में अपने आप को एक सफल इंसान बनाया है । उन्होंने अपने आपको एक सफल इंसान बनाने के लिए जी तोड़ मेहनत की है और उनकी मेहनत और लगन से आनंद पीरामल को बिजनेस के क्षेत्र में सफलता प्राप्त हुई है ।  बिजनेस के क्षेत्र में सफल होने के लिए आनंद पीरामल को कई अवार्ड भी मिले हैं । 2017 में आनंद पीरामल को हुरून इंडिया ने हुरून रियल एस्टेट यूनिकॉर्न ऑफ 2017 का अवार्ड देकर सम्मानित किया गया है ।

आनंद पीरामल के पसंदीदा शौक – आनंद पीरामल को नई नई जगहों पर जाना एवं विदेशों की यात्रा करना बहुत पसंद है । जब भी उनको समय मिलता है वह लंबी यात्रा के लिए निकल जाते हैं । उनको नई नई जगहों की यात्रा करना बहुत अच्छा लगता है । आनंद पीरामल को क्रिकेट खेलना , फुटबॉल खेलना बहुत अच्छा लगता है । आनंद पीरामल जब भी फुटबॉल और क्रिकेट खेलते हैं तब उनको बहुत ही आनंद आता है क्योंकि वह बचपन से ही फुटबॉल और क्रिकेट खेलते रहते हैं ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह जबरदस्त आर्टिकल मुकेश अंबानी के दामाद आनंद पीरामल की बायोग्राफी  Anand piramal biography in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को शेयर अवश्य करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *