अक्षरधाम मंदिर का इतिहास Akshardham temple history in hindi

Akshardham temple history in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं दिल्ली के एक प्रसिद्ध मंदिर अक्षरधाम यानी स्वामीनारायण मंदिर के बारे में जानकारी। यह एक ऐसा मंदिर है जो भारत के विशालकाय मंदिरों में से एक है, जिसकी तारीफ हर कोई करता है तो चलिए जानते हैं अक्षरधाम मंदिर के बारे में

Akshardham temple history in hindi
Akshardham temple history in hindi

Image source-

https://commons.m.wikimedia.org/wiki/File:Delhi_Akshardham_Temple.JPG

अक्षरधाम जैसे कि नाम से ही स्पष्ट है यह मंदिर भगवान के घर  के रूप में जाना जाता हैं। यह दुनिया के विशालकाय मंदिरों में से एक मंदिर है। अक्षरधाम मंदिर जिसे हम स्वामीनारायण मंदिर के नाम से भी जानते हैं, यह मंदिर बहुत ही अच्छा मंदिर है। इस मंदिर में हिंदू संस्कृति एवं साहित्य की कला को विशेष रूप से दर्शाया गया है। इस मंदिर की बनावत में जिस तरह के आर्किटेक्चर हैं उसे देखकर इस मंदिर के पुराने इतिहास के बारे में पता चलता है। यह मंदिर एक कॉन्प्लेक्स के बीच में बना हुआ है। यमुना नदी के तट पर स्थित यह मंदिर काफी सुंदर प्रतीत होता है।

अक्षरधाम मंदिर की बनावट– अक्षरधाम यानी स्वामीनारायण मंदिर की बनावत बहुत ही शानदार है। यह मंदिर  मार्बल एवं  राजस्थानी गुलाबी पत्थरों  से  बनाया गया है। यह मंदिर महा ऋषि वास्तु आर्किटेक्चर के अनुसार बनाया गया है। हिंदू शिल्प शास्त्र के अनुसार निर्माण किए जाने के कारण यह मंदिर बहुत ही सुंदर प्रतीत होता है। यह मंदिर 316 फुट स्थान में फैला हुआ है, यह मंदिर 141 फुट ऊंचा है।

इस मंदिर में भगवान लक्ष्मी नारायण, शिव पार्वती,  राधा कृष्ण एवं राम सीता जी की मूर्तियां देखने को मिलती हैं। वास्तव में यह मंदिर काफी सुंदर है। इसमें हाथी को श्रद्धांजलि देने वाला स्तंभ है। इसके अलावा इस मंदिर में 20000 अनुयायियों, आचार्य एवं साधुओं की मूर्तियां भी कई जगह देखने को मिलती हैं।

अक्षरधाम मंदिर का इतिहास एवं अन्य बातें- इस मंदिर के इतिहास की बात करें तो इस मंदिर को बनवाने मैं बोचासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था ने योगदान दिया है। कहते हैं कि इस मंदिर के निर्माण में केवल 5 साल लगे थे, इस मंदिर में एक कुंड है जिसे यग्नपुरुष कुंड के नाम से जाना जाता है। कहा जाता है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा कुंड है, यह पुण्य कमल के आकार का है। इस कुंड में कई सारी सीढ़ीयां हैं एवं छोटे तीर्थ स्थान भी हैं।

वास्तव में अक्षरधाम दिल्ली का एक प्रमुख मंदिर है जो कि विश्व भर में काफी प्रसिद्ध है। अक्षरधाम मंदिर में एक बहुत ही अच्छा गार्डन है, इस गार्डन को हम कमल बाग के नाम से जानते हैं। इस प्रमुख गार्डन में कई वैज्ञानिक एवं महापुरुष घूमने के लिए आए हैं। हम सभी को भी अक्षरधाम मंदिर एवं इस प्रमुख गार्डन को घूमने का आनंद जरूर लेना चाहिए। अक्षरधाम मंदिर में एक नारायण सरोवर भी है है। नारायण सरोवर में कई सारी नदियों एवं सरोवरो का पानी भरा हुआ है।

दोस्तों हमें बताएं कि अक्षरधाम मंदिर के बारे में जानकारी आपको कैसी लगी, इस मंदिर के बारे में जानकारी यदि आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूलें और हमें सब्सक्राइब जरूर करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *