लॉकडाउन के दौरान मेरी पसंदीदा कलम Nibandh lockdown ke dauran meri kalam nibandh

लॉकडाउन के दौरान मेरी पसंदीदा कलम nibandh

आज हम आपके लिए लाए हैं लॉकडाउन के दौरान मेरी पसंदीदा कलम पर लिखित निबंध आप इसे जरूर पढ़ें तो चलिए पढ़ते हैं आज के हमारे इस निबंध को

Nibandh lockdown ke dauran meri kalam nibandh
Nibandh lockdown ke dauran meri kalam nibandh

प्रस्तावना– लॉकडाउन के दौरान हम सभी घर पर ही रहते थे उस समय घर पर रहते रहते मुझे लिखना बहुत पसंद था।

उस दौरान मेरी पसंदीदा कलम यानी लिखने के प्रति रुचि लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करना थी जिससे लोग कोरोना के प्रति जागरूक हो और हम इस बीमारी से बच सकें।

लोगों को लॉकडाउन के दौरान कोरोनावायरस के प्रति जागरूक करने का महत्व– लॉकडाउन के दौरान कोरोनावायरस के प्रति जागरूक करना मेरे लिए महत्वपूर्ण था क्योंकि मैं देश का सच्चा नागरिक हूं।

मेरा कर्तव्य है कि जब भी देश में कोई समस्या आए तो हम उस समस्या का डटकर सामना करें, उस समस्या को दूर करने के लिए जागरूक रहें।

प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य है और सबसे बढ़कर यह कर्तव्य एक लेखक का होता है। लेखक जिसके लेख बहुत सारे लोग पढ़ते हैं अगर वह चाहे तो अच्छे जागरूक करने वाले लेख लिखकर बहुत सारे लोगों को देश की समस्याओं से अवगत करके इसके प्रति एक अहम भूमिका निभा सकता है।

लेखक देश के प्रति जागरूक करके देश की समस्या को दूर करने में मदद कर सकता है। वास्तव में लेखक इसके प्रति महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

लॉकडाउन के दौरान कोरोनावायरस के प्रति लोगों को जागरूक करना जरूरी था इसका काफी महत्व है क्योंकि देश में इस बीमारी की वजह से बहुत सारे लोगों की मौत हो गई थी।

बहुत सारे लोगों ने अपने परिवार वालों को खो दिया था हम सभी का कर्तव्य था कि हम सभी जागरूक होकर सतर्क रहकर इस बीमारी से दूर हो सकें और लॉकडउन को जल्द से जल्द हटवाने में सरकार की मदद कर सकें।

हम सभी इस विकट बीमारी से इस समय में जूझ रहे थे मेरी कलम से जो मैंने लिखा हो सकता है उसको पढ़कर लोग इस बीमारी के प्रति जागरूक हो गए हो और अपनी दिनचर्या को बदलने का प्रयास कर रहे हो। वास्तव में एक लेखक की कलम में काफी दम होता है।

उपसंहार- लेखक की कलम से हम देश में बहुत कुछ बदलाव ला सकते हैं। आज जो कोरोनावायरस एक समस्या देश में बना हुआ है जिसकी वजह से लॉकडाउन बार-बार लग रहा है।

लॉकडाउन के दौरान अपनी कलम से लोगों को जागरूक करके मैं एक बड़ा बदलाव ला सकता हूं। लोग जागरूक होकर इस कोरोना को देश से भगाने में मदद कर सकते हैं।

हमारे द्वारा लिखित इस आर्टिकल Nibandh lockdown ke dauran meri kalam nibandh  को आप अपने दोस्तों में शेयर करें और हमें सब्सक्राइब करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *