मेरे जीवन की अविस्मरणीय घटना Mere jivan ki ek ghatna essay

Mere jivan ki ek ghatna essay

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी,दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल Mere jivan ki ek ghatna essay आप सभी को मेरे जीवन की घटना के बारे में जानकारी देगा.दोस्तों हम सभी के जीवन में बहुत से पल ऐसे होते हैं जो हमेशा हमें याद रहते हैं और वह पल हमारे जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव डालते हैं ऐसा भी होता है कि वह पल हमारे पूरे जीवन को बदल कर रख देते हैं हर एक इंसान के जीवन में कुछ ऐसे पल होते हैं मेरी जिंदगी में भी एक ऐसी घटना हुई है जिसने आज मेरे जीवन को काफी हद तक बदल दिया है टो चलिए पढ़ते हमारे आज के इस आर्टिकल को.

Mere jivan ki ek ghatna essay
Mere jivan ki ek ghatna essay

मैं जब बच्चा था तो मेरे परिवार वालों ने मेरी सोच बना दी थी कि मुझे डॉक्टर बनना है मैं बदरवास से गुना 12वीं करने के बाद आया था.गुना में मैं एक किराए का मकान लेकर रहता था.सुबह जागना और 10:00 बजे अपने कॉलेज में जाना और शाम को 5:00 बजे से वापस आ जाना यही मेरी जिंदगी थी मैंने अपनी जिंदगी में यही सोचा था कि मैं डॉक्टर बनूँगा लेकिन मुझे ये पसंद नहीं था ये सोच सिर्फ मेरे परिवार वालो की वजह से थी लेकिन कभी-कभी मेरे साथ ऐसा होता था कि मैं जब tV सीरियल देखता था और उसमें बताए गए धारावाहिकों में मै बिजनेसमैन को देखता है तो मैं भी सोचता था कि मैं एक सफल बिजनेसमैन बनू क्योकि उनके पास पैसा समय सब कुछ होता है मैं भी सोचता था कि मैं एक बिजनेसमैन बनू लेकिन वह सिर्फ एक सोच थी मेरे पास कोई तरीका नहीं था की में कुछ बन सकू.एक दिन में रोज की तरह कॉलेज जा रहा था तो मेरे बदरवास के एक  दोस्त ने मुझे एक जबरदस्त सिस्टम के बारे में जानकारी दी और मुझसे कहा की तुम बहुत ही कम समय में अच्छा पैसा कमा सकते हो.

अगले दिन मैं अपने दोस्त के साथ बाहर गया मैंने उस प्रोजेक्ट के बारे में जाना वो मुझे पसंद आया तो मैंने उस पर काम करना शुरू किया.वह सिस्टम कैसा भी हो लेकिन उसमें काम करने वाले लोग बहुत ही बेहतरीन थे उनकी सोच भी अच्छी थी वह जिंदगी में मुझे आगे बढ़ाना चाहते हैं उन्होंने मुझे बताया कि बड़े सपने क्या होते हैं उसी समय मैंने सोचा कि अब मैं भी जीवन में कुछ बड़ा करूंगा.मैं उस ऑर्गनाइजेशन में काम करता गया लेकिन सफल नहीं हुआ लेकिन फिर भी उन लोगों की संगति मेरा लगातार पीछा कर रही थी मतलब उनके द्वारा बताए गए आगे बढ़ने वाले ज्ञान से मैं काफी प्रभावित था मैं उस ज्ञान को अपने अंदर उतार चुका था मैं जीवन में भले ही उस कंपनी में सफल नहीं हुआ था लेकिन में कुछ बहुत बड़ा करना चाहता था तभी मैंने महत्वता.कॉम नाम की वेबसाइट बनाई क्योंकि जीवन में मेरे पास सिर्फ आगे बढ़ने का जुनून था एक सपना था और कुछ भी नहीं था.मुझे वेबसाइट या ब्लॉग की कोई भी जानकारी नहीं थी इससे संबंधित मुझे गाइड करने वाला भी कोई नहीं था लेकिन मेरे जोश और जुनून और आगे बढ़ने की मेरी चाह थी.मैं पागलों की तरह हमेशा इंटरनेट पर नई-नई चीजें खोजता था. धीरे धीरे मैंने अपनी खुद की वेबसाइट बना ली वो भी बिना किसी की हेल्प लिए और फिर मैं रात-दिन बस अपनी ब्लॉगिंग की दुनिया में काम करता रहा.

Related- मेरी बस की यात्रा पर निबंध Meri pehli bus yatra essay in hindi

एक साल तक मैंने इससे कुछ भी प्राप्त नहीं किया लेकिन मैं हारा नहीं.बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो 1 साल में कुछ भी पैसा न कमा पाने के कारण ब्लॉगिंग छोड़ देते हैं और कुछ और करने लगते हैं लेकिन मेरे साथ कुछ और ही था मेरी भलेही कमाई नहीं हो रही थी लेकिन अपने जोश जुनून के साथ अपने काम में लगा हुआ था.धीरे-धीरे मैंने खुदसे ब्लॉगिंग सीखकर नये तरह से शुरू किया और अभी तक मेरा ट्राफिक कई गुना बढ़ चुका हैं और आज मेरे ब्लॉग पर लगभग 10000 pageview होते हैं मैं अपने जीवन में बहुत खुश हूं मेरे जीवन में अच्छे लोगों की संगति मुझे वाकई में कुछ अच्छा करने के लिए लिए प्रेरित करती रही और मैं आगे निकल आया.अब मैं इसी के साथ एक नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में काम कर रहा हूं क्योंकि जीवन में बहुत आगे जाने की, सफल होने की लालसा मेरे दिलो-दिमाग में बसी है. में सफल होना चाहता हूं कभी-कभी मैं सोचता हु की जब मैं कॉलेज में पढ़ता था और मेरे दोस्त ने मुझे अच्छे लोगों से मुलाकात करवाई थी अगर मैं उन लोगों की संगति नहीं करता तो मेरा जीवन कैसा होता.हम सब के जीवन में हर एक पल महत्वपूर्ण होता है बस हमें उस पल को समझने की जरूरत है हम अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि जीवन में कौन सा फल आपके जीवन में बहुत बड़ा बदलाव ला सकता है और आप बहुत कुछ कर सकते हैं.कहते हैं जैसी संगत वैसी रंगत.मेरी संगती ने मेरे अभी तक के जीवन को कुछ हद तक बदल दिया और उम्मीद है कि आप सभी के सहयोग के साथ में निरंतर आगे बढ़ता रहूँगा.

दोस्तों मुझे कमेंट के जरिए बताएं कि Mere jivan ki ek ghatna essay पर लिखा गया ये आर्टिकल आपको कैसा लगा अगर आपको वाकई में इस आर्टिकल Mere jivan ki ek ghatna essay से बहुत कुछ सीखने को मिला हो तो इसे शेयर जरूर करें और मेरा Facebook पेज लाइक करना ना भूलें और कमेंट के जरिए बताएं कि आपको मेरा यह आर्टिकल कैसा लगा.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *