मुंडन संस्कार के अनमोल वचन Mundan sanskar Quotes in Hindi

मुंडन संस्कार के अनमोल वचन

दोस्तों नमस्कार आज हम आपके लिए लाए हैं मुंडन संस्कार पर हमारे द्वारा लिखे अनमोल वचन चलिए पढ़ते हैं आज के इस आर्टिकल को। मुंडन संस्कार बालक के बहुत ही महत्वपूर्ण संस्कारों में से एक होता हैं काफी पहले से ही इस मुंडन संस्कार को किया जाता है। दरअसल मुंडन संस्कार बालक की जन्म की 1 या 3 साल बाद होता है परिवार के सदस्य से अपने अनुसार भी कर लेते हैं पहले यह घरों में किया जाता था लेकिन समय अनुसार यह कई दे वालों में किया जाने लगा। यह बालकों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है तो चलिए मुंडन संस्कार पर लिखे कुछ अनमोल वचनों को पढ़ते हैं।

अनमोल वचन

मुंडन संस्कार एक ऐसा संस्कार है जो बालक के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है।

ऐसा माना जाता है कि मुंडन संस्कार के बाद बालक का मुंडन किया जाता है कहते हैं कि मुंडन करने यानि बाल काटने से बच्चा स्वस्थ होता है और उसके शरीर को बल मिलता है।

मुंडन संस्कार पहली बार बालक के बालों को काटने के लिए किया जाता है।

मुंडन संस्कार के अवसर पर परिवार के सदस्य अपने कई रिश्तेदारों को भी बुलाते हैं और मुंडन संस्कार मिलजुल कर मनाते हैं।

मुंडन संस्कार परिवार एवं बच्चे के लिए काफी अच्छा होता है परिवार के सदस्य बड़े ही खुशी खुशी से मनाते हैं लेकिन इस अवसर पर पहली बार बच्चे के बाल काट रहे होते हैं इसलिए बच्चे को दुख होता है।

इस आधुनिक युग में भी मुंडन संस्कार को लोग बहुत ही महत्व देते हैं।

मुंडन संस्कार बालक के अन्य संस्कारों जैसा ही बहुत ही महत्वपुण्ड होता है।

मुंडन संस्कार के दिन कई लोगों को भी भोजन कराते हैं और पुण्य की प्राप्ति करते हैं।

कई लोग इस अवसर पर यज्ञ आदि करके पुण्य प्राप्ति करते हैं और अपने बालक के स्वास्थ्य और बल की कामना करते हैं।

दोस्तों मेरे द्वारा लिखा यह आर्टिकल आप अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें और हमें सब्सक्राइब करें धन्यवाद।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *