नारी अत्याचार पर कविता Hindi poem on nari atyachar

Hindi poem on nari atyachar

दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज हम देखें कि नारी पर कई तरह के अत्याचार किए जाते हैं नारी जो महान है जो देवी का अवतार समझी जाती है वहीं दूसरी ओर महिलाओं पर कई तरह के अत्याचार भी देखने को मिलते हैं। महिलाओं पर अत्याचार कई कारणों की वजह से होते हैं वास्तव में महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों को खत्म करने की जरूरत है जिससे महिला भी इस देश में सुरक्षित रह सके और जीवन में आगे बढ़ सके। आज हमने नारी अत्याचार पर एक कविता लिखी है आप इसे जरूर पढ़ें तो चलिए पढ़ते हैं आज की इस कविता को

Hindi poem on nari atyachar
Hindi poem on nari atyachar

नारी पर क्यों हो रहा है अत्याचार

नारी है देवी का अवतार

नारी मां है बहन भी है

नारी हर घर की लक्ष्मी भी है

 

नारी को कमजोर समझने की गलती ना करो

उस पर अत्याचार कर के पाप के भागी ना बनो

दुर्गा स्वरूपा नारी का सामना कैसे करोगे

जीवन में आंसूओ से कैसे बचोगे

 

नारी की सहनशीलता को समझो तुम

कमजोर समझकर अत्याचार ना करो तुम

जब जागेगी नारी तो तुम सबपर भारी होगी नारी

नारी पर क्यों हो रहा है अत्याचार

नारी है देवी का अवतार

 

दोस्तों यदि आपको हमारे द्वारा लिखा ये आर्टिकल Hindi poem on nari atyachar पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *