अकेलापन पर कविता Poem on loneliness in hindi

अकेलापन पर कविता Poem on loneliness in hindi

दोस्तों कैसे है आप सभी,दोस्तों आज के युग में परिवार बिखर रहे है और लोग अकेले रह गए है.चाहे वो कोई बुजुर्ग हो या कोई पुरुष या स्त्री.यदि परिवार बिखरते है तो अकेलापन बहुत सताता है सच माने तो अगर कोई अकेला रहता है तो उसे बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ता है वह कई बीमारियों का भी शिकार हो जाता है क्योकि अकेलापन एक बीमारी ना होकर बीमारी का एक बहुत बढ़ा माध्यम है.

अकेलापन पर कविता
अकेलापन पर कविता

यदि आप लम्बे समय तक अकेले रहते है तो ये आपकी सेहत के लिए काफी बुरा है हमें कोशिश करनी चाहिए की हम अकेले ना रहे आज मेने इस अकेलेपन के ऊपर एक कविता लिखी है जिसे आप पढ़िए और इस बात को समझिये की अकेलापन कितना खतरनाक हो सकता है तो चलिए पढ़ते है हमारी आज की इस कविता को.

अकेलापन ही जीवन का अंधियारा है
अकेलापन ही जीवन से दूर सहारा है
अकेलापन ही बीमारियों का सहारा है
अकेलापन ही ध्यान शक्ति का सहारा है

अकेलापन से कोई ना बच पाया है
जो इसके झंझट में फस पाया है
अकेलापन ही पुरानी यादो का किनारा है
अकेलापन ही दुखो का समुन्दर है

वो कभी भी ना निकल पाया है
खुद में ही खुश रहने का बहाना है
अकेलापन ही चिंताओं को जगाता है
अकेलापन ही खुशियों को छीन जाता है

अकेलापन ही बीमारियों को जन्मता है
यह सेहत को बिगाड़ जाता है
अकेलापन ही चेहरे की मुस्कान को उड़ा जाता है
अकेलापन ही खुशियों को छीन जाता है

Related- संगठन की शक्ति पर कविता samgathan ki shakti poem in hindi

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल Poem on loneliness in hindi पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल अकेलापन पर कविता कैसा लगा इसी तरह के नए-नए आर्टिकल पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *