घोड़े पर निबंध Essay on horse in hindi

Essay on horse in hindi

essay on ghoda in hindi-दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज हम आपके लिए लाए हैं घोड़े पर लिखित निबंध। अक्सर स्कूल की परीक्षाओं में बच्चों से कई जानवरों के ऊपर निबंध लिखने के लिए कहा जाता है इसीलिए हम बच्चों की मदद के लिए आज आपके लिए एक और जानवर घोड़े पर निबंध यहां प्रस्तुत कर रहे हैं विद्यार्थी यहां से जानकारी लेकर अपने ज्ञान को बढ़ा सकते हैं और परीक्षाओं में निबंध लिखने के लिए मदद ले सकते हैं तो चलिए पढ़ते हैं आज के इस आर्टिकल को

Essay on horse in hindi
Essay on horse in hindi

घोड़ा एक बहुत ही शक्तिशाली जानवर होता है इसके 4 पैर होते हैं जिनसे यह बहुत ही तेजी से दौड़ता है घोड़ा ज्यादातर भूरे रंग का होता है लेकिन यह कई रंगों का भी हो सकता है क्योंकि इसकी प्रजाति अलग-अलग होती हैं। घोड़ा एक शाकाहारी जानवर है यह घास फूस, चना, सब्जियां आदि खाता है। प्राचीन काल से ही घोड़े को पाला जाता है राजा महाराजा और सैनिक घोड़ों का उपयोग करते थे दरअसल सेनापति या सैनिक घोड़ों पर सवार होकर युद्ध के मैदान में उतरते थे। राजा महाराजाओं के रथो के आगे घोड़े होते थे घोड़ा बहुत ही तेजी से दौड़ता है इसीलिए पहले के जमाने में राजा महाराजा भी कहीं जाने के लिए भी इसका उपयोग करते थे। पहले जब एक स्थान से दूसरे स्थान तक कोई भी साधन नहीं था तब घोड़े का उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता था घोड़ा सबसे तेज दौड़ता है और यह बहुत ही जल्दी दूसरे स्थान पर पहुंचा देता था इसलिए रानी लक्ष्मीबाई, महाराणा प्रताप एवं और भी राजा-महाराजाओं ने घोड़े को अपनी सवारी के रूप में उपयोग किया है और कई युद्ध जीते हैं लेकिन बदलते जमाने में यातायात के साधन भी बदल रहे हैं आजकल घोड़े की जगह मोटरबाइक, कारों ने ले ली है इसलिए घोड़े बहुत ही कम देखने को मिलते हैं।

आज शहरों में हमें तांगे देखने को मिलते हैं यह घोड़ा की एक गाड़ी है इसका प्रयोग हम एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने के लिए करते हैं। आजकल शादियों में भी घोड़ी का प्रयोग किया जाता है भले ही आज जमाना बदल गया हो लेकिन शादि में आज भी दूल्हे को घोड़ी पर बिठाते हैं और दुल्हन के दरवाजे तक पहुंचाते हैं दूल्हे के आगे पीछे कई लोग आते है उसके साथ नाचते हुए जाते हैं। घोड़ी पर दूल्हे का बैठना यह प्राचीन काल की ही एक रश्म है जमाना बदल रहा है लेकिन हमारे समाज की रश्म आज भी समाज में निभाई जाती हैं वास्तव में घोड़ा एक बहुत ही उपयोगी जानवर है। आजकल चिड़ियाघरों में भी हमें कई तरह के घोड़े देखने को मिलते हैं जिनमें अरबी घोड़े,दरियाई घोड़े आदि भी शामिल होते हैं पहले अरबी प्रजाति के घोड़े अच्छे माने जाते थे यह बहुत ही अच्छी प्रजाति है ये घोड़े तेजी से दौड़ने के साथ में बहुत ऊपर तक छलांग मार सकते हैं कई राजा और सैनिकों की जान घोड़ों ने बचाई है।

प्राचीन काल से ही घोड़ा बहुत ही उपयोगी जानवर माना जाता है आजकल घोड़े बहुत ही कम लोग पालते हैं क्योंकि घोड़े को पालने का खर्चा अधिक होता है। घोड़ा एक ऐसा शक्तिशाली जानवर है जो कई घंटों तक बिना रुके दौड़ सकता है इसी वजह से शहरों में कई तरह के खेल खेले जाते हैं यह खेल घोड़ों की दौड़ प्रतियोगिता के होते हैं जिसका घोड़ा तेजी से दौड़ता है और आगे पहुंचता है उसके मालिक को इनाम मिलता है। शहरों में घोड़े कम ही देखने को मिलते हैं लेकिन ज्यादातर शादियों में हमें घोड़ी के ऊपर दूल्हा बैठा हुआ जरूर दिखता है क्योंकि प्राचीन काल से ही ये प्रथा हमारे समाज में है। घोड़े को देखकर बच्चे बहुत ही खुश होते हैं इसका उछलना कूदना, दौड़ना सभी को प्रिय है लेकिन कुछ लोग और बच्चे घोड़े के पास में जाने से भी डरते हैं क्योंकि घोड़ा एक बहुत ही शक्तिशाली जानवर है। फिल्मों में भी घोड़े का उपयोग किया जाता है कई पुरानी पिक्चरों में Hero घोड़े पर ही सवार होकर आता है आज भी यदि घोड़े पर सवार होकर फिल्में बनाई जाती हैं तो दर्शक उसे बहुत पसंद करते हैं आजकल की कुछ फिल्मों में घोड़े का उपयोग भी किया जाता है लेकिन बहुत ही कम किया जाता है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Essay on horse in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *