गांधी जयंती पर भाषण Gandhi jayanti speech in hindi

Gandhi jayanti speech in hindi

दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं गांधी जयंती पर हमारे द्वारा लिखित भाषण. हमारे द्वारा लिखित इस भाषण से आप अपने स्कूल,कॉलेज या किसी संस्थान में गांधी जयंती पर भाषण बोलने के लिए यहां से जानकारी लेकर तैयारी कर सकते हैं तो चलिए पढ़ते हैं हमारे द्वारा लिखित इस आर्टिकल को

Gandhi jayanti speech in hindi
Gandhi jayanti speech in hindi

मेरे आदरणीय अध्यापक महोदय एवं मेरे प्रिय साथी गण आप सभी को मेरा नमस्कार. मेरा नाम कमलेश कुशवाह है सबसे पहले मैं गांधी जयंती के इस शुभ अवसर पर महात्मा गांधी जी को नमन करता हूं. दोस्तों महात्मा गांधी जी अहिंसा के मार्ग पर चलने वाले एक महान नेता थे इनका जन्म 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था आज के दिन ही यानी 2 अक्टूबर को इनका जन्म हुआ था इसलिए हम गांधी जयंती आज के दिन मनाते हैं. महात्मा गांधी जी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था महात्मा गांधी जी ने अपने देश को आजाद कराने के लिए कई आंदोलन किए थे वह अहिंसा के मार्ग पर चलने वाले थे उन्होंने अहिंसा के दम पर ही देश को आजाद करा दिया था. आज के दिन इस गांधी जयंती के अवसर पर हम सभी को महात्मा गांधी जी के जीवन काल से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है.

हम सब भी अहिंसा के दम पर बहुत कुछ कर सकते हैं, बहुत कुछ जीत सकते हैं जो हिंसा से नहीं पाया जा सकता है वह हम अहिंसा से पा सकते हैं. महात्मा गांधी जी ने देश के लिए कई आंदोलन किए जैसे कि असहयोग आंदोलन जो कि उन्होंने 1920 में किया था उन्होंने दांडी यात्रा भी की और भारत छोड़ो आंदोलन भी महात्मा गांधी जी ने किया इनके किए गए कार्यों की वजह से हमारे देश को आजादी मिली. महात्मा गांधी जी ने इसके अलावा भी हमारे देश में फैली कुरीतियों, किसानों पर हो रहे अत्याचारों को दूर करने के लिए भी कार्य किये. वैसे हम देखें तो महात्मा गांधी जी ने विदेश में शिक्षा प्राप्त की थी वह चाहते तो अच्छा पैसा कमाकर अपने जीवन में आगे बढ़ सकते थे लेकिन इस महान विभूति के अंदर देश प्रेम था वह देश के लिए, देश के नागरिकों के लिए कुछ करना चाहते थे इसलिए उन्होंने देश के लिए अपने प्राणों का भी बलिदान दे दिया.

उन्होंने अपने प्राणों की बिल्कुल भी परवाह नहीं की. गांधी जयंती के दिन हम सभी को महात्मा गांधी जी के रास्ते पर चलने की जरूरत है आज के दिन हम जैसे नौजवानों को महात्मा गांधी जी से सीख लेने की जरूरत है कि जो हिंसा नहीं कर सकती वह अहिंसा कर सकती है. महात्मा गांधी जी देश के राष्ट्रपिता हैं हम सभी उन्हें नमन करते हैं मैं आज के दिन यही चाहता हूं कि यहां पर खड़ा हुआ हर एक नागरिक आज के दिन महात्मा गांधी जी के बताए हुए मार्ग पर चलें और देश से प्रेम करें, देश के लिए कुछ करें इसी के साथ मैं अपने शब्दों को विराम देता हूं जय हिंद जय भारत धन्यवाद.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Gandhi jayanti speech in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *