देव आनंद की जीवनी Dev anand biography hindi

Dev anand biography hindi

दोस्तों आज हम आपको बॉलीवुड के एक ऐसे सुपरस्टार के बारे में बताने वाले हैं जिन्हें सब देवानंद के नाम से जानते हैं यह अपने जमाने के एक ऐसे प्रसिद्ध कलाकार थे जिन्हें आजकल के जमाने में बहुत माना जाता है। देवानंद का जीवन संघर्षमय रहा उन्होंने अपना सारा जीवन लोगों के मनोरंजन के लिए अर्पण किया चलिए जानते हैं देवानंद के जीवन के बारे में शुरू से

Dev anand biography hindi
Dev anand biography hindi

शुरुआती जीवन

देवानंद का जन्म 26 सितंबर सन 1923 को पंजाब के गुरदासपुर जिले में हुआ था लेकिन अब यह स्थान पाकिस्तान में आता है। यह एक मध्यम वर्गीय परिवार से थे इनके पिता ने इनका बचपन में नाम धर्मदेव पिशोरीमल आनंद रखा था लेकिन फिल्मी दुनिया के में आने के बाद लोग इन्हें देव आनंद के नाम से जानने लगे उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई के बाद स्नातक की पढ़ाई की।

संघर्ष और बॉलीवुड में शुरुआत

उन्होंने अपने जीवन में काफी संघर्ष किया अपनी कठिन परिश्रम से इन्हें मिलिट्री सेंसर ऑफिस में काम मिल गया यहां पर ये सैनिकों द्वारा लिखी हुई चिट्ठियों को उनके परिवार तक पहुंचाने का काम किया करते थे इससे उन्हें कुछ रुपए मिल जाते थे लेकिन परिवार का खर्चा सही तरह से नहीं चल पाता था कहने का तात्पर्य यह है कि इनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी। ये अपने जीवन में आगे बढ़ना चाहते थे और अपने शौक यानी एक्टिंग को ही अपना पेशा बनाना चाहते थे इसलिए ये अपने भाई के साथ मुंबई आ गए इनके पिता ने मुंबई जाने के लिए इन्हें रोका लेकिन ये अपने पिता की बात के विरोध करके मुंबई आ गए और अपने भाई के साथ कार्य करने लगे। अपनी कठिन मेहनत और लगातार परिश्रम से और अपनी बेहतरीन अदाओं से देवानंद को फिल्मों में काम मिल गया ये फिल्मों में लाने का श्रेय अपने बड़े भाई को देते हैं इन्होंने सबसे पहले 1946 में फिल्म हम एक हैं में काम किया यहीं से इनकी शुरुआत हुई।

अन्य फिल्में

देवानंद ने बहुत सारी फिल्में की इन्होंने हमेशा फिल्मो में लीड रोल ही निभाये और बुढ़ापे में भी इन्होंने लीड रोल में ही काम किया। उन्होंने सन 1947 में मोहन नामक फिल्म में काम किया जिसके डायरेक्टर आनंदी नाथ बनर्जी थे इसके बाद उन्होंने आगे भी और भी फिल्में की। उन्होंने 1948 में जिद्दी फिल्म में काम किया इस फिल्म में इन्होंने शाहिद लतीफ डायरेक्टर के साथ कार्य किया इसके बाद उन्होंने बहुत सारी फिल्में की उन्होंने 1949 में जीत फिल्म बनाई इसके बाद 1950 में निराला फिल्म में काम किया उन्होंने इसी साल हिंदुस्तान हमारा फिल्म बनाई इसके अलावा भी इन्होंने बहुत सारी फिल्में बनाई इन्होंने अफसर, सनम, तमाशा, Jaal, अरमान, मिलाप, CID, काला पानी, एक के बाद एक, माया, दुनिया, जोशीला, अमीर गरीब, मिस्टर प्राइम मिनिस्टर जैसी फिल्मो में काम किया।

राजनीति

इन्होंने सन 1975 में लगी ऐमरजेंसी का भी विरोध किया और ऐमरजेंसी खत्म होने के बाद एक राजनीतिक पार्टी भी बनाई लेकिन कुछ समय बाद यह राजनीतिक पार्टी भंग हो गई लेकिन ये हमेशा बॉलीवुड की फिल्मों के जरिए लोगों का मनोरंजन करते रहे।

पुरस्कार

देवानंद बॉलीवुड के एक बहुत ही बेहतरीन कलाकार थे लेकिन 2011 में उनकी मृत्यु हो गई थी इन्हें कई सारे पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। इन्हें पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया था वास्तव में ये एक ऐसे महान अभिनेता थे जिसको लोग हमेशा याद करते रहेंगे ऐसे बेहतरीन अभिनेता कभी कभार ही इस धरती पर आते है।

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया ये आर्टिकल Dev anand biography hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने के प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना ना भूल पाए।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *