डर को कैसे दूर करें “Dar ko kaise dur kare full information in hindi”

Dar ko kaise dur kare-Dar dur karne ke upay in hindi

Dar ko kaise dur kare-हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सभी, दोस्तों आज का हमारा यह आर्टिकल Dar ko kaise dur kare आप सभी के लिए बहुत ही मददगार साबित होगा.दोस्तों इस दुनिया में बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो किसी चीज से डरते हैं वह अपने डर को दूर करना चाहते हैं वह भी जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते हैं.डर एक इंसान को बहुत बुरी परिस्थिति में लाकर खड़ा कर सकता है.अलग-अलग लोगों का डर अलग-अलग होता है जैसे की मान लेते हैं एक इंसान का डर किसी काम की शुरुआत करने से पहले हो सकता है.
Dar ko kaise dur kare
Dar ko kaise dur kare
कुछ लोग बहुत से लोगों को देख कर कुछ कहने से डरते हैं वह सोचते हैं कि अगर मैं इन लोगों के सामने ऐसा कहूंगा तो हो सकता है उनको अच्छा ना लगे,कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अंधेरे से डरते हैं,कुछ लोग अपने परीक्षा के परिणाम से डरते हैं कुछ जीवन में मिल रही असफलताओं को झेलने से डरते हैं,बहुत सारे लोगों का दर्द उनके हिसाब से अलग-अलग होता है और डर को दूर करने का तरीका भी अलग अलग होता है. दोस्तों एक इंसान के जीवन में कोई ना कोई डर जरूर होता है और होना भी चाहिए क्योंकि जब तक डर नहीं होगा हम कुछ नहीं कर पाएंगे.जब तक एक स्टूडेंट को फेल होने का डर या मां-बाप का डर,अध्यापक का दर्द नहीं होगा तब तक उसका पढ़ने में मन नहीं लगेगा लेकिन डर लिमिट में होना चाहिए.अगर डर ज्यादा होता है तो एक इंसान का मानसिक संतुलन बिगड़ जाता है और वह जीवन में खुश नहीं रहता दोस्तों इसीलिए आज हम आपको हमारे इस आर्टिकल Dar ko kaise dur kare में बताने वाले हैं कि आप अपने डर को दूर कैसे करें चलिए पढ़ते है.

Dar ko kaise dur kare

अपने अंदर आत्मविश्वास रखिए-दोस्तों अगर आप किसी डर का सामना कर रहे हैं और आपका पूरा जीवन डर के साए में व्यतीत हो रहा है तो आपको अपने आत्मविश्वास से काम लेना होगा. दोस्तों कहते हैं दुनिया में आत्मविश्वास सबसे बड़ी चीज है.आपको ये सोचना चाहिए की आप सब कुछ कर सकते है,आप किसी से डरने वाले नहीं हैं तो दोस्तों वाकई में आपका अपने प्रति विश्वास होगा और आपको हर किसी भी तरह के डर को भगाने में मदद मिलेगी और आप अपना जीवन खुशी खुशी जी सकते हैं.

अपने आत्मविश्वास के जरिये बहुत से लोगो ने अपना डर भगाया है और जिन्दगी में आगे बढे है.कहते है आत्मविश्वास हमारी जिन्दगी के हर क्षेत्र में काम करता है.ये इन्सान के अन्दर एक जादुई चीज है.अगर आपका आत्मविश्वास जाग गया तोह आप डर को अपने आसपास भी नहीं देखोगे.डर भी आपसे डरने लगता है.चाहे किसी भी प्रकार का डर हो.चाहे आप भूतो से डरते हो,चाहे कुछ काम करने से डरते हो,चाहे सबके सामने बोलने से डरते हो,चाहे किसी व्यक्ति से डरते हो.हर डर को आत्मविश्वास ख़त्म कर सकता है.
डर के कारण को जानिए-दोस्तों अगर आप अपने जीवन के किसी डर को दूर करना चाहते हैं तो यह बेहद जरूरी है कि आप किस कारण से डर रहे हो यह आपको जानना चाहिए.जब आप यह जान लोगे तो आपको अपने डर को दूर भगाने में मदद मिलेगी.
अक्सर लोग डर का कारण नहीं जानते और अपने डर को दूर करना चाहते है.अब ये तोह वोही बात हुयी ना की आप किसी दूकान पर कुछ लेने जाते हो लेकिन जब दुकानदार आपसे पूछता है की आपको क्या चाहिए तोह आप कहते हो की मुझे कुछ चाहिए तोह दुकानदार आपको नहीं समझ पायेगा की आखिर आपको क्या चाहिए? यानी आप उस दर का सही कारण जानिए तभी आप अपने डर को पूरी तरह से ख़त्म कर पाओगे.आपको जानना चाहिए की आपका डर सही है क्या? बहुत से डर ऐसे होते है जिसका कोई मतलब नहीं निकलता यानी हो सकता है आप बहुत सारे लोगो के बीच में भाषण देना चाहते हो तोह आप बहुत सारे लोगो को देखकर डर रहे हो की पता नहीं मेरे बोलने पर लोग क्या सोचेंगे तोह ये डर आपका बेकार है क्योकि अगर आपने कुछ गलत कह भी दिया तोह आपका कुछ नहीं होगा.
ये तोह सिर्फ हमारा फ़िज़ूल का डर होता है.दोस्तों जब आपको अपने डर के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी तो आपको अपने डर को ख़त्म करने में भी मदद मिलेगी.
सकारात्मक लोगों के साथ रहें-दोस्तों अगर आप जानना चाहते है की Dar ko kaise dur kare तो आपको सकारात्मक लोगों के साथ रहना चाहिए अक्सर देखा गया है कि जो लोग अच्छी सोच वाले, सकारात्मक सोच वालों के साथ रहते हैं वह उन्हीं की तरह सकारात्मक बनते हैं.क्योकि हम सकारात्मक लोगो के साथ रहकर उनकी बाते सुनते है,उनका व्यवहार देखते है,उनका हर एक गुण देखते है तो हम धीरे धीरे उन्ही की तरह बन जाते है जो सकारात्मक होते है उनमे डर नहीं होता क्योकि वोह हर चीज को सकारात्मक रूप से देखते है.हर कार्य के अच्छे पहलुओ के बारे में सोचते है जिस वजह से उन्हें डर नहीं लगता.आप सकारात्मक लोगो के साथ रहते है तो आप धीरे-धीरे अपने आपमें बदलाव महसूस करते हैं और आपका डर ज्यादा समय तक आपके साथ नहीं रहता.इस तरह से आप सकारात्मक लोगों के साथ रहकर अपने डर को हमेशा हमेशा के लिए भगा सकते हैं.
कुछ लोगो के साथ ऐसा भी होता है की वोह सकारात्मक लोगो के साथ रहते है लेकिन अपने आप में बदलाव महसूस नहीं कर पाते.उनको आदते बदल लेनी चाहिए और अच्छी आदतों को अपने अन्दर डालना चाहिए.
आंखें बंद करके भगवान को याद करें-दोस्तों बहुत सारे ऐसे लोग होते हैं जो डरते हैं,जो अपने दर्द को भगाना चाहते हैं उन सभी को जब भी डर लगे तब वह कुछ समय तक आंखें बंद करके भगवान को याद करें तो जरूर ही उनका डर खत्म हो जाता है. इसके पीछे एक कारण ये है कि डर हमारी सोच के ऊपर निर्भर करता है.अगर हम कुछ समय तक कुछ और सोचे तो हमारा डर खत्म हो जाता है.
आपने कभी सुना होगा कि जब कोई व्यक्ति किसी पर विश्वास करता है तो विश्वास वाकई में काम करता है. हम भगवान पर पूरा विश्वास करके जब उनके बारे में सोचते हैं तो वाकई में वह विश्वास रूपी भगवान हमारा डर जरूर भगा देते हैं.
अपने आपको बिजी रखे-दोस्तो अगर आप अपने डर को भगाना चाहते हैं तो आपको अपने आपको बिजी रखने की जरूरत है. अगर आप बिजी रहते हैं तो आपके दिमाग में डर जैसे ख्याल नहीं आते हैं और आप अपनी जिंदगी सही से जी पाते हैं. एक इंसान का डर उसके विचारों से ही शुरु होता है विचारों के आगे डर का कोई अस्तित्व नहीं होता है अगर आप हमेशा अपने नए-नए अच्छे-अच्छे ख्यालों में बिजी रहते हैं,अपने कामों में बिजी रहते हैं तो आपको जिस चीज से डर लगता है उस और ध्यान नहीं जाता और आपको अपनेे डर को दूर करने में मदद मिलती है.
निडर लोगों के बारे में जानें और उनकी वीडियो देखें-दोस्तों अगर आप अपने डर को दूर करना चाहते हैं तो आपको निडर लोगों के बारे में जानना चाहिए और उनकी वीडियो देखना चाहिए दरअसल बहुत से ऐसे लोग हमारी इस दुनिया में है जिन्होंने निडर होकर अपने जीवन में बड़े से बड़े डर का सामना किया है और वाकई में एक इंसान दिल से डर को खत्म करने की सोचे तो वह डर से हमेशा हमेशा के लिए दूर चला जाता है और अपनी जिंदगी की अच्छी शुरुआत कर सकता है दरअसल इस तरह के लोगों के बारे में जानकर आप के अंदर एक साहस उत्पन्न होगा और आप अपने दर्द को हमेशा हमेशा के लिए खत्म कर सकते हैं.
नकारात्मक सोच और डरपोक लोगों का साथ छोड़े-दोस्तों अक्सर देखा गया है कि हम जिस तरह के लोगों के साथ रहते हैं वैसी ही हमारी सोच बनती जाती है जैसी उनकी है इसलिए हमें नकारात्मक सोच के लोगों से हमेशा हमेशा के लिए दूर होना चाहिए क्योंकि ऐसे लोगों के साथ रहकर आप अपने डर को कभी खत्म नहीं कर पाओगे और आपका दर लगातार बढ़ता चला जाएगा जिससे स्वाभाविक है कि आपको भविष्य में बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि डर अगर हद से ज्यादा हो जाए तो उससे बड़ी बीमारी कोई नहीं हो सकती.
जीवन और मरण के रहस्य को समझें-दोस्तों बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो अपने जीवन में किसी चीज से डरते हैं.उन लोगों को गीता में लिखे जीवन और मरण के रहस्य को समझने की जरूरत है दरअसल जिस इंसान का जीवन हुआ है उसकी मृत्यु भी जरूर होगी फिर हम क्यों डरते हैं क्योंकि एक दिन मरना सभी को है इसलिए हमें जीवन में किसी भी चीज से नहीं डरना चाहिए और निडर होकर हर एक परिस्थिति का सामना करना चाहिए यही इंसान का धर्म है.
इंसान की वेल्यु को समझें-दोस्तों अगर आप अपने डर को हमेशा हमेशा के लिए दूर करना चाहते हैं तो आपको इंसान की वैल्यू समझने की जरूरत है आपको समझने की जरूरत है कि आप इंसान हो.आप इस दुनिया में कुछ भी कर सकते है. दुनिया में किसी भी तरह के डर को खत्म कर सकते है,आप को समझना होगा कि आप किसी से कम नहीं हो.
आपके जीवन में बहुत सी कमी जरूर होंगी लेकिन आपमें कुछ खूबी भी होंगी. आपको अपनी खूबियों को पहचान कर अपने इंसान होने की काबिलियत को पहचान कर अपने डर को हमेशा हमेशा के लिए भगा देना चाहिए क्योंकि इंसान से बढ़कर इस दुनिया में कुछ नहीं है वह सब कुछ कर सकता है किसी भी काम में वह विजय हासिल कर सकता है.
अपने अंदर डर की फीलिंग आते ही उसको तुरंत अपने दिमाग से निकाल देना चाहिए-दोस्तों आज दुनिया का हर एक इंसान किसी न किसी चीज से जरूर डरता है.आप को किसी से भी डर लगे और उसके ख्याल आपके दिमाग में आए तो उसे दूर हो जाने के लिए या अपने डर को भगाने के लिए आपको तुरंत डर के ख्यालों को अपने दिमाग से दूर कर देना चाहिए.ऐसा करने से आपका डर दूर हो जाएगा. अब सोचने वाली बात यह है कि आप यह कैसे करें.दोस्तों जब भी इस तरह की फीलिंग आपके अंदर आए तो आपको किसी और काम के बारे में या किसी और चीज के बारे में सोचना चाहिए जिससे आपका दिमाग डायवर्ट हो जाएगा और आप आपके दर से मुक्त हो जाएंगे.
डर को अपने ऊपर हावी ना होने दें-दोस्तों बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो किसी चीज से इतना डर जाते हैं की उनका घर जीवनभर कभी भी खत्म नहीं होता क्योंकि वह अपने डर को अपने ऊपर हावी हो जाने देते हैं यानी वह जब भी डरते हैं तो उनका डर और बढ़ता चला जाता है आपको अगर डर से मुक्त होना है तो आपको डर का सामना करना चाहिए आपको ऊपर बताए तरीको से डर भगाने की कोशिश करना चाहिए ना की डर को अपने ऊपर हावी हो जाने देना चाहिए क्योंकि अगर वह आपके ऊपर हावी हो गया तो आपको जीवन में बहुत सारी परेशानियां, बहुत सारी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है.
दोस्तो इस तरह से हमारे द्वारा बताए गए इस आर्टिकल Dar ko kaise dur kare के तरीके आजमाकर आप जीवन में अपने किसी भी दर से मुक्त हो सकते हो.आपको मुक्त होना भी चाहिए क्योंकि डर हमारे अंदर एक ऐसी निगेटिव भावना होती है जो हमको कुछ करने से रोकती है.
दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल Dar ko kaise dur kare पसंद आए तो इसे आप शेयर जरूर करें और हमारा फेसबुक पेज लाइक करना न भूले और हमें कमेंट्स के जरिए बताएं कि आपको हमारा आर्टिकल Dar ko kaise dur kare कैसा लगा,अगर आप चाहें हमारी अगली पोस्ट को सीधे अपने ईमेल पर पाना तो हमें सब्सक्राइब करना ना भूले।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *