जीतने के लिए रिस्क कहानी Short story competition in hindi

Short story competition in hindi

दोस्तों एक लड़का रोजाना अपने स्कूल से आता और अपने पिता से कहता कि पिताजी मैं फुटबॉल बहुत ही अच्छी तरह से खेला हूं आज मैं इस खेल में जीता हूं यह बात सुनकर उसके पापा बहुत खुश होते है उनको लगता कि बच्चा फुटबॉल खेलने में अच्छा है फिर कुछ दिनों बाद वह बच्चा दोबारा अपने पिता के यहां पर पहुंचकर कहता कि पिताजी आज मैंने फुटबॉल में फिर से जीत हासिल की।

Short story competition in hindi
Short story competition in hindi

पिताजी अपने बच्चे को देखकर गर्व महसूस करते और खुशी होते। एक दिन उसके बच्चे ने उसको बताया की हमारे स्कूल की जो फुटबॉल की प्रतियोगिता होने वाली है उस प्रतियोगिता में उसको नहीं लिया गया तो उस बच्चे के पिता स्कूल में गए उन्होंने प्रिंसिपल से मुलाकात की और कहा कि मेरा बच्चा फुटबाल खेलने इतना अच्छा है फिर भी आपने उसे अपनी स्कूल की प्रतियोगिता में से बाहर क्यों कर दिया तभी प्रिंसिपल बच्चे के पिता को अपने साथ ले गए और कहने लगे की आपका लड़का फुटबॉल खेलता तो है लेकिन छोटे बच्चों के साथ खेलता है इसको अपने बराबर के बच्चों के साथ फुटबॉल खेलने में डर लगता है ये सोचता है कि मैं उनके साथ खेलूंगा तो हार जाऊंगा और वह खेलने की कोशिश ही नहीं करता इसी वजह से उसके बराबर के बच्चों से वह कभी जीत नहीं पाता इसलिए आज हमने उसे प्रतियोगिता में से बाहर कर दिया है
बच्चे के पिता बहुत ही निराश हुए क्योंकि उनका बच्चा जीवन की कठिनाई से पीछे हट रहा था

कुछ लोग अक्सर ऐसा ही करते हैं जब भी कोई काम हमें सरल लगता है हम उसे करते हैं लेकिन कठिन काम को करना नहीं चाहते क्योंकि हमें लगता है कि हम उसमें हार जाएंगे लेकिन वास्तव में असली जीत तो तभी मिलती है जब हम कोई ऐसा काम करें जिसमें रिस्क हो वहां पर ही जीतने के और आगे बढ़ने के ज्यादा चांस होते हैं

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Short story competition in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *