स्वतंत्रता सेनानी पर निबंध Swatantrata senani essay in hindi

Swatantrata senani essay in hindi

Swatantrata senani essay in hindi-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Swatantrata senani essay in hindi आप सभी के लिए बड़ा ही प्रेरणादायक है दोस्तों इस आर्टिकल में आपको जानकारी मिलेगी स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में जिन्होंने अपने देश को स्वतंत्र कराने के लिए स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी और अपने भारत देश को स्वतंत्रता दिलवाई.स्वतंत्रता सेनानियों की वजह से ही हमारे भारत देशवासियों को चैन की सांस लेने को मिली.इस निबंध का उपयोग विद्यार्थी अपने स्कूल,कॉलेज की परीक्षा में लिखने के लिए कर सकते हैं और अपनी जानकारी बढ़ाने के लिए भी इस निबंध को आप पढ़ सकते हैं चलिए पढ़ते हैं हमारे आज के इस निबंध को.

Swatantrata senani essay in hindi
Swatantrata senani essay in hindi

दोस्तों हमारा भारत देश एक विकासशील और महान देश है.हमारे भारत देश की संस्कृति,सभ्यता विख्यात है लोग इसे पसंद करते हैं हमारे भारत देश के रीति-रिवाज, धर्म आदि चारों तरफ फैले हुए हैं देश में ऐसे महान लोग भी हुए हैं जिन्होंने हम सभी के लिए बहुत कुछ ऐसा किया जिससे हम हमेशा उन्हें याद करते हैं.भारत के स्वतंत्रता सेनानी जिन्होंने भारत देश को स्वतंत्रता दिलाने के लिए अपने प्राणों की आहुति देने में भी अपने कदम पीछे नहीं हटाये,अपने देश के सिर को कभी झुकने नहीं दिया.इस विकासशील भारत देश में समय के साथ बहुत से व्यापारी लोग आए,अंग्रेज भी यहां पर व्यापारी बन कर आए लेकिन भारत देश के शासकों की कुछ कमजोरियों की वजह से अंग्रेजों ने भारत देश पर अधिकार जमा लिया और खुद भारत के शासक बन गए और भारत वासियों को तरह तरह से परेशान करने लगे.वह उन पर अत्याचार करते और हर तरह का व्यवहार,बुरा व्यवहार उनके साथ किया जाता कुछ समय तक यह अत्याचार चलता रहा लेकिन यह अत्याचार जब तेजी से बढ़ता गया तब स्वतंत्रता संग्राम शुरू हुआ जिसमें बहुत से स्वतंत्रता सेनानियों ने भाग लिया और अपने प्राणों की आहुति देने से भी पीछे नहीं हठे.उन्होंने अपने प्राणों का बलिदान भी दे दिया लेकिन देश को आजादी दिलाई.आज हमारा भारत देश स्वतंत्र है,हम स्वतंत्रता की सांस ले रहे है.यह सब उन महान स्वतंत्रता सेनानियों की वजह से है हम सभी उन महान स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में आज जानेंगे.

महात्मा गांधी- महात्मा गांधी का भारत देश को स्वतंत्र कराने में महत्वपूर्ण भूमिका है.महात्मा गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात में हुआ था इनके पिता का नाम करमचंद गांधी एवं माता का नाम पुतलीबाई था ये एक ऐसे महान इंसान थे जिन्हें अपने कार्यों की वजह से लोग राष्ट्रपिता,महात्मा या बापू के नाम से भी जानते हैं.सबसे बड़ी बात यह है कि महात्मा गांधी जी ने सिर्फ अपनी अहिंसा के दम पर ही अंग्रेजों को अपने देश से निकाल भगाया था महात्मा गांधी जी ने अपने देश में बहुत से आंदोलन चलाए जैसे कि सत्याग्रह, असहयोग आंदोलन,भारत छोड़ो आंदोलन,साइमन वापस जाओ आदि.

महात्मा गांधी जी सच्चाई के रास्ते पर चलने वाले एक इमानदार महात्मा थे वह हमेशा अनुशासन अपनाते थे इस वजह से अंग्रेज भी उनकी बड़ी ही इज्जत किया करते थे.आज महात्मा गांधी अपने किए हुए महान कार्यों की वजह से हमेशा भारतवासियों के दिलों में राज करते हैं.
झांसी की रानी लक्ष्मीबाई-इनका जन्म सन 1828 में काशी वाराणसी में हुआ था इनकी शादी झांसी के राजा गंगाधर राव से हुई थी लेकिन समय के साथ किसी वजह से झांसी के राजा गंगाधर राव की मृत्यु हो गई थी जिस वजह से लक्ष्मी बाई ही झांसी को संभाल रही थी लेकिन उस समय के गवर्नर डलहौजी ने एक नियम निकाला कि जिस राज्य में राजा नहीं है उस राज्य में अंग्रेजों का अधिकार होगा लेकिन लक्ष्मीबाई ने यह नियम नहीं माना और लक्ष्मीबाई ने अपना राज्य अंग्रेजों को देने से इंकार कर दिया इस वजह से युद्ध हुआ और यह युद्ध कुछ दिनों तक चलता रहा इस युद्ध में लक्ष्मीबाई हार गई थी और वह ग्वालियर चली गई वहां पर फिर से युद्ध हुआ कुछ समय के बाद ही रानी लक्ष्मीबाई की मृत्यु हो गई. रानी लक्ष्मीबाई ने अंग्रेजो का खूब डटकर सामना किया.रानी लक्ष्मीबाई स्वतंत्रता सेनानियों में से एक महान क्रांतिकारी थी.

Related- घायल सैनिक की आत्मकथा निबंध Ghayal sainik ki atmakatha essay in hindi

जवाहरलाल नेहरू- जवाहरलाल नेहरु जी का जन्म सन 14 नवंबर 1889 को हुआ था.ये हमारे देश के पहले प्रधानमंत्री थे जवाहरलाल नेहरू को बच्चे बड़े ही प्रिय थे.जवाहरलाल नेहरू विदेश से पढ़ाई करके आए तो वो एक बैरिस्टर का काम करने लगे तभी वो गांधी जी से मिले और उनके साथ मिलकर उन्होंने भारत को स्वतंत्र कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.वो महात्मा गांधी जी के साथ अंग्रेजो के खिलाफ हमेशा खड़े रहे.भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के रूप में इन्हें भी लोग हमेशा जानेंगे.
लाला लाजपत राय- लाला लाजपत राय जी हमारे देश के एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे इनका जन्म 28 जनवरी 1865 को पंजाब में हुआ था लाला लाजपत राय ने जलियांवाला बाग हत्याकांड के खिलाफ अंग्रेजों के विरुद्ध आंदोलन छेड़ दिया इसमें उन्होंने अंग्रेजों का खूब डटकर सामना किया लेकिन अंग्रेजों की लाठी से इस महान स्वतंत्रता सेनानी लाला लाजपत राय की मृत्यु हो गई लेकिन इनके इस महान योगदान को हम कभी नहीं भूल पाएंगे.

भगत सिंह- क्रांतिकारी भगत सिंह का जन्म 27 सितंबर 1907 को पंजाब में हुआ था यह एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने आजादी पाने के लिए अपने प्राणों की भी फिक्र नहीं की और जब तक देश को स्वतंत्र कराने के लिए लड़ते रहे तब तक कि देश आजाद ना हुआ.बचपन से ही इनके रगों में आजादी पाने का जुनून था उन्होंने महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन में हिस्सेदारी की लेकिन ये हिंसात्मक प्रवृत्ति के थे और उन्होंने असहयोग आंदोलन को छोड़ चंद्रशेखर आजाद के साथ मिलकर आजादी की लड़ाई लड़ी.इन्होने अपने देश को आजाद कराने के लिए बहुत से प्रयत्न किए अंत में इन्हें फांसी दे दी गई लेकिन जब इन्हें फांसी दी गई तब से देशवासियों और क्रांतिकारियों के मन में आग की ज्वाला भड़क उठी और स्वतंत्रता की लड़ाई ने हमारे देश को स्वतंत्र कर दिया.

सरदार वल्लभ भाई पटेल- सरदार वल्लभ भाई पटेल जी का जन्म सन 31 अक्टूबर 1875 को नाडियाड मैं हुआ था वह एक वकील थे उन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन,अवज्ञा आंदोलन में अपना सहयोग प्रदान किया.सरदार वल्लभ भाई पटेल जी ने आजादी के बाद भी देश में चल रही बहुत सी परेशानियों का सामना किया और उन्हें सुलझाने में मदद की.यह भारतीय कांग्रेस के नेता भी थे.
दोस्तों ऐसे और भी बहुत से स्वतंत्रता सेनानी है जिन्होंने भारत देश को स्वतंत्रता दिलवाने में मदद की और अंग्रेजों को अपने देश से भगा दिया.हमें गर्व होना चाहिए इन स्वतंत्रता सेनानियों पर जिनकी वजह से ही आज हम भारत देश में स्वतंत्र हैं और स्वतंत्रता पूर्वक अपने जीवन को यापन कर रहे हैं भारत के स्वतंत्रता सेनानी आज भले ही नहीं है लेकिन वह हमेशा हमेशा के लिए इतिहास में,हमारे दिलों में राज कीये हुए हैं हमें इन पर गर्व है.

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह आर्टिकल Swatantrata senani essay in hindi पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करें और हमारा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और हमें कमेंट के जरिए बताएं कि आपको हमारा यह आर्टिकल Swatantrata senani essay in hindi कैसा लगा इसी तरह के नए-नए आर्टिकल के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *