डाकुओ का हमला prernadayak hindi kahaniya

prernadayak hindi kahaniya

एक गाँव जिसमे डाकुओ का डर था,उस गाव में लोग डाकुओ से बचने के लिए fighting सीखते थे,उसी गावं में दो गहरे दोस्त थे,एक का नाम राम और दुसरे का नाम शाम था,राम बहुत ही intelligent था, उस गाव में एक गुरु fighting सिखाते थे,दोनों दोस्त उस गुरु के पास fighting सीखने के लिए जाते है,गुरु जी उन दोनों दोस्तों को रोज नयी नयी fighting की कलाए सिखाते,राम उस fighting club का मॉनिटर था,गुरूजी हर सात दिन में सभी का test लेते थे,गुरूजी जब भी test लेते तोह राम के भरोसे सब छोड़ जाते,अब राम ही सभी को बताता की कोन कोन से स्टूडेंट fighting के test में पास हुए और कोन fail हुए

एक बार test लिया गया और गुरु जी कही चले गए ,और इस test में राम का करीबी दोस्त श्याम फैल हो गया,और शाम कहने लगा की मेरे दोस्त राम अगर ये बात तूने गुरूजी को बताई तोह वोह नाराज होंगे इसलिए तू गुरूजी से झूठ कह देना की शाम भी पास हो गया है,राम ने अपने दोस्त की बात मान ली और एसा ही किया,उसने अपने गुरु से कह दिया की शाम भी test में पास हो गया है,अब अगले सन्डे को फिर test हुआ और शाम फिर फेल हो गया,इस बार भी ऐसा ही हुआ.अब जब भी test होता तोह राम अपने दोस्त शाम के लिए झूठ बोल देता.

एक बार राम किसी काम की वजह से किसी शहर चला गया तोह उस गाव में डाकुओ ने हमला कर दिया और गाव में रहने वाले कुछ लोगो को मार डाला,अब जो जो व्यक्ति fighting जानता था,वोह डाकुओ से लड़कर बच गया,लेकिन शाम को fighting नहीं आती थी इसलिए शाम को डाकुओ ने मार डाला.

जब राम वापिस अपने गाव आया और उसे पता चला की मेरा सबसे करीबी दोस्त शाम मारा गया है तोह उसे बहुत दुःख हुआ,उसने सोचा की काश मेने शाम की मदद ना की होती तोह गुरूजी उसको fighting एक बार फिर से सिखाते और वोह आज डाकुओ से लड़ता और बच जाता.उसे दुःख हुआ की मेरे वजह से ही शाम की जान चली गयी.

दोस्तों बहुत सारे लोगो के साथ अक्सर ऐसा ही होता है,वोह अपने दोस्तों की हद से ज्यादा help करते है,वोह समझते है,इससे उसे अच्छा लगेगा,लेकिन दरह्सल असलियत कुछ और ही होती है,मदद करने के चक्कर में हम अपने दोस्त का नुक्सान कर देते है.

दोस्तों उम्मीद करते है की इन prernadayak hindi kahaniya से आपके जीवन में बहुत बदलाव होगा.

इन prernadayak hindi kahaniya को भी पढें-इन्सान और भैंस

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *