चरित्र निर्माण पर निबंध charitra nirman essay in hindi

charitra nirman essay in hindi

जो व्यक्ति अपने अंदर अच्छे चरित्र का निर्माण करता है वह सदैव सफलता की ओर बढ़ता है । उसे किसी तरह की कोई भी समस्या उत्पन्न नहीं होती है और वह सफलता को पाने के लिए रास्ते ढूंढता है । वह किसी भी तरह का कोई भी गलत काम नहीं करता है । वह अपने चरित्र को खराब करने के लिए किसी से झूठ भी नहीं बोलता है । हम सभी अपने चरित्र को बचाने के लिए बचपन से ही अच्छे संस्कार प्राप्त कर उन संस्कारों के विरुद्ध नहीं जाते हैं । हमें कोशिश करना चाहिए कि हम कभी भी किसी से झूठ ना बोलें और किसी तरह का कोई ऐसा काम ना करें जिसके कारण दूसरा व्यक्ति इसका नुकसान भुगते ।

charitra nirman essay in hindi
charitra nirman essay in hindi

हमें कोशिश करना चाहिए कि हम ज्ञान प्राप्त करके अपने संस्कार को अपनाकर अच्छे लोगों के साथ रहे एवं किसी से झूठ ना बोले । हमें सदैव अपने अंदर सेवा , दया की भावना रखना चाहिए । कभी भी अपने ऊपर घमंड नहीं करना चाहिए । सदैव दूसरों पर परोपकार करते रहना चाहिए । अगर कोई व्यक्ति से अनजाने में किसी तरह की भूल हुई है तो उसे क्षमा भी कर देना चाहिए । कोई व्यक्ति आपको परेशान करता है तो सबसे पहले इसको समझाना चाहिए अगर वह समझ नहीं पा रहा है तो उसे दोबारा समझाना चाहिए अगर फिर भी नहीं समझे तो उसका साथ छोड़ देना चाहिए क्योंकि अगर उस गलत व्यक्ति के साथ आप रहेंगे तो आप भी उसी के तरह गलत काम करने लगेंगे और आपका चरित्र भी खराब हो जाएगा जिसके कारण समाज भी आपका मान सम्मान नहीं करेगी । जिस मान-सम्मान को पाने के लिए अपने आपको समाज के सामने अच्छा बनाया है वह क्षण भर में बिगड़ जाएगा , आप उनकी नजरों में गिर जाओगे । हम जब कोई काम करते हैं तो उसे सोच समझ कर करना चाहिए कि यह काम सही है या गलत जो काम हम कर रहे हैं उस काम से किसी दूसरे व्यक्ति को हानि तो नहीं पहुंच रही है ।

क्योंकि मानव जीवन का सबसे बड़ा धन चरित्र होता है । जो व्यक्ति अपने चरित्र को संभाल कर रखता है और किसी भी परिस्थिति में वह असत्य का साथ नहीं देता है तो वह समाज के नजरों में मान सम्मान पाने का हकदार बन जाता है । हमें सदैव अपना व्यवहार दूसरों के प्रति शिष्टाचार जैसा रखना चाहिए । जब हम किसी दूसरे के प्रति दया भाव रखते हैं तो दूसरे व्यक्ति भी हमारे प्रति दया भाव रखते हैं । जब हम किसी व्यक्ति के साथ अच्छा करेंगे तो हमारे साथ भी सभी लोग अच्छा करते हैं । मैं तो यही कहूंगा कि हमारा जैसा आचरण होता है हम वैसे ही काम करते हैं । हमें सदैव हमारी सोच अच्छी रखनी चाहिए कभी भी बुरा काम करने की सोच नहीं रखना चाहिए क्योंकि जो लोग बुरा काम करने की सोच रखते है वह जरूर गलत काम करते है जिसके कारण उसका और उसके परिवार का विनाश हो जाता है ।

हमें सभी अच्छे लोगों की संगति में रहना चाहिए यदि हम ऐसे व्यक्ति के साथ में रह रहे हैं जो झूठ बोलते हैं तो हमें भी झूठ बोलने की आदत पड़ जाती है । यदि हम ऐसे व्यक्ति के साथ में रह रहे हैं जो किसी भी कीमत पर झूठ नहीं बोलते सदैव सच्चाई का साथ देते हैं तो हमें भी सच्चाई का साथ देने की आदत पड़ जाएगी और हम एक सच्चे व्यक्ति बन जाएंगे । हमें सदैव क्रोध को त्यागना चाहिए , सदैव शांत रहना चाहिए और जब कोई फैसला लेना हो तो उसे सोच समझ कर एवं शांत दिमाग से लेना चाहिए । अगर कोई गरीब हमारे सामने मदद मांगने के लिए खड़ा है उस व्यक्ति की मदद करना चाहिए ।

दोस्तों यह लेख charitra nirman essay in hindi आपको अच्छा लगे तो शेयर जरूर करें धन्यवाद ।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *