पानी की आत्मकथा निबंध Pani ki atmakatha in hindi

Pani ki atmakatha in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाये है अनमोल जल की काल्पनिक आत्मकथा को तो चलिए पढ़ते हैं जल की आत्मकथा को

मैं पानी हूं, हर कोई जीव जंतु, मनुष्य मेरे द्वारा ही अपनी प्यास बुझाता है यदि मैं कुछ समय तक इन सभी को ना मिलू तो लोग प्यास की वजह से मारे जाएं. मुझे काफी अच्छा लगता है कि मैं दूसरों के लिए काफी महत्वपूर्ण हूं मैं दूसरों की मदद करता हूं, मैं आसमान से बादलों के द्वारा जमीन पर गिरता हूं और नदी नालों मैं पहुंचता हूं. मैं जमीन के अंदर जाकर पीने योग्य पानी बनता हूं.

Pani ki atmakatha in hindi
Pani ki atmakatha in hindi

गर्मियों के दिनों में मेरी काफी समस्या रहती है कई लोग मुझे पाने के लिए लंबी-लंबी लाइनों में खड़े होते हैं और बड़ी मुश्किल से पानी भर पाते हैं, कई लोग बहुत सारे पैसे खर्च करके मुझे पाते हैं. गर्मियों के दिनों में चारों और मेरी समस्या होती है कई लोग मेरी पर्याप्त रूप से पूर्ति न होने के कारण ईश्वर को दोष देते हैं लेकिन वास्तव में मनुष्य ने पर्यावरण को प्रदूषित कर दिया है जिस वजह से पर्यावरण चक्र काफी प्रभावित हो रहा है और पानी की समस्याएं आती हैं. आज हम देखें तो कई जगह मैं अधिक मात्रा में गिरता हूं जिससे गांव, शहर तबाह हो जाते हैं लेकिन कई जगह लोग मुझे पाने के लिए तरस जाते हैं और मुझे पाने के लिए कई तरह के हवन कीर्तन भी करते हैं.

जब भी मेरी कोई भी समस्या नहीं होती तो इंसान मुझे लेकर एक तरह से लापरवाह सा हो जाता है वह व्यर्थ ही पानी खर्च करता है ऐसे लोगों से मैं आग्रह करता हूं कि कृपया कर आप मुझे व्यर्थ ना बहाएं, आप जरूरत पड़ने पर ही मेरा उपयोग करें, जरूरत ना पड़ने पर अपने घरों की टोटिया बंद कर दें. कई लोग ऐसे होते हैं जो पानी की बिल्कुल भी परवाह नहीं करते, वह मुझे व्यर्थ बहाते हैं उन लोगों को समझ जाना चाहिए कि पानी की एक-एक बूंद अनमोल होती है, पानी की कोई कीमत नहीं लगा सकता.

आज हम देख ही रहे हैं कि आज शहरों में पानी पैसों में बिकता है लेकिन जरा सोचिए यदि पानी की इसी तरह से समस्या होने लगी यानी कमी होने लगी तो पानी लोगों को बड़ी ही मुश्किल से मिल पाएगा इसलिए आप सभी को अभी से सतर्क होना चाहिए कि आप मुझे व्यर्थ ना बहाएं. कई लोग तो इतने अच्छे होते हैं जो मेरे जल को संचयन करते हैं यानी जब मैं वर्षा के पानी के रूप में बरसता हूं तो वह उस पानी को एकत्रित कर लेते हैं और घर के अन्य कार्यों में मेरा उपयोग करते हैं ऐसे लोग काफी अच्छे होते हैं.

मैं आपका जीवन हूं लोग रोजाना सुबह-सुबह मुझे अपने घर के में बर्तनों में भरकर रखते हैं और दिन भर अपनी प्यास बुझाते हैं, कई अच्छे लोग जानवरों पशु पक्षियों को पानी पिलाने के लिए अपने घर के द्वारे पर एवं घर की छतों पर पानी रखते हैं वो जानवर एवं पशु पक्षी मेरे उस पानी का उपयोग करके बड़े ही खुश होते हैं क्योंकि गर्मियों में मनुष्य से लेकर सभी जानवरों एवं पशु पक्षियों को मेरी सबसे ज्यादा जरूरत होती है.

कई जानवर एवं पशु पक्षी तो मुझे ना पाकर मारे जाते हैं मैं बस आखिर में आपसे यही कहना चाहता हूं कि आप मेरी कीमत को समझें, मुझे व्यर्थ ना बहाएं क्योंकि मैं आपके जीवन की रक्षा करता हूं, मैं अनमोल होता हूं लोग मुझे जल देवता भी कह कर पुकारते हैं. मैं कई महान नदियों, तालाबों में भी पाया जाता हूं वास्तव में मैं आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होता हूं.

दोस्तों हमें बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा यह आर्टिकल Pani ki atmakatha in hindi कैसा लगा इसी तरह के बेहतरीन आर्टिकल को अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *