इन्सान और भैंस motivational story in hindi

दोस्तों आज में आपको एक ऐसी motivational story सुनाने जा रहा हु यकीन मानिए इसे पढकर आपकी life में बहुत बड़ा बदलाव आ सकता है,काफी समय पहले की बात है की एक बार एक गुरु और शिष्य किसी जंगल में(in the forest)जा रहे थे,उस जंगल में उन्हें प्यास(thirst) लगती है तोह वोह दोनों एक खेत में जा पहुचे जिसमे एक झोपडी थी,

गुरु शिष्य से कहता है की देखो कितनी उपजाऊ जमीन(fertile ground) है फिर भी इसमें कुछ भी नहीं लग रहा है,कास इसमें कुछ फलो के पेड़(fruit trees) और फसल उग रही होती तोह ये खेत कितना अच्छा लगता.वोह दोनों उस झोपडी के पास जाते है और कहते है की हमें प्यास लगी(thirsty) है क्या आप हमें पानी पिला सकते है तोह एक व्यक्ति उसे एक लोटे में पानी भरकर दे देता है,गुरु शिष्य दोनों देखते है की उस झोपडी में वोह आदमी और उसके बीबी बच्चे फटे पुराने कपडे पहने हुए है,दिखने में वोह बिलकुल गरीब लग रहे थे.

तभी गुरु उस आदमी से कहता है की रात हो गयी है क्या आज रात हम आपकी झोपडी में रुक सकते है,तोह वोह व्यक्ति रुकने की इजाजत दे देता है.गुरु उस आदमी से पूछता है की आपका खर्चा() केसे चलता है ,इस पर वोह व्यक्ति कहता है हमारे पास एक भेंस(buffalo) है ,वोह दूध(milk) देती है ,में उसके दूध को गाव(village) में बेचता हु तोह कुछ पेसे मिल जाते है जिससे हमारी जिन्दगी(life) गुजर रही है.

गुरु कहता है आपके पास इतनी उपजाऊ जमीन है फिर भी आप ना खेती करते और ना ही उसमे कुछ पेड़ जेसे आम का पेड़ नहीं लगाते.ये बात कुछ समझ नहीं आती.इतना कहकर वोह सभी सो गए .

आधी रात में गुरु,शिष्य से कहता है की चलो अब चलते है और इस आदमी की भेंस को मार(buffalo kill) डालते है तोह शिष्य बात सुनकर surprised होता है लेकिन वोह अपने गुरु की बात नहीं ताल सकता था,वोह दोनों जाते है और उस भेंस को एक खायी से धक्का देकर मार डालते है.और भेंस को मारकर वोह दोनों रात में ही निकल जाते है.

अब कुछ साल बाद वोह शिष्य व्यापार करता है तोह अच्छा पैसा कमा लेता है,तोह वोह सोचता है की मेने कुछ साल पहले अपने गुरु के साथ मिलकर एक आदमी की भेंस मारी थी,क्यों ना बेचारे उस आदमी की पैसे देकर कुछ मदद(help) की जाए.

वोह शिष्य उसी जंगल के बीच में स्थित उस खेत में जाता है और देखता है की उस खेत में चारो तरफ फल ही फल उग(fruit growing) रहे है,और फसल(crop) भी अच्छी उग रही,वोह खेत एक बगीचे(garden) की तरह लग रहा है.और खेत के बीचो बीच एक आलिशान बंगला(luxury bungalow) बना हुआ है.

वोह शिष्य उस आदमी के पास जाता है और कहता है क्या आपने मुझे पहचाना?

इस पर वोह व्यक्ति कहता है की में तुम्हे केसे भूल सकता हु ,तुम और तुम्हारे गुरु ने मिलकर मेरी भेंस जो मारी थी.शिष्य पूछता है की एक बात बताओ आप इतने अमीर(so rich) केसे बने तोह इस पर वोह व्यक्ति बोला की में उस समय अपनी भेंस का दूध बेचकर खर्चा(costs) चलाता था.लेकिन जब मेरी भेंस मरी तोह मेरे पास खेती करने के आलावा कुछा चारा ही नहीं बचा,इसलिए मेने मन लगाकर खेती की और में एक फल बेचने वाला व्यापारी(dealer) बन गया और धीरे धीरे में अमीर आदमी बन गया,अगर मेरी भेंस नहीं मरती तोह में कभी इतना अमीर आदमी नहीं बन पाता.

दोस्तों इस दुनिया में बहुत सारे लोगो के साथ ऐसा ही होता है,उनके पास आगे बढने की काव्लियत(capability) होते हुए भी वोह अपने छोटे मोटे कामो की वजह से जीवन में कामयाब बनने के लिए कुछ नहीं करते.

इसलिए दोस्तों आज से आप अपनी भेंस को मार दीजिये,यानी आप छोटे मोटे कामो में समय(time) बर्बाद मत कीजिये,अपनी जिंदगी में एक लक्ष्य(gaol) बनाइये और कुछ अच्छा कीजिये,आखिर में यही कहूँगा की अगर zindgi में अगर कुछ बड़ा करना हो तोह अपने दुसरे कामो को छोड़ दीजिये और मन लगाकर काम कीजिये,तभी आपको success मिल सकती है.

अगर आपको ये पोस्ट पसंद आये तोह इसे share जरुर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *