आजकल के समय में मेरे माता-पिता के विचार essay in Hindi

आजकल के समय में मेरे माता-पिता के विचार essay in Hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं आजकल के समय में मेरे माता-पिता के विचार पर लिखा गया लेख। आप इसे पढ़ें, समझें तो चलिए पढ़ते हैं आज के हमारे इस आर्टिकल को


प्रस्तावना- आजकल के समय में हर किसी के अपने अपने विचार होते हैं। मेरे माता-पिता के भी अपने विचार हैं जो मेरे लिए काफी महत्व रखते हैं क्योंकि मेरे माता-पिता के विचारों से मैं बहुत कुछ सीखता हूं। मेरे माता-पिता के विचार जीवन में एक अच्छा इंसान बनने के लिए, सफलता की बुलंदियों को छूने के लिए काफी महत्व रखते हैं।

मेरे माता पिता के विचार-आजकल के समय में हर किसी को समय के साथ बदलना चाहिए। मेरे माता-पिता भी कुछ ऐसे ही हैं वह पुरानी सोच के हैं लेकिन फिर भी समय के साथ बदलाव उन्होंने स्वीकार किया है।

मेरे माता-पिता का विचार है कि हम सभी पूरे परिवार के साथ मिलजुलकर रहे। हम दो भाई हैं दोनों भाइयों को एक साथ वह हमेशा देखना चाहते हैं वह बिल्कुल नहीं चाहते कि दोनों भाई अलग-अलग रहे क्योंकि उन्हें ऐसा अच्छा नहीं लगता।

आजकल के समय में हम देखते हैं कि एकल परिवार अधिकतर होते हैं, संयुक्त परिवार में बहुत से ज्यादातर लोग रहना पसंद नहीं करते लेकिन मेरे माता पिता का विचार है कि हम सभी मिलजुलकर रहे और हम दोनों भाइयों की भी यही इच्छा है कि हम हमेशा मिलजुलकर साथ में इसीतरह रहें।

मेरे माता-पिता का विचार यह भी है की मेरे बच्चे सिर्फ अपने लिए कुछ ना करें अपने देश के लिए भी कुछ बड़ा करें। दरहसल मेरे माता-पिता मुझे हमेशा से ही उत्साहित करते थे कि बेटा बड़ा होकर कुछ ऐसा करना कि देश का नाम रोशन हो, छोटी मोटी नौकरी करने से सिर्फ हम अपने परिवार को चला पाते हैं लेकिन तुझे कुछ ऐसा करना है कि तू देश का कुछ भला कर सके।मैं भी अपने माता-पिता की सराहना करता हूं और उनके विचार को पूरी तरह से मानता हूं।

मेरे पिता का विचार यह भी है कि उनके लड़के की शादी हो तो घर में ऐसी बहू आये जो पूरे परिवार को संभाल ले और एक साथ में मिलजुलकर रहे। वह सुशील, सुंदर पढ़ी लिखी होने के साथ में अच्छी सोच भी रखती हो। मेरे माता-पिता का विचार है कि जीवन में हम सभी को हमेशा ईमानदारी के साथ कार्य करना चाहिए, धोखाधड़ी या बेईमानी जैसी सोच को दिलो दिमाग से निकाल देना चाहिए, कभी किसी को धोखा नहीं देना चाहिए, अच्छे गुणों को अपनाना चाहिए तभी इंसान आगे बढ़ सकता है।

वास्तव में मेरे माता-पिता के यह विचार मुझे काफी प्रभावित करते हैं। मैं उनके इन विचारों का स्वागत करता हूं।

उपसंहार- मेरे माता-पिता के विचार मुझे काफी शिक्षा देते हैं। हम दोनों भाई अपने माता पिता के विचारों का स्वागत करते हैं। हमें काफी खुशी है कि इतनी अच्छी सोच वाले हमारे माता-पिता हैं।
दोस्तों हमारे लेख को शेयर करना ना भूले।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *