आज के नेता पर निबंध Aaj ke neta essay in hindi

Aaj ke neta essay in hindi

आज हम देख रहे हैं कि हमारे देश के नेता किस तरह से काम कर रहे हैं वह अपने स्वार्थ की वजह से ना तो देश का विकास कर रहे है और ना ही जनता का विकास कर रहे है । हमारे देश की जनता दुखी है हमारे देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी फैल रही है फिर भी हमारे देश के नेता इस बात पर गौर नहीं कर रहे हैं वह लोग तो अपनी पार्टी की तरक्की और अपनी तरक्की के विषय में ही सोचते हैं। अगर वह हमारे देश की जनता की सहायता नहीं कर सकते तो वह नेता क्यों बन जाते हैं ।

Aaj ke neta essay in hindi
Aaj ke neta essay in hindi

आजकल के नेता विकास के मुद्दों पर काम ना करके सिर्फ सामने वाली पार्टी को कैसे हराना है उस पर ही चर्चा करते हैं। आज के नेता सिर्फ चुनाव के समय ही जनता के बीच में जाकर कई लोगों से वादे करके जीत कर जनता को भूल जाते हैं । ना तो उनको गरीब जनता के विकास के बारे में पता होता है और ना ही देश के विकास का और देश का विकास कैसे होगा इस बात पर भी ध्यान नहीं देते हैं ।

आज हमारे देश के नेताओं में एक लीडरशिप क्वालिटी नहीं होती है पूरे देश को और जनता को किस तरह से विकास की ओर ले जाएं इस तरह की कोई प्लानिंग उनके पास नहीं होती है। कई नेता जनता को ₹100000 की मदद देने के लिए लाखों रुपए बेमतलब के बर्बाद कर देते हैं जिससे उनकी पार्टी का प्रचार हो और उनका प्रचार हो सके। आजकल के ज्यादातर नेता ऐसे होते हैं वह जनता को पागल बनाकर उनसे वोट लेकर जीत जाते हैं और 5 साल ना तो जनता के बीच में आते हैं और ना ही किये गए वादों को पूरा करते हैं वह सिर्फ अपने और अपने परिवार के बारे में और जिन्होंने उनको जीतने में मदद की है उनके बारे में ही सोचते हैं ।

वह कभी न तो किसान के बारे में सोचते हैं और ना ही हमारे देश की बेरोजगारी के बारे में। वह देश के खजाने को बर्बाद तो कर ही रहे हैं साथ में हमारे देश के विकास को भी रोक रहे हैं । राजनीति करने में वह इतने बिजी हो गए हैं कि उनको अपने देश के हित में कार्य करने का मौका तक नहीं मिल पा रहा है वह सिर्फ अपने और अपनी पार्टी का भला सोच रहे हैं । अगर वह अपने बारे में और अपनी पार्टी के बारे में सोचते रहेंगे तो हमारा देश का भला कब होगा और हमारी गरीब जनता का भला कब होगा ।

चुनाव के समय वह लंबे लंबे वादे करते हैं सड़क बनवा देंगे, स्कूल कॉलेज खुलवा देंगे, फैक्ट्री खुलवा देंगे जिससे बेरोजगारी दूर हो सके लेकिन वह यह सब नहीं करते। सड़को पर गड्ढों की भरमार है जिस से जनता परेशान हो रही है लेकिन उनको कोई फर्क नहीं पड़ता ।

हमारे देश की गरीब जनता के बच्चे पढ़ नहीं पा रहे हैं कुछ भी अच्छी सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं लेकिन आजकल के ज्यादातर नेता राजनीति में इस तरह से डूबे हुए हैं कि उनको जनता के बारे मैं सोचने का समय नही मिल पा रहा है ।

bharat ko kaisa neta chahiye essay in hindi

हमारे देश को ऐसे नेता की जरूरत है जो हमारे देश के बारे में सोच सके, हमारे देश की जनता के बारे में सोच सके । हमारे देश का नेता पढ़ा लिखा होना चाहिए जो हमारे देश के साथ-साथ हमारे देश की जनता के हित में कार्य करें और वह लोगों को गरीबी से बाहर निकाल कर एक अच्छी जिंदगी दे सके यह सोचने की शक्ति उस नेता के अंदर होना चाहिए ।

वह नेता चुनाव के बाद भी जनता के बीच में जाकर उनकी समस्याओं का निराकरण कर सके ऐसा नेता हमारे देश के नेता होना चाहिए और वह अच्छे अच्छे कार्य करें । एक लीडरशिप की क्वालिटी उस नेता के अंदर होना चाहिए जो सभी नेताओं को साथ लेकर देश के विकास के साथ-साथ गरीब जनता , किसान के हित में कार्य करें और किस तरह से वह देश के विकास में अपना योगदान दे सकता है इसकी जानकारी उसके पास होना चाहिए ।

विकासशील भारत बनाने के लिए किस तरह से लोगों को आगे बढ़ाना है यह उसको मालूम होना चाहिए उसकी भावनाएं बिल्कुल गंगाजल की तरह पवित्र होना चाहिए जिससे वह हमारे देश और देश की जनता के बारे में सोच सकें । उसका कोई स्वार्थ नहीं होना चाहिए नेता निस्वार्थ होना चाहिए क्योंकि जो व्यक्ति स्वार्थ के लिए काम करता है वह सिर्फ अपना भला सोचता है और किसी का भला नहीं सोच सकता है ।

हमारे देश में कई ऐसे नेता भी रह चुके हैं जिन्होंने हमारे देश को विकास की ओर बढ़ाया है जैसे कि हम बात करें अटल बिहारी वाजपेई जी की जिन्होंने देश के लिये इतने अच्छे काम किए हैं और बे सभी पार्टी के नेताओं को सम्मान देकर देश हित में बात करते थे उनका तो सिर्फ एक ही उद्देश्य था देश का विकास। जब देश के विकास के बारे में बात आती थी तो वह विपक्ष से भी हाथ मिला लेते थे उनके इस अच्छे स्वभाव के कारण विपक्ष की पार्टी के लोग भी उनको याद करते हैं ।

उन्होंने अपनी अच्छी सोच के माध्यम से काम कर देश को विकास की ओर बढ़ाया है वास्तव में हमारे देश को ऐसे ही नेता की आवश्यकता है जो जनता के हित मैं कार्य करे, उनकी सोच सही हो और वह देश हित में कार्य कर सके, एक अच्छी लीडरशिप क्वालिटी उनके अंदर हो। जब ऐसे नेता हमारे देश के मंत्री बनेंगे तो देश का विकास दिन प्रतिदिन बढ़ता जाएगा जिससे हमारे भारत का विकास होगा ।

adarsh neta essay in hindi

एक आदर्श नेता वह नेता होता है जो 24 घंटे जनता के हित मैं कार्य करता रहे और निस्वार्थ से जनता के, अपने देश के हित मे कार्य करें। वह हर वक्त जनता की भलाई के बारे में सोचें उनके बीच में जाकर उनकी दुख तकलीफ के बारे में जाने और जितनी मदद हो सके उनकी मदद कर सके ।

एक आदर्श नेता को सोचना चाहिए कि वह देश को किस तरह से आगे बढ़ा सकता है और किस तरह से वह देश में फैली बेरोजगारी को खत्म करके लोगों को रोजगार देकर उनका विकास कर सकता हैं क्योंकि जब तक हर व्यक्ति के पास रोजगार नहीं होगा तब तक हमारे देश का विकास भी संभव नहीं है । उस नेता के अंदर एक लीडरशिप क्वालिटी भी होना बहुत आवश्यक है । जब तक अच्छी क्वालिटी उसके अंदर नहीं होगी तब तक वह कई नेताओं को एक साथ मिलाकर कार्य नहीं कर सकता क्योंकि एक व्यक्ति पूरे देश को विकास की ओर नहीं ले जा सकता वास्तव में देश को विकास की ओर ले जाना है तो सभी को मिलकर साथ काम करना होगा ।

जब सभी साथ मिलकर काम करेंगे तो हमारे देश का विकास दिन प्रतिदिन होता जाएगा। जब कोई एक लीडर खड़ा होगा जिस लीडर में लीडरशिप क्वालिटी होगी तो वह नए भारत बनाने और देश को विकास की ऊंचाइयों पर पहुंचाने में सभी नेताओं के साथ मिलकर योगदान दे सकेंगे।

आदर्श नेता वह नेता होता है जो आवश्यकता पड़ने पर देश के हित में बड़े बड़े फैसले ले सके, हमारे देश में जो लोग गलत काम कर रहे हैं उनको सजा दिला कर उनको अच्छे रास्ते पर लाने का प्रयास कर सकें । आदर्श नेता हमेशा जनता की सुनता है और जनता की भलाई के लिए कार्य करता है। आदर्श नेता सिर्फ पार्टी के लिए काम नहीं करता है वह सिर्फ काम करता है जनता के लिए।

आदर्श नेता हमेशा शिक्षा को कैसे बढ़ाया जाए और हमारे देश के गरीबों को किस तरह से बढ़ाया जाए, देश को किस तरह से विकासशील देश बनाया जाए उस बारे में ही सोचता है । आदर्श नेता जनता के बीच में जाकर उनसे सलाह मशवरा करके और उनके फेवर में कार्य करत है जिससे जनता के विकास के रास्ते खुले और देश, जनता दोनों का विकास हो सके ।

हमारा देश एक ऐसा देश रहा है जहां पर कई महावीर पैदा हुए हैं जैसे की महात्मा गांधी , चंद्र शेखर आजाद इन लोगों ने अपनी चिंता ना करके हमारे देश को आजाद कराने में अपना योगदान दिया है । अब हमारी बारी है, हमारे देश में सभी नेताओं की बारी है कि वह स्वार्थ छोड़कर देश हित में कार्य करें और देश की जनता और देश का विकास करें।

ये लेख Aaj ke neta essay in hindi पसंद हो तो सब्सक्राइब करे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *