मेरा प्रिय खेल बैडमिंटन पर निबंध Essay on mera priya khel badminton in hindi

mera manpasand khel badminton essay

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं मेरा प्रिय खेल बैडमिंटन पर हमारे द्वारा लिखित निबंध यह निबंध विद्यार्थियों की मदद के लिए लिखा गया है विद्यार्थी इस विषय पर निबंध लिखने के लिए यहां से अच्छी तैयारी कर सकते हैं चलिए पढ़ते हैं आज के इस निबंध को।

Essay on mera priya khel badminton in hindi
Essay on mera priya khel badminton in hindi

खेल हम सभी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं खेल खेलने से हमें कई तरह के लाभ होते हैं खेल खेलने से शारीरिक एवं मानसिक लाभ हमें प्राप्त होते हैं, हमारा मनोरंजन भी होता है और साथ में हमारा व्यायाम भी होता है. हमारे देश में कई खेल खेले जाते हैं जिनमें से एक खेल बैडमिंटन भी है जो कि हमारे भारत देश के लोग खेलना काफी पसंद करते हैं। बैडमिंटन एक ऐसा बेहतरीन खेल है जिसमें बहुत ही कम नियम होते हैं लोग उसे आसानी से खेल सकते हैं इस खेल को खेलने के लिए ज्यादा लोगों की जरूरत नहीं पड़ती ज्यादातर यह खेल दो लोगों के बीच में खेला जाता है लेकिन इसे 4 लोग भी खेल सकते हैं इस खेल को खेलने के लिए लोहे के बने दो रैकेट की जरूरत होती है जिन पर प्लास्टिक का धागा लपेटा जाता है इसके साथ में एक शटलकॉक होती है जिसमें एक रबर की गेंदनुमा आकार में चिड़ियों की तरह के पंख लगे होते हैं जिसको खिलाड़ी रैकेट के द्वारा एक दूसरे की ओर उछालते हैं इस तरह से यह खेल खेला जाता है।

इस खेल को भारत ही नहीं कई विदेशों के लोग भी काफी पसंद करते हैं. मेरा प्रिय खेल बैडमिंटन ही है मैं बैडमिंटन खेलना बहुत पसंद करता हूं अक्सर स्कूल से आने के बाद मैं बैडमिंटन खेलता हूं, मैं अपने आस-पड़ोस के दोस्तों के साथ बैडमिंटन खेलना पसंद करता हूं, कभी-कभी मैं अपने छोटे भाइयों के साथ भी बैडमिंटन खेलता हूं। बैडमिंटन खेलने में सबसे अच्छा ऐ है कि खेलते समय चोट लगने का कोई खतरा नहीं होता और एक्सरसाइज भी हो जाती है साथ में भरपूर मनोरंजन होता है। अन्य खेलों में जहां हमें खेल खेलने के लिए बहुत से साथियों की जरूरत पड़ती है लेकिन बैडमिंटन में हम 2 लोग इस खेल को खेल सकते हैं और भरपूर मनोरंजन के साथ में हम व्यायाम भी कर सकते हैं जिससे हमें कई लाभ भी होते हैं मुझे बैडमिंटन खेलना काफी पसंद है। कभी-कभी तो मैं अपने पिताजी के साथ भी बैडमिंटन खेलता हूं यह मेरा काफी प्रिय खेल है हमारे शहर में अधिकतर शाम को यह खेल खेला जाता है कुछ लोग अपने घर की छतों पर भी यह खेल खेलते हैं। बच्चे, बूढ़े, नौजवान, औरतें सभी यह खेल खेलना पसंद करते हैं।

बैडमिंटन खेल अक्सर हमारे स्कूलों में खेला जाता है हमें इस खेल को खेलना सिखाया जाता है हम बहुत ही खुश होते हैं। बैडमिंटन खेल की प्रतियोगिता भी हमारे स्कूल में होती हैं हम सभी इस प्रतियोगिता में भाग जरूर लेते हैं क्योंकि बैडमिंटन खेलने से किसी भी तरह की चोट लगने का डर नहीं होता हम मनोरंजन करते करते इस खेल को बहुत ही आसानी से खेलते हैं और अपने साथ में दूसरों का भी बहुत मनोरंजन करते हैं क्योंकि बैडमिंटन खेलने के साथ में बैडमिंटन देखना भी बहुत ही अच्छा लगता है। आजकल के बच्चों को देखें तो कई बच्चे ऐसे भी होते हैं जो अपना बहुत सा समय कंप्यूटर, मोबाइल पर गेम खेल कर बिताते हैं लेकिन बैडमिंटन जैसे खेल जिसे सिर्फ दो खिलाड़ी ही खेल सकते हैं और अपना भरपूर मनोरंजन करने के साथ में एक्सरसाइज भी कर सकते हैं इस खेल को खेलने से कई तरह के लाभ भी हैं इससे हमारा शरीर का रक्त संसार ठीक रहता है, मोटापा भी दूर हो जाता है इसे खेलने से शरीर में स्फूर्ति आती है और मनोरंजन के साथ में हमारा भरपूर व्यायाम होता है शरीर की कई अन्य बीमारियों से भी हम बच सकते हैं। वास्तव में हम सभी को समय मिलने पर बैडमिंटन जरूर खेलना चाहिए यदि आप व्यायाम करने में अपना समय नहीं दे पाते हैं तो आप बैडमिंटन खेल सकते हैं यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Essay on mera priya khel badminton in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *