आलस्य पर निबंध Aalasya essay in hindi

Aalasya essay in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तो आज का हमारा टॉपिक है aalasya essay in hindi जैसे की हम सभी जानते हैं कि आलस्य दुनिया का एक ऐसा दुश्मन है जो हमको जीवन में ना तो आगे बढ़ने देता है और ना ही कुछ करने देता है,
Aalasya essay in hindi
Aalasya essay in hindi

अगर हमको जिंदगी में कुछ भी करना कुछ भी पाना है तो हमको आलस्य को भगाना होगा,दोस्तों जो इंसान आलस्य करता है वह इंसान जिंदगी में कभी भी सफल नहीं हो सकता क्योंकि जो इंसान किसी काम को करने के लिए आलस्य के कारण बहाने लेता है वह इंसान कभी भी किसी भी तरह के काम को सही तरह से नहीं करता,हम सभी को आलस्य को दूर भगा देना चाहिए.

आलस्य एक ऐसा दुश्मन है जो अगर एक इंसान पर सवार हो गया तो यह मान लीजिए कि वह उस इंसान की जिंदगी बर्बाद कर देता है,हम किसी भी क्षेत्र में आलस के बारे में समझ सकते हैं,हम सुबह देखते हैं विद्यार्थी सुबह नहीं जाग पाता तो सिर्फ और सिर्फ आलस्य के कारण,कहते हैं सुबह जागने से अच्छी पढ़ाई होती है लेकिन हम वह पढ़ाई नहीं कर पाते सिर्फ और सिर्फ आलस्य के कारण इसलिए आलस को भगाना बेहद जरूरी है एक विद्यार्थी जीवन में आलस विद्यार्थियों का सबसे बड़ा शत्रु हो जाता है,एक आलसी विद्यार्थी अपनी क्लास में सफलता की ऊंचाई पर नहीं पहुंच सकता इसलिए हमें आलस को दूर भगाना चाहिए.

ये भी पढें-आलस्य मनुष्य का शत्रु alasya manushya ka shatru kahani

एक बिजनेसमैन अगर आलसी है तो जिंदगी में वह अपने बिजनेस को एक ऊंचाई पर नहीं पहुंचा सकता क्योंकि उसको कुछ भी करने के लिए हमेशा आलस्य आता है,कभी भी नए काम की शुरुआत करने से पहले आलस्य आता है,एक ऐसा व्यक्ति जो कोई अच्छी जॉब कर रहा है  आलस्य के कारण वह अपनी जॉब में तरक्की नहीं कर पा रहा है या फिर आलस के कारण उसे अपनी जॉब से निकाल दिया गया हो,दोस्तों हर जगह आलस्य इंसान की जिंदगी खराब कर देता है,हमारे दुश्मनों से हमको एक ही बार नुकसान पहुंचता है लेकिन आलस हम को एक बार नहीं बल्कि बार बार हर बार हम को नुकसान पहुंचाता है.

दोस्तों हम को आलस को भगाने की सबसे ज्यादा जरूरत है क्योंकि आलस दुनिया में हमको कुछ भी नहीं करने देता है,जब भी हम कोई अच्छा कदम उठाते हैं तो आलस हमें वह काम करने से रोकता है, आलस्य हमारा सबसे बड़ा दुश्मन है इसको हमें भगा देना चाहिए,दोस्तों आलस रोकने के बहुत सारे उपाय हैं,अगर हम सभी को आलस रोकना है तो हमें एक लक्ष्य बनाना होगा और उसके बारे में सोचना होगा हमें सोचना होगा कि जिंदगी में हम क्या करना चाहते हैं और उसके लिए हम को कितना काम करने की जरूरत है,एक चिंता के साथ अगर हम काम करते हैं तो आलस रूपी उस दुश्मन से बच सकते है जो हमको जिंदगी में कभी कुछ नहीं करने देगा.

दोस्तों कहते हैं अगर एक इंसान सही मार्ग पर चले और लगातार उस मार्ग पर आ रही मुसीबतों का सामना करते हुए काम करें तो जिंदगी में सफल हो जाता है लेकिन आलस हमको कुछ भी प्रयास नहीं करने देता है जिसके कारण ज्यादातर लोगों की जिंदगी बर्बाद हो जाती है आप जिंदगी में कुछ भी खास नहीं कर पाते,जिंदगी आपसे रूठ जाती है कहते हैं अगर आप कोई काम करते हो तो आपको उसका फल जरूर मिलता है लेकिन आलस तो आपको कुछ काम करने भी नहीं देता तो फल क्या मिलेगा.

दोस्तों हमें हमेशा के लिए इस आलस्य दुश्मन को अपनी जिंदगी से बाहर निकाल देना चाहिए और वाकई में यह आलस हमारे जीवन से बाहर निकल गया तो दुनिया का हर एक इंसान सुखी होगा,चाहे वह एक विद्यार्थी हो या कोई बिजनेस मैन हो,वह कोई नौकरी करने वाला कोई भी हो,अगर यह जिंदगी में नहीं है तो जिंदगी में हम सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंच सकते हैं,जहां तक पहुंचने के लिए हमने और हमारे परिवार वालों ने सपने देखें.

दोस्तों आलस नाम का दुश्मन दुनिया के हर एक इंसान को परेशान करता है और एक बार कोई इंसान आलस के झरोखे में आ गया तो आलस आपको जिंदगी भर परेशान करता है जिंदगी भर आपको चपेट में ले लेता है इसलिए जब भी आपको आलस आए तो इस पर काबू करना सीखिए और जिंदगी में इसको अपने आस-पास ही मत आने दीजिए और अगर आप ऐसा करते हो तो जिंदगी में आप एक सफल इंसान बन सकते हो,आप बहुत खास बन सकते हो.

आज बहुत सारे लोग ऐसे हैं जिनके पास सब कुछ है उनके पास पैसा है, मान-सम्मान हैं, समय है फिर भी वह जिंदगी में कुछ करना चाहते हैं लेकिन उनको कभी आलस नहीं होता क्योंकि वह अपने लक्ष्य की ओर काम करते हैं उन्हें अपने सपने से प्यार होता है इसलिए आज उनकी जिंदगी में आलस्य कभी नहीं आता है.

अगर किसी इंसान को आलस में रहने की आदत एक बार लग जाती है तो वह आदत बड़ी मुश्किल से छूटती है लेकिन अगर किसी इंसान ने इस आलस्य रुपी दुश्मन पर काबू करना सीख लिया तो एक दिन ऐसा आता है कि दुनिया में कभी भी ये हमारा पीछा नहीं छोड़ता,आलस हमारे पास भी नहीं आता और हम सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंच सकते हैं जहां पर हम पहुंचने के सपने देखते हैं.

ये भी पढें-आलस्य पर अनमोल विचार Laziness quotes in hindi

दोस्तों अगर आपको हमारी पोस्ट aalasya essay in hindi पसंद आई हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पर लाइक करना न भूले और हमारी पोस्ट सीधे अपनी ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *