शिक्षा का उद्देश्य पर निबंध Shiksha ka uddeshya essay in hindi

Shiksha ka uddeshya essay in hindi

दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा निबंध शिक्षा का उद्देश्य पर लिखा गया है इस निबंध में हम शिक्षा के उद्देश्य के बारे में जानेंगे हमारे द्वारा लिखित इस निबंध से विद्यार्थी अपने स्कूल कॉलेज की परीक्षा में निबंध लिखने के लिए जानकारी ले सकता है.आप अपने जीवन को बदलने के लिए और शिक्षा के असली उद्देश्य को जानने के लिए भी हमारे द्वारा लिखित इस निबंध को जरूर पढ़ें तो चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस आर्टिकल को

Shiksha ka uddeshya essay in hindi
Shiksha ka uddeshya essay in hindi

प्रस्तावना

हम सभी जानते हैं कि हमारे जीवन में शिक्षा सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है शिक्षा के जरिए ही एक इंसान काबिल बन पाता है वह जीवन में कुछ अच्छा कुछ बड़ा कर सकता है वास्तव में हमारे जीवन में शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है लेकिन शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य बहुत ही कम लोग समझ पाते हैं. आजकल के जमाने में लोग शिक्षा का उद्देश्य केवल जीवन को निर्वाह करने के लिए, पैसा कमाने के लिए लायक बनना समझते हैं लेकिन शिक्षा का असली मतलब एक इंसान को इंसान बनाना ही होता है वास्तव में शिक्षा एक इंसान को सबसे बड़ा बनाती है.

सत्य अहिंसा के मार्ग पर चलना

वास्तव में शिक्षा का उद्देश्य सत्य के मार्ग पर चलना है बहुत सारे लोग बहुत सारी तरह-तरह की पढ़ाई करते हैं लेकिन शिक्षा का असली मतलब नहीं समझ पाते शिक्षा का असली मतलब सत्य के मार्ग पर चलना है, अच्छे-अच्छे कार्य करना है. कोई भी कार्य महात्मा गांधी की तरह अहिंसा के मार्ग पर चलकर करने का होता है जब भी हमारे जीवन में प्रॉब्लम होती है और अगर हम शिक्षित होते हैं तो हमारा प्रमुख उद्देश्य सत्य के मार्ग पर चलकर अहिंसा के साथ उस प्रॉब्लम का सॉल्यूशन करना है यही शिक्षा का उद्देश्य है.

माता पिता, बड़ों का सम्मान करना

वास्तव में शिक्षा का असली उद्देश्य माता-पिता और अपने से बड़े लोगों का मान सम्मान करना है.लोग पढ़ाई करते हैं और एक शहर से दूसरे शहर पढ़ाई करने के लिए जाते हैं मां-बाप उनकी पढ़ाई के लिए पैसा खर्च करते हैं लेकिन पढ़ने वाले कभी भी शिक्षा के इस उद्देश्य को नहीं समझ पाते वास्तव में जो बड़ों का सम्मान करता है वह शिक्षित माना जाता है जिसमें बड़ों का सम्मान करने के गुण नहीं है वह पढ़ा लिखा होकर भी अनपढ़ से बुरा माना जाता है इसलिए हमें शिक्षा अपने आपको बदलने के लिए करना चाहिए.
जो भी करें अच्छा करें
शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य यह है कि हम जो भी कार्य अपने जीवन को निर्वाह करने के लिए कर रहे हैं वह पूरी ईमानदारी से करें.भ्रष्टाचार जैसे बुरे कर्मों से दूर रहें और देश की सेवा के मकसद से अपना कार्य करें.

सिर्फ नौकरी करने के उद्देश्य से ना करें

ज्यादातर लोग शिक्षा केवल नौकरी करने के उद्देश्य से करते हैं लेकिन वास्तव में हमें शिक्षा ज्ञान के लिए, महान बनने के लिए करनी चाहिए जब हमारे पास ज्ञान होगा तो हम कोई भी कार्य करके पैसा कमा सकते हैं और जीवन में आगे बढ़ सकते हैं.आप अपने अनुसार कोई भी अच्छा बिजनेस या जॉब करें.

ईमानदारी

अगर आप वास्तव में शिक्षा का उद्देश्य समझना चाहते हैं तो आपको पूर्ण रूप से ईमानदार होना चाहिए.आपको अपने परिवार जनों से,अपने गुरुजनों से या फिर खुद अपने आप से पूरी तरह से ईमानदारी अपनाना चाहिए तभी आप जीवन में आगे बढ़ सकते हैं और शिक्षा का उद्देश्य पूरा हो सकता है. बहुत सारे लोग ऐसे होते हैं जिनके अंदर बेईमानी होती है ऐसे लोग ना ही जीवन में सफल हो पाते हैं और ना ही कुछ अच्छा कर पाते हैं वह जीवन को यूं ही जीते जाते हैं. हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए पूर्ण रुप से ईमानदारी अपनाना चाहिए यही शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य है.

शिक्षा के उद्देश्य में बदला

बदलते इस आधुनिक युग में ऐसा लगता है कि शिक्षा का उद्देश्य बदलता जा रहा है पहले जहां पढ़ाई करने के लिए लोग गुरुकुल जाते थे तो वह अपने शिष्य के अंदर अच्छे गुण अपनाने का प्रण लेते थे गुरुजन सबसे पहले उन्हे बड़ों का आदर करना, ईमानदार बनना, कर्मनिष्ठ बनाते थे लेकिन आजकल शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य केवल परीक्षा में पास होना हो गया है. कुछ लोग आजकल नकल से पास होना भी सही करना समझते हैं.आजकल के कुछ मां-बाप भी बच्चों को नकल करते देख मना नहीं करते.वास्तव में शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य कोई नहीं समझ पाता.कोई भी अपने बच्चों को एक अच्छा इंसान ना बनाते हुए केवल परीक्षा में पास होता देखना चाहता है लेकिन यह सही नही है.हमे अपने बच्चों को सबसे पहले एक अच्छा इंसान बनाना चाहिए उसके बाद पढ़ाई पर ध्यान दिलाना चाहिए.

उपसंहार

वास्तव में हमें चाहिए कि हम शिक्षा के असली उद्देश्य को समझें और जीवन में आगे बढ़े.अगर हमारे अंदर उपर्युक्त सारे गुण हैं तो वास्तव में किसी बड़ी शिक्षा की ज्यादा कोई जरूरत पड़ेगी ही नहीं और अगर आप सोचें कि देश दुनिया में विदेशों में पढ़ाई करें और उपर्युक्त आपके अंदर एक भी गुण नहीं है तो वास्तव में बहुत सारी पढ़ाई करने के बावजूद भी आप पशुओं से भी गए गुजरे हैं इसलिए आपको जीवन में शिक्षा के उद्देश्य को समझकर उस उद्देश्य को अपने जीवन में अपनाना चाहिए और सफलता की बुलंदियों को छूना चाहिए और एक अच्छा इंसान बनकर अपने पूरे देश का नाम रोशन करना चाहिए

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया है ये आर्टिकल Shiksha ka uddeshya essay in hindi पसंद आए तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना ना भूले इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंटस के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल कैसा लगा जिससे नए नए आर्टिकल लिखने प्रति हमें प्रोत्साहन मिल सके और इसी तरह के नए-नए आर्टिकल को सीधे अपने ईमेल पर पाने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें जिससे हमारे द्वारा लिखी कोई भी पोस्ट आप पढना भूल ना पाए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *