महिला पुलिस पर निबंध Essay on women police in hindi

Essay on women police in hindi

Women police – दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से महिला पुलिस पर निबंध के बारे में बताने जा रहे हैं । चलिए अब हम आगे बढ़ते हैं और इस आर्टिकल को पढ़कर महिला पुलिस  के बारे में जानते हैं ।

Essay on women police in hindi
Essay on women police in hindi

Image source – https://en.m.wikipedia.org/wiki/Director_general_of_police

महिला पुलिस के बारे में About women police in hindi- आज हम देख रहे हैं की महिलाएं हर क्षेत्र में अपना योगदान दे रही है । महिला पुलिस में महिलाओं की भर्ती देश के विकास के लिए बहुत बड़ी बात है क्योंकि महिलाओं पर हो रहे अत्याचार और देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भारत सरकार के द्वारा पुलिस में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई है । यह प्रयास किया जा रहा है कि अधिक से अधिक महिलाओं की भर्ती कराकर पुलिस ने महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई जाए । राज्य की सरकारें महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए पुलिस की नौकरियों में विशेष छूट दी जाती है ।

जिससे कि महिलाएं आगे आकर पुलिस में भर्ती होकर देश की सुरक्षा में अपना योगदान दें । महिला पुलिस कि अधिक से अधिक संख्या होने पर महिलाओं पर हो रहे अत्याचार में कमी आएगी । हम देख रहे हैं कि महिलाओं पर कई अत्याचार किए जा रहे हैं । दहेज प्रथा से लेकर बलात्कार जैसी घटनाएं कई क्षेत्रों में हो रही हैं । उन्हीं घटनाओं की रोकथाम के लिए महिला पुलिस की भागीदारी पुलिस में बढ़ाई जा रही है । जब महिला पुलिस होगी तब महिला थाने में जाकर महिला पुलिस के पास आसानी से रिपोर्ट दर्ज करा सकती है ।

कुछ ऐसी महिलाएं भी होती हैं जो थाने में जाने से डरती हैं । उन्हीं महिलाओं की मदद के लिए पुलिस में महिलाओं का चयन किया गया है । जिससे कि सभी महिलाएं अपने ऊपर हो रहे अत्याचार की रिपोर्ट थाने में जाकर आसानी से लिखा सकें । महिला पुलिस आसानी से अपराधी महिला की जांच पड़ताल कर सकती है । हमारे भारतीय कानून में यदि कोई महिला अपराधी है तो उस अपराधी महिला को गिरफ्तार करने के लिए महिला पुलिस रखी गई है । जिससे कि महिला पुलिस अपराध करने वाली महिला को गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश कर सकें ।

महिला पुलिस की भागीदारी महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को कम करने के लिए की गई है । जिस तरह से देश के विकास में , हर क्षेत्र में महिला अपना योगदान दे रही है उसी तरह से महिला पुलिस की नौकरी करके देश की सुरक्षा में अपना योगदान दे रही है । आज की महिला शिक्षित महिला हो चुकी हैं । सभी महिलाएं पढ़ लिख कर आगे बढ़ रही हैं । इसलिए महिलाओं की भागीदारी पुलिस में सबसे ज्यादा की जा रही है । सरकार का यह प्रयास है कि आने वाले समय में महिलाओं को पुलिस की नौकरी में आरक्षण देकर सीटें बढ़ाई जाएं जिससे कि महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को कम किया जा सके ।

भारत सरकार का यह प्रयास है कि महिला थानों का निर्माण किया जाए और महिला थाने में अधिक संख्या में महिला पुलिस को तैनात की जाए जिससे कि बलात्कार , दहेज प्रथा , अपहरण जैसे मामलों पर तुरंत कार्यवाही की जा सके । देश की कई महिलाओं ने पुलिस की नौकरी करके और पुलिस में अच्छे-अच्छे काम करके अपना एवं अपने परिवार का नाम रोशन किया है । महिला पुलिस जब ट्रेनिंग में हिस्सा लेती है तब वह पूरी मेहनत और लगन के साथ उस ट्रेनिंग लेती है ।

इसके बाद जब वह पुलिस बनकर देश की सुरक्षा में अपना योगदान देती है तब वह महिलाओं की रक्षा सुरक्षा में अपना सबसे बड़ा योगदान देती है । आज की महिला दुनिया के हर क्षेत्र में सफल महिला हैं ।  पूरी दुनिया में , भारत में ही नहीं बल्कि कई देशों में भी पुलिस में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई जा रही है क्योंकि पुरुष के साथ-साथ महिला भी अपना योगदान पुलिस में दे सकती हैं । केंद्र की सरकार के द्वारा एवं राज्य की सभी सरकारों के द्वारा महिलाओं को आगे बढ़ाया जा रहा है ।

कई क्षेत्रों में महिलाओं के लिए अलग थाने  बनाए गए हैं जिसमें महिला पुलिस तैनात रहती है और महिला पुलिस उन सभी  अपराधों पर अपनी नजर रखती हैं । पूरी मेहनत और लगन से क्षेत्र के आसपास हो रहे गलत कामों को रोकती हैं । महिला पुलिस उस व्यक्ति को गिरफ्तार करती है जो गलत काम करता है । महिला पुलिस  गलत काम  करने वाले व्यक्ति को पकड़ कर न्यायालय में पेश करती हैं । आज देश के हर राज्य में , हर जिलों में महिला पुलिस उपलब्ध है । हालांकि जितनी महिला पुलिस हमारे देश में है वह संख्या बहुत कम है ।

महिला पुलिस की भर्ती देश के सभी राज्यों में की गई है ।  अधिक महिलाओं की भर्ती पुलिस डिपार्टमेंट में होना चाहिए जिससे कि महिला भी पुलिस में भर्ती होकर देश के विकास में अपना योगदान दे सकें । जब भारत देश में ब्रिटिश शासन था तब महिलाओं की भर्ती नहीं की जाती थी । भारत देश आजाद हो जाने के बाद भारतीय कानून में कुछ बदलाव किए गए थे । पुलिस अधिनियम में कुछ बदलाव किए गए हैं और महिलाओं की पुलिस में भर्ती के लिए आरक्षण दिया गया है ।

महिला को आगे बढ़ाने के लिए और महिलाओं की रक्षा सुरक्षा के लिए महिला पुलिस का गठन किया गया है । महिला पुलिस की भर्ती ज्यादा से ज्यादा हो इसके प्रयास राज्य की सरकारें , केंद्र की सरकारें कर रही हैं ।

भारतीय महिलाओं पर हो रहे अपराधों को रोकने में महिला पुलिस की अहम भूमिका – आज हम देश में देख रहे हैं कि कई क्षेत्र में महिलाओं से जुड़े हुए अपराध सामने आ रहे हैं जो कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं । इन अपराधियों को कम करने के लिए महिला पुलिस का गठन भारत देश में किया गया है । महिला पुलिस के द्वारा ही महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को रोका जाता है ।महिलाओं पर पोस्को अधिनियम एवं महिला से जुड़े हुए कई प्रकार के अपराध को कम करने में महिला पुलिस की भूमिका रहती है ।

मैंने कई बार देखा है कि जब किसी महिला पर उसके परिवार के द्वारा , ससुराल वालों के द्वारा परेशान किया जाता है , उसको प्रताड़ित किया जाता है तब वह महिला पुलिस में जाकर रिपोर्ट लिखवाने से डरती है क्योंकि पुलिस में वह क्या जाकर कहेगी इस बात से परेशान होती थी । इसी उद्देश्य से भारत सरकार के द्वारा महिला पुलिस का गठन किया गया है जिससे कि प्रताड़ित महिला थाने में जाकर , महिला पुलिस के पास जाकर उसके ऊपर हो रहे अपराध की रिपोर्ट लिखा सकें ।

महिला पुलिस के द्वारा ही उस प्रताड़ित महिला की सुरक्षा की जाती है । जब महिलाओं की जांच करने की बात आती है तब महिला पुलिस उस महिला की जांच करती है । जब कोई महिला किसी दुकान में चोरी , चकारी करती हुई पकड़ी जाती है तब महिला पुलिस ही उस महिला की जांच करती है और उसको गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश करती है । महिला पुलिस का होना बहुत ही जरूरी है । हमारे भारत देश में महिला पुलिस की संख्या बहुत कम है । यदि महिला पुलिस की संख्या बढ़ा दी जाए तो महिलाओं पर हो रहे अत्याचार में कमी आएगी ।

महिला पुलिस ही महिला अपराधी की जांच ठीक तरह से कर सकती है ।

भारत में महिला पुलिस की वृद्धि के बारे में – भारत देश में आजादी के बाद महिला पुलिस की भर्ती करने में वृद्धि की गई है । भारत देश में 1861 का ब्रिटिश काल अधिनियम लागू था । इसके बाद इस अधिनियम में कुछ बदलाव किए गए और भारत में महिला पुलिस भर्ती पर जोर दिया गया है । परंतु जितनी संख्या में महिला पुलिस भर्ती होना चाहिए उतनी संख्या में नहीं हो रही है । एक बार जब नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो ने सर्वे कराया तब उस सर्वे में यह पता चला था कि 2001 में महिला पुलिस की भर्ती 2 प्रतिशत की गई थी ।

2001 के बाद सन 2016 में 7% वृद्धि महिला पुलिस मे की गई थी । यह वृद्धि काफी नहीं है । हालांकि 2001 और 2016 के बीच में महिला पुलिस भर्ती की वृद्धि की गई है । परंतु यह वृद्धि बहुत कम है । पूरे भारत में महिलाओं से जुड़े हुए अपराध बड़ी संख्या में सामने आ रहे हैं । महिलाओं पर निरंतर अपराध हो रहे हैं । यदि उन अपराधों में हमें कमी लाना है तो महिला पुलिस स्टेशन का अलग से गठन करना होगा और महिलाओं को सुरक्षित करने के लिए अधिक से अधिक संख्या में महिला पुलिस की भर्ती करानी होगी ।

हालांकि भारत देश में महिलाओं को हर क्षेत्र में आगे बढ़ाया जा रहा है । महिलाओं को सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंचाने के लिए महिला पुलिस की भर्तियां केंद्र एवं राज्य की सरकारों के द्वारा की जा रही हैं । महिला ज्यादा से ज्यादा पुलिस में भर्ती होकर अपना योगदान दें इसके लिए भारतीय कानून में महिलाओं को 30 से 37% आरक्षण दिया जाता है ।जिससे कि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं पुलिस में भर्ती होने के लिए आवेदन करें । महिलाएं जब पुलिस की वर्दी पहनेगी तब अन्य महिलाएं अपने आप को सुरक्षित महसूस करेंगी ।

महिला पुलिस ही महिलाओं की सुरक्षा आसानी से  कर सकती हैं । महिलाओं की  सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सरकार भी चिंतित है । सरकार भी यह चाहती है कि देश की सभी महिलाओं को सरकार की तरफ से सुरक्षा प्रदान की जाए । इसलिए सरकार महिला को आरक्षण देकर पुलिस में भर्ती करने के लिए उत्साहित करती है । हर तरह का आरक्षण महिलाओं को सरकार के द्वारा दिया जाता  है । जिससे कि ज्यादा से ज्यादा महिला पुलिस में भर्ती हो सके और महिलाओं की सुरक्षा कर सकें । एक महिला को सिर्फ महिला ही समझ सकती है ।

जब कोई महिला अपराध करती है तब महिला पुलिस ही उससे पूछताछ अच्छी तरह से कर सकती है । कई ऐसी घटनाएं हम देख चुके हैं जो महिला पुलिस के माध्यम से कम की गई हैं । महिला पुलिस पूरी मेहनत और लगन से भारतीय महिलाओं , भारतीय लोगों की रक्षा सुरक्षा करती हैं । यदि हम अन्य देशों की बात करें तो अन्य देशों में भी महिला पुलिस की भर्ती मे वृद्धि पर जोर दिया जा रहा है । हमारे देश में 2% से 7% की वृद्धि पुलिस महिला पुलिस बल में की गई है । परंतु दोस्तों यदि हम अमेरिका , कनाडा , दक्षिण अफ्रीका , ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो इन देशों में महिला पुलिस की भागीदारी तकरीबन 15 से 20% की गई है ।

जहां पर अधिक से अधिक संख्या में महिला पुलिस की भर्ती की जाती है और इन देशों की सभी महिलाओं की पूरी सुरक्षा महिला पुलिस के द्वारा की जाती है । इसीलिए इन देशों में महिलाओं पर कम अत्याचार होते हैं । परंतु हमारे देश में जितनी महिला पुलिस होनी चाहिए उतनी नहीं है । यदि हम भारत की महिलाओं को सुरक्षा देना चाहते हैं तो भारतीय सरकार को यह कोशिश करना चाहिए कि महिला पुलिस की भर्ती में वृद्धि करें , अधिक से अधिक संख्या में देश के चारों तरफ महिला पुलिस स्टेशन खोले जाएं और उन पुलिस स्टेशनों में अधिक से अधिक महिला पुलिस तैनात की जाए । जिससे कि कोई भी महिला थाने में जाकर , महिला पुलिस के पास जाकर उस पर हो रहे अत्याचार की घटना को स्पष्ट रूप से बता सके ।

यदि दोस्तों महिला पुलिस नहीं होती तो कोई महिला अपने ऊपर हो रहे अत्याचार को स्पष्ट रूप से पुलिस को बताने में हिचकिचाती  इसलिए महिला पुलिस की भर्ती भारत देश में की गई है ।

भारत देश में महिलाओं से जुड़े कुछ अपराधो के बारे में About some crimes related to women in India- भारत देश में महिलाओं पर कई अपराध किए जा रहे हैं ।भारत देश के ही एक चेन्नई शहर में सन 2000 में जब सर्वे कराया गया था तब उस सर्वे में यह पता चला था कि महिलाओं पर हुए अपराधों की संख्या 4037 है । जो पूरे देश में सबसे अधिक है । चेन्नई में महिलाओं पर सबसे ज्यादा अपराध प्रकरण दर्ज किए गए हैं । 2000 के बाद सन 2013 में जब चेन्नई शहर का सर्वे कराया गया था तब उस सर्वे में यह पाया गया था कि महिलाओं पर हुए अत्याचार के मामले 838 मामले दर्ज हुए थे ।

हालांकि सन 2000 की अपेक्षा सन 2013 में चेन्नई शहर में हुए महिलाओं पर अपराध प्रकरण में कमी आई है । इसी तरह से देश के हर क्षेत्र में महिलाओं से जुड़े कई अपराध प्रकरण दर्ज किए गए हैं । दिल्ली में भी महिलाओं पर अपराध के कई प्रकरण पुलिस थाने में दर्ज किए गए हैं ।2000 में जब दिल्ली का सर्वे कराया गया था तब पता चला था कि दिल्ली में 2122 मामले  महिला अपराध प्रकरण दर्ज किए गए हैं । 2013 में दिल्ली में महिला अपराध पर प्रकरण 11449 दर्ज किए गए थे ।

जो संख्या बहुत अधिक थी । इन सभी अपराधों को कम करने के लिए महिला पुलिस बल की तैनाती की गई है । महिला पुलिस बल अपने अथक प्रयासों से इन प्रकरणों को सुलझाने में लगी हुई है । महिला पुलिस का गठन हमारे देश में इसी उद्देश्य किया गया था कि देश की महिलाओं को सुरक्षा व्यवस्था दी जाए । भारत सरकार के द्वारा यह प्रयास किया जा रहा है कि आने वाले समय में ज्यादा से ज्यादा संख्या में महिला पुलिस की भर्ती की जाए और जो महिलाओं पर अत्याचार करते हैं उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए ।

भारत देश में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार , दहेज प्रथा , बलात्कार जैसी घटनाओं को रोकने में महिला पुलिस अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है । महिला पुलिस पूरी मेहनत और लगन के साथ उन अपराधियों को पकड़ कर न्यायालय में पेश करती है और महिला को न्याय दिलाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है । आज हम देख रहे हैं कि लड़कियां शिक्षित हो रही हैं और अपने जीवन में सफलता प्राप्त कर रही हैं ।

महिला सफल बनने के लिए अपने घर से बाहर काम करने के लिए दफ्तरों में जाती हैं । वहां पर जब उस महिला के ऊपर अत्याचार किया जाता है , यौन उत्पीड़न जैसी घटना महिलाओं के साथ हो जाती है तब महिला पुलिस वहां जाकर जांच पड़ताल करके उस प्रताड़ित महिला को न्याय दिलाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देती है । जब देश के कई अपराधी लड़कियों का अपहरण करके ले जाते हैं तब  महिला पुलिस उस लड़की को सुरक्षित लाने के लिए अपना योगदान देती है ।

इसी तरह से जब किसी बहू पर ससुराल वालों के द्वारा अन्याय किया जाता है , क्रूरता की जाती है तब दहेज प्रथा का केस महिला पुलिस थाने में जाकर महिला पुलिस के पास रिपोर्ट दर्ज करा सकती है । जब महिला के द्वारा थाने में केस दर्ज किया जाता है तब महिला पुलिस उसके ससुराल वालों के पास जाकर पूछताछ करती है और ससुराल वालों के ऊपर दहेज प्रथा का केस दर्ज करके उनको न्यायालय में पेश करती है । कई लोग पैसा कमाने के लिए , एक सफल इंसान बनने के लिए कई क्षेत्र से लड़कियों का अपहरण करके सेक्स के व्यापार में धकेल देते हैं । जिससे उन सभी लड़कियों की जिंदगी बर्बाद हो जाती है ।

महिला पुलिस उन अपराधों को रोकने में अपना योगदान देती है और जो व्यक्ति ऐसा घिनौना काम करते हैं उन अपराधियों को पकड़ कर न्यायालय में पेश करती हैं । उनको कड़ी से कड़ी सजा दिलवाती हैं । हमारे भारत देश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए महिला पुलिस बल एवं महिला एवं बाल विकास विभाग का भी गठन किया गया है । जब महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा एक सर्वे कराया गया था तब उस सर्वे में यह पता चला था कि 100 में से तकरीबन 80 महिलाएं अपनी सुरक्षा को लेकर बहुत चिंतित हैं  क्योंकि हमारे भारत देश में महिला पुलिस बल की संख्या बहुत ही कम है ।

यदि महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को रोकना है तो भारत देश में महिला पुलिस की भर्ती अधिक से अधिक करनी होगी । बड़ी-बड़ी सिटी एवं महानगरों में महिलाओं की सुरक्षा व्यवस्था के लिए अलग से महिला थाने खोले गए हैं । जहां पर कई महिला पुलिस की तैनाती की गई है जो महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए हमेशा तत्पर एवं सजग रहती हैं । जब कोई महिला , महिला पुलिस के पास सुरक्षा की गुहार लगाती हुई जाती है तब महिला पुलिस उस प्रताड़ित महिला की पूरी तरह से मदद करती हैं क्योंकि एक महिला ही दूसरी महिला का दर्द , तकलीफ समझ सकती है ।

हमारे भारत देश में महिलाओं को देवी के रूप में पूजा जाता है परंतु कुछ राक्षस कुल के लोग महिलाओं पर अत्याचार करके उनको प्रताड़ित करते हैं । हमें महिला पुलिस को सम्मान देना चाहिए क्योंकि महिला पुलिस अपनी जान जोखिम में डालकर सभी महिलाओं की एवं देश की रक्षा सुरक्षा में अपना योगदान देती हैं । भारत देश की कई ऐसी महान महिलाएं हैं जिन्होंने महिला पुलिस में रहकर कई अच्छे काम किए हैं । जिन कामों की सराहना पुलिस डिपार्टमेंट में आज भी की जाती है ।

भारतीय नागरिकों का यह दायित्व बनता है कि वह  देश की महिलाओं का मान सम्मान करें उनको इज्जत दें क्योंकि हमारे देश में प्राचीन समय से ही महिलाओं को घर की लक्ष्मी कहा जाता है । जिस घर में महिलाओं का मान सम्मान नहीं होता है उस घर में कभी भी लक्ष्मी का वास नहीं होता है । हमारे देश में भी महिला पुलिस का गठन महिलाओं की रक्षा सुरक्षा के लिए किया गया है । हमें भी हमारे देश की महिला पुलिस का सम्मान करना चाहिए ।

हमें भारतीय सरकार से यह गुजारिश करनी चाहिए कि जिस तरह से अमेरिका में महिला पुलिस की तैनाती की गई है  उसी  तरह भारत देश में भी ज्यादा से ज्यादा महिला पुलिस बल की तैनाती की जानी चाहिए । जिस तरह से अमेरिका में 15 से 20% महिला पुलिस अपना योगदान देश की सुरक्षा में देती है उसी तरह से हमारे देश में भी महिला पुलिस की भर्ती अधिक संख्या में होनी चाहिए । जिस देश में महिला को पुरुष के बराबर का दर्जा दिया जाता है उस देश की महिलाएं अपने आप को सुरक्षित महसूस करती हैं ।

महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को कम करने के लिए भारत सरकार को ज्यादा से ज्यादा संख्या में महिला पुलिस की भर्ती में वृद्धि करनी चाहिए ।

दोस्तों हमारे द्वारा लिखा गया यह बेहतरीन लेख महिला पुलिस पर निबंध Essay on women police in hindi यदि आपको पसंद आए तो सबसे पहले आप सब्सक्राइब करें इसके बाद अपने दोस्तों , रिश्तेदारों में शेयर करना ना भूलें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *