हवाई जहाज का इतिहास aeroplane history in hindi

aeroplane history in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से हवाई जहाज के इतिहास के बारे में बताने जा रहे हैं . चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और हवाई जहाज के इतिहास को बड़े ही ध्यान से पढ़ते हैं . हवाई जहाज जिसका उपयोग हम खुद को एवं अपने सामान को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने में करते हैं . हवाई जहाज ने  दुनिया के हर कोने को मिला दिया है .

aeroplane history in hindi
aeroplane history in hindi

पहले  जब किसी को एक देश से दूसरे देश जाना होता था तब वह समुद्री जहाज के माध्यम से जाया करता था लेकिन जब से हवाई  जहाज का निर्माण हुआ है तब से हवाई जहाज के माध्यम से व्यक्ति कम समय में विदेशों तक पहुंच जाता है . हवाई जहाज के निर्माण के बाद विश्व में एक बदलाव आया है और सभी एक दूसरे से जुड़ गए हैं . अब हम बात करते हैं हवाई जहाज के निर्माण के बारे में . हवाई जहाज का निर्माण 17 दिसंबर 1903 को राइट बंधुओं ने किया था .

राइट बंधु जिनका नाम ओरविल और विलबर था . दोनों भाई बचपन से ही कुछ अच्छा करना चाहते थे .  जब उनको उनके पिता  ने एक खिलौने के रूप में एक हवाई जहाज दिया तब उनके मन में हवाई जहाज बनाने का विचार आया था .  यह हवाई जहाज बांस , रबर का बना हुआ था . जब दोनों भाई इस हवाई जहाज से खेलते थे तब उन्हें बड़ा आनंद आता था और एक दूसरे से बातचीत करते थे कि यदि एक बड़ा हवाई जहाज आसमान में उड़े तो कितना अच्छा होगा .

उन्होंने अपने सपने को पूरा करने के लिए खूब मेहनत की . सन 1900  को  उन्होंने अपने सपने को पूरा करने की तैयारी कर ली थी .  उन्होंने सन  1900 से 1903 तक कई परीक्षण किए . परीक्षण में उन्होंने साइकल , प्रिंटिंग मशीन , कई तरह की मोटर के द्वारा हवा में उड़ने वाले ग्लाइडर बनाए . कई बार यह परीक्षण असफल रहा लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और 1903 को राइट बंधुओं ने पहला राइट फ्लायर नाम का एक हवाई विमान बनाया था .  इस विमान को उड़ाने के लिए कई परीक्षण किए थे .

जब 1903 को इस विमान को उड़ाया गया तब इस विमान ने 120 फीट की ऊंचाई तक उड़ान भरी यह उड़ान इस विमान ने 12 सेकंड तक भरी थी . इसके बाद राइट बंधुओं ने दूसरा राइट फ्लेयर 3 विमान बनाया और यह सबसे सफल विमान था .  इस विमान ने  सबसे अधिक  ऊंचाई तक उड़ान भरी थी . यह विमान बनाने का पूरा परीक्षण फ्रांस के एक वैज्ञानिक के आविष्कार पर आधारित था . जिसका नाम एयरोनॉटिक अल्फोंसे  पेनाउड था .

इसके बाद 1906 को एक वैज्ञानिक ने ऐसा ही हवाई जहाज बनाने का दावा किया था लेकिन पूरी दुनिया ने राइट बंधु को हवाई जहाज बनाने का श्रेय दिया था और आज भी हवाई जहाज का निर्माता राइट बंधुओं को ही माना जाता है . दोनों भाई बचपन से ही कुछ अलग करना चाहते थे . उन दोनों भाइयों के सपनों को पूरा करने में उनके परिवार का बड़ा योगदान रहा था .

हवाई जहाज बनाने में पूरी मदद उनके परिवार वालों ने की थी . वह रात दिन मेहनत करते और हवा में उड़ने वाले ग्लाइडर बनाते थे और उन्होंने 1903 में सफलता हासिल की और पूरी दुनिया ने राइट बंधुओं की प्रशंसा की थी .

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख हवाई जहाज का इतिहास aeroplane history in hindi आपको पसंद आए तो शेयर अवश्य करें धन्यवाद .

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *