अंत भला तो सब भला पर कहानी Ant bhala to sab bhala short story in hindi

Ant bhala to sab bhala short story in hindi

आज मैं आपको एक कहानी सुनाने जा रहा हूं जो अंत भला तो सब भला पर आधारित है. एक बार एक राजा जंगल मैं जा रहा था ,तो वह राजा रास्ता भटक गया और भटकते, भटकते वह एक कुटिया मे जा पहुंचा जहां पर उस राजा का बहुत सत्कार किया गया, भोजन कराया गया और सम्मान किया गया जिससे राजा बहुत खुश हुआ और उस कुटिया मैं रहने वाले व्यक्ति को इनाम देने के बारे में सोचने लगा, बाद में उस राजा ने यह फैसला किया की उस व्यक्ति को इनाम मिलना चाहिए.

उस राजा ने उस व्यक्ति को पास बुलाकर कहा कि मैं आपसे बहुत खुश हूं  मैं आपको इनाम देना चाहता हूं. राजा ने उस व्यक्ति को ऐसी जमीन देने की बात बताई जिस जमीन में चंदन के पेड़ लगे हुए थे और वह जमीन उस व्यक्ति को दे दी जिससे वह व्यक्ति अपने परिवार का भरण पोषण कर सकें ,लेकिन उस व्यक्ति ने चंदन की लकड़ी का उपयोग करने की बजाए चंदन की लकड़ी को जलाकर उस लकड़ी का कोयला बनाकर शहर में बेचना शुरू कर दिया.

Ant bhala to sab bhala short story in hindi
Ant bhala to sab bhala short story in hindi

और धीरे-धीरे सारे पेड़ उसने जला दिए अंत में उसके पास सिर्फ एक पेड़ बचता है और इसके बाद बारिश का समय आ जाता है। जिस कारण से वह उस पेड़ को नहीं काट पाता है. एक व्यक्ति उसके पास आकर उस पेड़ के बारे में पूछता है कि आप इस पेड़ की लकड़ी को तोड़कर मुझे बेचना चाहते हो तो मैं इस पेड़ की लकड़ी को खरीदने के लिए तैयार हूं और लकड़ी के बदले में आपको धन देने के लिए तैयार हूं।

जब उस व्यक्ति को यह पता चला कि इस व्यक्ति ने चंदन के पेड़ को जलाकर कोयला बनाकर बाजार में बेच दिया है तब उस व्यक्ति ने उसे समझाया कि चंदन का क्या महत्व होता है और वह व्यक्ति समझ गया और उसको पछतावा होने लगा कि अगर मैं चंदन के पेड़ों को नहीं जलाता तो कितने वर्षों तक मेरे परिवार का भरण पोषण आसानी से होता रहता और वह व्यक्ति सोचने लगा की अंत भला तो सब भला।

अगर आपको हमारी ये कहानी Ant bhala to sab bhala short story in hindi पसंद आई हो तो इसे शेयर जरुर करे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *